vidhan sabha election 2017

राज ठाकरे को झटका, मनसे के छह पार्षद शिवसेना में शामिल

News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 10:23 PM IST
राज ठाकरे को झटका, मनसे के छह पार्षद शिवसेना में शामिल
उद्धव ठाकरे
News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 10:23 PM IST
बृहन मुंबई नगरपालिका परिषद (बीएमसी) में शिवसेना ने अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए बड़ी चाल चली है. उसने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के 6 नगरसेवकों को अपनी पार्टी में मिला लिया है. इसे मनसे के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

इससे भाजपा के माथे पर भी बल पड़ गए हैं. अब मनसे के पास केवल एक पार्षद रह गया है. भाजपा को एक दिन पहले ही भांडुप उपचुनाव में जीत मिली थी. इस जीत से बीएमसी में उसके पार्षदों की संख्या 82 से 83 हो गयी थी, जबकि शिवसेना के पास 84 पार्षद हैं और उसका ही महापौर भी है.

इसे देखते हुए भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाते हुए बीएमसी में जल्द ही भाजपा के महापौर होने की बात कही. भाजपा सांसद किरीट सोमैया ने तो खुलेआम यह बयान भी दे दिया था कि स्थिति जल्द ही बदलेगी. बीएमसी में हमारा ही महापौर बैठेगा. लेकिन अब इस नए घटनाक्रम से शिवसेना ने भाजपा को करारा जवाब दिया है.

भांडुप उपचुनाव हारना शिवसेना के लिए झटका तो था ही लेकिन शिवसेना ने एक बड़ी चाल चलते हुए बाजी अपने नाम कर ली. इस बारे में मनसे के प्रवक्ता संदीप देशपांडे का कहना है कि शिवसेना ने हमारे 7 में से 2 पार्षदों के साथ सम्पर्क किया है.

इस संदर्भ में हमारी तरफ से कोंकण विभाग के कमिश्नर को पत्र लिख कर यह मांग की गयी है कि हमारे टूटे हुए पार्षदों के गुट को मान्यता देने से पहले हमारा भी पक्ष सुना जाए.

उद्धव ने बताया घर वापसी

मातोश्री में पत्रकारों से बात करते हुए शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह जोड़तोड़ की राजनीति नहीं है. यह पुराने शिवसैनिक ही हैं जिन्होंने घर वापसी की है. उद्धव ने भाजपा के नेताओं पर तंज कसते हुए कहा कि कुछ लोग इसे पैसे का खेल बता रहे थे लेकिन मुझे लगता है कि इस पर गधों को नहीं बोलना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि पैसे का खेल कौन करता है यह सभी को मालूम है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर