• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • मिजोरम की कांग्रेस सरकार को झटका, गृह मंत्री ने दिया इस्तीफा

मिजोरम की कांग्रेस सरकार को झटका, गृह मंत्री ने दिया इस्तीफा

मिजोरम (file photo)

मिजोरम (file photo)

मिजोरम की कांग्रेस सरकार को करारा झटका लगा है. राज्य के गृह मंत्री लालजिरलियाना ने प्रदेश की लाल थनहवला सरकार से शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया.

  • Share this:
    मिजोरम की कांग्रेस सरकार को करारा झटका लगा है. राज्य के गृह मंत्री लालजिरलियाना ने प्रदेश की लाल थनहवला सरकार से शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया. मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी आधिकारिक जानकारी दी है. हालांकि लालजिरलियाना ने बताया हैं कि, उन्होंने अभी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है. मणिपुर में दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं और इस त्यागपत्र ने प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस में आंतरिक लड़ाई को उजागर कर दिया है.

    गृह मंत्री ने अपने इस्तीफे की वजह को स्पष्ट किया है. उन्होंने कहा कि वह अपने विधानसभा क्षेत्र तावी के लोगों की अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर सके क्योंकि लाल थनहवला सरकार ने अलग सैतुअल जिला बनाने का वादा करने के बावजूद ऐसा नहीं किया है. इससे पहले प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष रहे लालजिरलियाना को पार्टी की अनुशासन समिति ने कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए मंगलवार को उनसे स्पष्टीकरण मांगा था.

    वहीं सत्तारूढ़ कांग्रेस के सूत्रों ने जानकारी दी है कि उनका इस्तीफा संभवत: स्वीकार कर लिया जाएगा. सूत्रों ने बताया कि लालजिरलियाना ने अपने समर्थकों के साथ मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव लालरामथांगा को अपना त्यागपत्र सौंपा क्योंकि मुख्यमंत्री बाहर थे. गृह मंत्री को अपना पक्ष रखने के लिए शुक्रवार को तीन बजे तक का समय दिया गया था लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इंकार कर दिया और अपने इस्तीफे की घोषणा की.

    गौरतलब है कि, कांग्रेस भवन में आज दिन में हुई पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक के दौरान उन्होंने संकेत दिया था कि, उन्हें मंत्री पद और मिजोरम प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष पद से हटाने की साजिश की जा रही है. उन्होंने कहा, ‘‘मेरी मंशा कारण बताओ नोटिस पर स्पष्टीकरण और जवाब देने की नहीं थी क्योंकि ऐसा करने की आवश्यकता नहीं थी. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2008 में विधानसभा चुनावों के दौरान उनके विधानसभा क्षेत्र के लोगों से वादा किया था कि अगर वह (लालजिरलियाना) निर्वाचित किये जायेंगे तो अलग सैतुअल जिला बनेगा.

    उल्लेखनीय है कि, लालजिरलियाना ने 1998 में तत्कालीन सैतुअल विधानसभा क्षेत्र (अब तावी सीट) से तब जीत हासिल की थी जब एमएनएफ मिजोरम पीपुल्स कांफ्रेंस गठबंधन ने कांग्रेस को बुरी तरह हराया था. 40 सदस्यीय सदन में कांग्रेस को छह सीटें मिली थी जिसमें वह भी शामिल थे. एजल जिले में कांग्रेस के एकमात्र विधायक थे. उन्होंने इस सीट से लगातार चार बार जीत हासिल की थी और 2008 में कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद वह मंत्री बने. 2013 में एक बार फिर उन्हें मंत्री बनाया गया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज