एमएनएस को जल्द मिलेगा पूर्व सैनिकों का दर्जा व सुविधाएं!

बताया जा रहा है कि रक्षा मंत्रालय ने गहन चर्चा के बात तय किया है एमएनएस को दिए जाएं सभी हक

Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 11:50 PM IST
एमएनएस को जल्द मिलेगा पूर्व सैनिकों का दर्जा व सुविधाएं!
फाइल फोटो
Sandeep Bol
Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 11:50 PM IST
मिलिट्री नर्सिंग सेवा में कार्यरत कर्मचारियों के लिए आने वाले समय में खुशखबरी आ सकती है. बताया जा रहा है कि जल्द ही उन्हें रिटायरमेंट के बाद पूर्व सैनिकों का दर्ज और सुविधाएं मिल सकती हैं. अब तक एमएनएस में कार्यरत कर्मचारियों को न तो कोई एक्स सर्विसमेन कार्ड दिया जाता है न ही रिटायरमेंट के बाद फिर से नौकरी की सुविधा जो पूर्व सैनिकों को है वह मिलती है. वहीं ब्रिगेड रैंक के ऊपर रैंक के अधिकारी को गाड़ी पर स्टार तक लगाने की अनुमति नहीं है. इस मसले पर एमएनएस ने अदालत में अपील की थी. इस दौरान 28 मुद्दों पर मामला उठा जिनमें एमएनएस को तीनों सेना के अध‌िकारियों की तरह अधिकारों की मांग की गई थी. गौरतलब है कि एमएनएस की स्‍थापना 1943 में एक ऑर्डिनेंस के जरिए हुई थी. फिलहाल 5317 नर्सें एमएनएस में कार्यरत हैं.

2010 में आर्म फोर्स ट्रिब्यूनल ने दिया पक्ष में फैसला
सबसे पहले एमएनएस ने आर्म फोर्स ट्रिब्यूनल में मामला उठाया. 2010 में एएफटी ने एमएनएस के पक्ष में अपना फैसला सुनाया. ट्रिब्यूनल ने कहा कि आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के कमिशंड अधिकारियों की तर्ज पर भी एमएनएस ऑफिसर्स को रैंक और एंटाइटलमेंट पर बराबरी का दर्जा दिया जाए.

ये भी पढ़ें- Narendra Modi Speech Live Updates: PM मोदी की प्रेस कांफ्रेंस की खास बातें

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा रक्षा मंत्रालय
ट्रिब्यूनल के इस फैसले के खिलाफ रक्षा मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की. कोर्ट ने मामले में मंत्रालय को सील बंद लिफाफे में अपना जवाब पेश करने का आदेश दिया गया. बताया जा रहा है कि इसको लेकर रक्षा मंत्रालय में गहन चर्चा हुई और अब तय किया गया है कि एमएनएस को उनके सभी हक दिए जाएं. इसके लिए अब पूर्व सैनिकों की परिभाषा को बदला भी जाएगा क्योंकि एमएनएस अभी तक मिलिट्री एक्ट के अंतर्गत नहीं आते हैं, इसे एक ऑर्डिनेंस के जरिए सेना के सहायक के तौर पर जोड़ा जाएगा.

ये भी पढ़ें- Narendra Modi Speech Live Updates: देश की जनता पहले से ज्यादा बढ़-चढ़कर आशीर्वाद दे रही है
Loading...

ये भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझसे डिबेट क्‍यों नहीं की: प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले राहुल गांधी
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार