liveLIVE NOW
  • Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Mission Paani: ओम बिड़ला बोले-मिशन पानी को व्‍यापक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत

Mission Paani: ओम बिड़ला बोले-मिशन पानी को व्‍यापक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत

Mission Paani Live Updates: वर्ल्ड टॉयलेट डे (World Toilet Day) के खास मौके पर हर बार की तरह इस बार Network18 and Reckitt के मिशन पानी (Mission Paani) कार्यक्रम के तहत लोगों को पानी की हर एक बूंद बचाने की शपथ दिला रहा है. इस खास मौके पर कार्यक्रम में शामिल हुए लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला (Om Birla) ने कहा कि मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. मिशन पानी कार्यक्रम में ओम बिड़ला ने कहा कि हर गांव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं की समिति बनाई है जो साथ में काम करे, जिससे गांव में स्‍वच्‍छ पानी पहुंचाने के अभियान को पूरा किया जा सके.

  • News18Hindi
  • | November 19, 2021, 13:13 IST
    facebookTwitterLinkedin
    LAST UPDATED 11 DAYS AGO

    AUTO-REFRESH

    10:53 (IST)

    बॉलीवुड के अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा, साफ पानी का जिंदगी में जो महत्‍व है उसके बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं है. पानी है तो जीवन है. हमारे जैसे देश में आज भी ऐसे कई इलाके हैं जहां साफ पानी और टॉयलेट जैसी जरूरतों को लेकर महिलाओं के लिए जिंदगी आसान नहीं है. स्‍वच्‍छ भारत मिशन के अभियान के तहत काम हो रहा है और आगे भी काम करने की जरूरत है. लोगों को जागरूक करने की जरूरत है.

    10:38 (IST)

    राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने कहा, डॉ राम मनोहर लोहिया ने चुनाव में टॉयलेट को मद्दा बनाया था लेकिन इसको स्‍वरूप साल 2014 में मिला. 11 करोड़ टॉयलेट बनाए गए हैं. हर जनमानस के अंदर ये बात बैठ गई है कि स्‍वच्‍छता का पानी का और टॉयलेट का क्‍या संबंध है. आजादी के समय में सभी अपना टॉयलेट साफ करते थे. महात्‍मा गांधी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन को आगे बढ़ाया है और उनका कहना है कि हर आदमी अपना कर्तव्‍य निभाए. 

    10:16 (IST)

    लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. मिशन पानी कार्यक्रम में ओम बिड़ला ने कहा कि हर गांव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं की समिति बनाई है जो साथ में काम करे, जिससे गांव में स्‍वच्‍छ पानी पहुंचाने के अभियान को पूरा किया जा सके. 

    9:59 (IST)
    राष्ट्रीय महिला आयोग ने अध्ययन में पाया गया कि एक ग्रामीण महिला सिर्फ पानी लाने के लिए साल में 14,000 किमी से अधिक पैदल चलती है. शहरी भारत की स्थिति भी ठीक नहीं है. शहरी क्षेत्रों में महिलाएं इतनी दूर तक नहीं चल पाती हैं लेकिन सड़क किनारे लगे नलों या पानी के टैंकरों से पानी लेने के लिए घंटों लंबी कतारों में खड़ी रहती हैं. 

    9:30 (IST)
    दिल्ली सरकार के अर्थशास्त्र और सांख्यिकी निदेशालय की ओर से किए गए ‘पेयजल, स्वच्छता और आवासीय अवस्था’ संबंधी 76वें वार्षिक सर्वेक्षण में पाया गया है कि राजधानी दिल्‍ली के 76 फीसदी मकानों में पानी का कनेक्शन है, 7.5 फीसदी मकानों में ट्यूबवेल का उपयोग होता है और सात फीसदी बोतलबंद पानी का उपयोग कर रहे हैं. वहीं 3.8 फीसदी सार्वजनिक नल और 3.3 फीसदी पानी के टैंकरों पर निर्भर हैं.

    8:18 (IST)
    आंकड़े बताते हैं कि भारत की 70 फीसदी जल आपूर्ति दूषित है. 75 फीसदी परिवार ऐसे हैं, जिनके पास घर में पीने का पानी नहीं है. इतना ही नहीं भारत में हर साल अनुमानित 2 लाख लोग केवल अपर्याप्त सुरक्षित जल की कमी के कारण जान गंवा देते हैं.

    8:17 (IST)
    सरकारों की ओर से चलाई जा रही विभिन्‍न योजनाओं और प्रयासों के बावजूद देश के एक बड़े हिस्‍से तक साफ पानी मुहैया नहीं कराया जा रहा है. विशेष रूप से शहरी मलिन बस्तियों में अभी भी साफ पानी की कमी है. देश की राजधानी दिल्‍ली में हाल ही में किए गए एक सर्वेक्षण में पाया गया है कि शहर की झुग्गियों में रहने वाले लगभग 44% लोग पीने के लिए बोतलबंद पानी पर निर्भर हैं.

    नई दिल्ली. हम काफी समय से यह सुन रहे हैं कि भारत (India) तेजी से डे जीरो (Day Zero) पर पहुंच रहा है. इसका मतलब है कि एक दिन ऐसा आएगा जब पानी (Water) पूरी तरह से खत्म हो जाएगा. अगर आपको ये सुनकर डर नहीं लग रहा है तो इस परिस्थिति की गंभीरता को समझने की कोशिश करें. देश के 15 से अधिक प्रमुख शहरों में पहले से ही पानी की कमी है और अगर हमने इस ओर अभी ध्यान नहीं दिया तो यह संकट और भी गहरा जाएगा. इस समय पानी की हर एक बूंद मायने रखती है और हर एक व्यक्ति की भूमिका इसे बचाने में महत्वपूर्ण है.

    वर्ल्ड टॉयलेट डे के खास मौके पर हर बार की तरह इस बार Network18 and Reckitt के मिशन पानी कार्यक्रम के तहत लोगों को पानी की हर एक बूंद बचाने की शपथ दिला रहा है. इस खास मौके पर कार्यक्रम में शामिल हुए लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि मिशन पानी को एक अभियान के रूप में चलाने की जरूरत है. मिशन पानी कार्यक्रम में ओम बिड़ला ने कहा कि हर गांव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं की समिति बनाई है जो साथ में काम करे, जिससे गांव में स्‍वच्‍छ पानी पहुंचाने के अभियान को पूरा किया जा सके.

    ओम बिड़ला ने कहा कि इस मुद्दे को हमें व्‍यापक अभियान के रूप में चलाना होगा. उन्‍होंने कहा कि देश की जितनी भी चुनी हुई लोकतांत्रिक संस्‍था है उसके सभी जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र में मिशन पानी, मेरा गांव स्‍वच्‍छ और मेरा शहर स्‍वच्‍छ के संकल्‍प के साथ अभियान चलाना है. उन्‍होंने कहा कि हर जनप्रतिनिधि के बीच प्रतिस्‍पर्धा होनी चाहिए कि हमने अपने गांव को कैसे स्‍वच्‍छ रखा और स्‍वच्‍छ पानी पिलाया. इस जनभागीदारी के माध्‍यम से इन दोनों अभियानों को पूरा करने में कामयाब हो पाएंगे.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन