Home /News /nation /

Mission Paani: 'स्‍वच्‍छता और पानी, बचानी है जिंदगानी' के शपथ के साथ देश ने लिया संकल्‍प

Mission Paani: 'स्‍वच्‍छता और पानी, बचानी है जिंदगानी' के शपथ के साथ देश ने लिया संकल्‍प

 मिशन पानी जल संकट से निपटने के लिए एक मुहिम है, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाने के लिए काम कर रही है.. (PTI)

मिशन पानी जल संकट से निपटने के लिए एक मुहिम है, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाने के लिए काम कर रही है.. (PTI)

Mission Paani: मिशन पानी (Mission Paani) जल संकट (Water Crisis) से निपटने के लिए एक मुहिम है, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाने के लिए काम कर रही है. इस मुहिम का उद्देश्य देशवासियों का पानी के प्रति व्यवहार में बदलाव लाना है, ताकि इसका इस्तेमाल समझदारी और सतर्कता से किया जा सके. इस कार्यक्रम में पहुंचे लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला (Om Birla) ने कहा, मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. उन्‍होंने कहा, देश की जितनी भी चुनी हुई लोकतांत्रिक संस्‍था है, उसके सभी जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र में मिशन पानी, मेरा गांव स्‍वच्‍छ और मेरा शहर स्‍वच्‍छ के संकल्‍प के साथ अभियान चलाना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. वर्ल्ड टॉयलेट डे (World Toilet Day) के मौके पर Network18 and Reckitt की ओर से आयोजित मिशन पानी (Mission Paani) कार्यक्रम में भारत की कई बड़ी हस्तियों ने देशवासियों के साथ मिलकर पानी बचाने और स्वच्छता का संकल्प लिया. मिशन पानी जल संकट (Water Crisis) से निपटने के लिए एक मुहिम है, जो आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाने के लिए काम कर रही है. इस मुहिम का उद्देश्य देशवासियों का पानी के प्रति व्यवहार में बदलाव लाना है, ताकि इसका इस्तेमाल समझदारी और सतर्कता से किया जा सके.

    इस कार्यक्रम में पहुंचे लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला ने कहा, मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. उन्‍होंने कहा, देश की जितनी भी चुनी हुई लोकतांत्रिक संस्‍था है, उसके सभी जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र में मिशन पानी, मेरा गांव स्‍वच्‍छ और मेरा शहर स्‍वच्‍छ के संकल्‍प के साथ अभियान चलाना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि हर जनप्रतिनिधि के बीच प्रतिस्‍पर्धा होनी चाहिए कि हमने अपने गांव को कैसे स्‍वच्‍छ रखा और स्‍वच्‍छ पानी पिलाया. इस जनभागीदारी के माध्‍यम से हम इन दोनों अभियानों को पूरा करने में कामयाब हो पाएंगे.

    Harpic-NEWS18 की पहल ‘मिशन पानी’ कार्यक्रम से जुड़ी बड़ी बातें :-

    लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. मिशन पानी कार्यक्रम में ओम बिड़ला ने कहा कि हर गांव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं की समिति बनाई है जो साथ में काम करे, जिससे गांव में स्‍वच्‍छ पानी पहुंचाने के अभियान को पूरा किया जा सके.
    ओम बिड़ला ने कहा कि इस मुद्दे को हमें व्‍यापक अभियान के रूप में चलाना होगा. उन्‍होंने कहा कि देश की जितनी भी चुनी हुई लोकतांत्रिक संस्‍था है, उसके सभी जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र में मिशन पानी, मेरा गांव स्‍वच्‍छ और मेरा शहर स्‍वच्‍छ के संकल्‍प के साथ अभियान चलाना चाहिए.
    बॉलीवुड के अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा, साफ पानी का जिंदगी में जो महत्‍व है उसके बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं है. पानी है तो जीवन है. हमारे जैसे देश में आज भी ऐसे कई इलाके हैं जहां साफ पानी और टॉयलेट जैसी जरूरतों को लेकर महिलाओं के लिए जिंदगी आसान नहीं है. स्‍वच्‍छ भारत मिशन के अभियान के तहत काम हो रहा है और आगे भी काम करने की जरूरत है. लोगों को जागरूक करने की जरूरत है.
    राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने कहा, डॉ राम मनोहर लोहिया ने चुनाव में टॉयलेट को मद्दा बनाया था लेकिन इसको स्‍वरूप साल 2014 में मिला. 11 करोड़ टॉयलेट बनाए गए हैं. हर जनमानस के अंदर ये बात बैठ गई है कि स्‍वच्‍छता का, पानी का और टॉयलेट का क्‍या संबंध है. महात्‍मा गांधी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन को आगे बढ़ाया है और उनका कहना है कि हर आदमी अपना कर्तव्‍य निभाए.
    केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, जहां तक भविष्‍य में स्‍वच्‍छता और पानी को लेकर सवाल है तो मैं बता दूं कि जब साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुले में शौच से मुक्‍त होगा भारत का संकल्‍प देश के सामने रखा था. उस वक्‍त दुनिया ने इसके लिए 2030 का समय निर्धारित किया था, लेकिन मुझे खुशी है कि हमने 60 करोड़ लोगों को खुले में शौच से रोकने में कामयाबी हासिल की और मिशन के पूरे होने से 11 साल पहले साल 2019 में ही इस कीर्तिमान को हासिल कर लिया.
    गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि आपको याद होगा कि साल 2019 में राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को खुले में शौच से मुक्‍त होने की घोषणा की थी. उस वक्‍त उन्‍होंने कहा था कि यह हमारे के लिए अंतिम लक्ष्‍य नहीं है, ये एक पायदान भर था.
    परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानदं सरस्वती ने कहा, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब पहली बार लाल किले की प्राचीर से बोले तो उन्‍होंने कहा था कि अब समय आ गया कि हमें देवालय से शौचालय की ओर यात्रा करनी होगी. टॉयलेट की ओर आगे काम करने की जरूरत इसलिए है क्‍योंकि जिस महिला शक्ति ने हमें रोशनी दी उसे ही अंधेरे का इंतजार करना पड़ता है.
    ट्रांसजेंडर अधिकार कार्यकर्ता लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा, भारत सरकार जब भी इस तरह की स्‍कीम बनाए तो उसमें जनभागीदारी जरूर है. पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप इसके लिए काफी बेहतर है. हमें तय करना है कि जिस तरह से हम अपने घर को साफ रखते हैं उसी तरह से पूरा भारत मेरा घर है. इसे हम साफ नहीं रखेंगे तो कौन रखेगा.

    Tags: Clean water, Mission Paani, News18 Mission Paani, Om Birla, Prime Minister Narendra Modi, Water Crisis, World Toilet Day

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर