आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का ये है ‘मिशन कश्मीर’

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच अपने संरक्षक आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार के निर्देशन में मिशन कश्मीर चला रहा है. मिशन के तहत आतंकवादग्रस्त कुपवाड़ा जैसे इलाके में कार्यक्रम कर लोगों को जोड़ा जा रहा है.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 11:05 AM IST
आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का ये है ‘मिशन कश्मीर’
फाइल फोटो- कुपवाड़ा में हुए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के कार्यक्रम में भाग लेते कश्मीर के लोग.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 11:05 AM IST
कश्मीर में हालात सुधारने के लिए सिर्फ केंद्र सरकार ही नहीं, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच भी गंभीर है. यही वजह है कि मंच के संरक्षक आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार मिशन कश्मीर चला रहे हैं. मिशन के तहत आतंकवादग्रस्त कुपवाड़ा जैसे इलाके में कार्यक्रम कर लोगों को जोड़ा जा रहा है.

देश की आज़ादी और तरक्की में मुसलमानों का भी योगदान है आदि चर्चा कर उनसे देश के साथ चलने का आह्वान किया जाता है. सीमा पार बैठे पड़ोसी के मंसूबों से भी अवगत कराया जाता है.

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक इस्लाम अब्बास ने मिशन कश्मीर के बारे में न्यूज18 हिन्दी को बताया, “हमारी कोशिश जहन्नुम बन चुके कश्मीर को दोबारा जन्नत बनाने की है. हम चाहते हैं कि वहां रहने वाले लोग सीमा पार बैठे लोगों के बहकावे में न आएं. लोगों की समझ में ये बात आने भी लगी है. आज जम्मू-कश्मीर से सैकड़ों लोग मंच से जुड़े हुए हैं. कुपवाड़ा जैसे इलाके से 600 लोग हमारे कार्यक्रम में शामिल होते हैं.”

कुपवाड़ा में हुए एक कार्यक्रम को संबोधित करते मुस्लिम मंच और आरएसएस के पदाधिकारी. फाइल फोटो 


धारा 370 और 35A के बारे में भी होती है बात
वहीं धारा 370 और 35A के बारे में इस्लाम अब्बास का कहना है, “हम जम्मू ही नहीं कश्मीर के कई इलाकों में अल्ग-अलग कार्यक्रम करते हैं. धारा 370 और 35A के बारे में कश्मीरियों को बताते हैं कि अगर वह धारा 370 से अलग हटकर विकास की बात करते तो आज कश्मीर का नज़ारा ही कुछ और होता. हमारी भलाई देश के दूसरे राज्यों की तरह से साथ मिलकर चलने में ही है.”

आतंकियों के परिवार तक अपनी बात पहुंचाता है मंच
Loading...

इस्लाम का कहना है, “कुपवाड़ा, अनंतनाग ही नहीं मुस्लिम राष्ट्रीय मंच बुरहान वानी के गांव तक भी अपनी बात पहुंचाता है. उन्हें बताया जाता है कि सीमा पार बैठे कुछ लोग सिर्फ आपका इस्तेमाल कर रहे हैं. आपके पुरखे और आपकी जड़ें तो यहां इस देश में हैं. अपने ही घर में खून-खराबा करके कभी किसी को कुछ हासिल नहीं हुआ है. देश की मुख्यधारा के साथ चलने में ही हमारी भलाई है.”

कश्मीरियों संग मुस्लिम इतिहास के बारे में होती है चर्चा
कश्मीर में होने वाले कार्यक्रम के बारे में इस्लाम अब्बास बताते हैं, “हम वहां होने वाले हर कार्यक्रम में मुस्लिम इतिहास पर जरूर बात करते हैं. स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़े मुसलमानों के बारे में बताया जाता है. इंडिया-पाकिस्तान युद्ध में भी कौन-कौन मुसलमान सिपाही थे जिनके योगदान से कई बार पाक को शिकस्त दी, इस बात पर भी चर्चा होती है.”

ये भी पढ़ें- ‘शरीयत में नहीं तुरंत तीन तलाक का जिक्र, कथित उलेमाओं ने बनाया शिगूफा’

पीएम मोदी के इस कदम से कश्मीर की मुस्लिम महिलाएं भी हैं खुश

मोदी सरकार का मुस्लिम लड़कियों को एक और बड़ा तोहफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 19, 2019, 10:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...