• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोरोना वैक्सीन की डोज मिक्सिंग, जॉनसन एंड जॉनसन के सिंगल डोज के तीसरे चरण के ट्रायल और बच्चों के टीके पर आज एक्सपर्ट कमेटी की अहम बैठक

कोरोना वैक्सीन की डोज मिक्सिंग, जॉनसन एंड जॉनसन के सिंगल डोज के तीसरे चरण के ट्रायल और बच्चों के टीके पर आज एक्सपर्ट कमेटी की अहम बैठक

कोरोना वायरस वैक्सीन के मिश्रण की दुनिया भर में चर्चा हो रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

कोरोना वायरस वैक्सीन के मिश्रण की दुनिया भर में चर्चा हो रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

सीडीएससीओ समिति की बैठक में कोवैक्सीन (Covaxin vaccine) और कोविशील्ड (Covishield vaccine) के मिश्रण के प्रोटोकॉल पर चर्चा करने की उम्मीद है. सीएमसी वेल्लोर ने दो टीकों के मिश्रण अध्ययन के लिए इस समिति के पास आवेदन किया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. देश में कोरोना के मामलों में एक बार फिर से तेजी देखी जा रही है. पिछले 24 घंटों में 43 हजार से अधिक नए कोविड के केस (Corona Case in India) सामने आए. बढ़ते कोविड केसेस के बीच केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) आज एक विशेष बैठक करने वाला है. इस बैठक में कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield vaccine) और कोवैक्सीन के मिश्रण पर चर्चा होगी.

    इसके साथ ही इस बैठक में जाॉनसन एंड जॉनसन की तरफ से आवेदन भी किया गया है जिसमें कंपनी की सिंगल डोज जैनसेन कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल की शुरुआत पर चर्चा होगी.

    जानकारी के अनुसार सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी बच्चों पर परीक्षण शुरू करने के मुद्दे पर भी चर्चा करेगी. बच्चों पर परीक्षण के लिए हैदराबाद स्थित बायोलॉजिकल-ई आवेदन पर समिति चर्चा करने को तैयार है. यह चर्चा परीक्षण के चरण 2 और 3 के लिए है.

    वैक्सीन मिश्रण प्रोटोकॉल पर चर्चा
    सीडीएससीओ समिति की बैठक में कोवैक्सीन और कोविशील्ड के मिश्रण के प्रोटोकॉल पर चर्चा करने की उम्मीद है. सीएमसी वेल्लोर ने दो टीकों के मिश्रण अध्ययन के लिए इस समिति के पास आवेदन किया है.

    गौरतलब है कि कोरोना वायरस वैक्सीन के मिश्रण की दुनिया भर में चर्चा हो रही है. कहा जा रहा है कि अलग-अलग वैक्सीन की डोज लेने से ज्यादा एंटीबॉडी विकसित होती है. खबरों के मुताबिक जर्मन चांसलर एंजेला मॉर्केल द्वारा दो अलग-अलग वैक्सीन लगाए जाने के बाद से विश्व स्तर पर कोविड वैक्सीन के मिश्रण को लेकर बाते होने लगी. जानकारी के अनुसार मार्केल ने वैक्सीन की पहली डोज एस्ट्राजेनेका की ली थी जबकि उन्होंने दूसरी डोज में मॉर्डना वैक्सीन लगवाई.

    वैक्सीन के मिश्रण पर चल रही रिसर्च
    क्या सच में दो अलग-अलग वैक्सीन लगवाने से प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा बढ़ती है इसको जानने के लिए दुनिया भर में अभी रिसर्च चल रही है. अभी यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पाया है कि अलग-अलग वैक्सीन लगवाने का हमारे शरीर पर क्या प्रभाव पड़ेगा.

    जानकारी के मुताबिर पिछले महीने एक शोध में यह बताया गया था कि मिक्स-एंड मैच के एक अध्ययन में जहां दो एस्ट्राजेनेका की दो डोज के बदले में अलग-अलग दो वैक्सीन शरीर में ज्यादा एंडीबॉडी विकसित करती हैं. हिंदुस्तान की खबर के अनुसार इस समय यूके, इटली, कनाडा, और यूएई समेत कई ऐसे देश हैं जहां इस समय मिक्स एंड मैच इनोक्यूलेशन को इजाजत दे दी गई है.

    बता दें कि इससे पहले राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के तहत कोविड-19 कार्यकारी समूह के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने अपने बयान में कहा था कि भारत जल्द ही कोविड के दो अलग-अलग टीकों को लेकर परीक्षण शुरू कर सकता है. उन्होंने कहा था कि हम अभी यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि दो अलग-अलग वैक्सीन मनुष्य के शरीर में किस तरह का व्यवहार करेंगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज