Assembly Banner 2021

भीड़ ने फिर दी मौत की सजा, 'सुपारी किलर' के शक में पीट-पीटकर हत्या

अलवर के कठूमर के अरुआ गांव मे एक शख्स दिनेश को महज इसलिए भीड़ ने पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया कि उस पर सुपारी किलर होने का शक था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2017, 9:23 PM IST
  • Share this:
भीड़ के हिंसक होने का सिलसिला थम नहीं रहा. अब ये केवल गौ तस्करी या धार्मिक मुद्दों तक सीमित नहीं रहा. अलवर के कठूमर के अरुआ गांव में एक शख्स दिनेश को महज इसलिए भीड़ ने पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया कि उस पर सुपारी किलर होने का शक था.

हैरानी कि बात ये है कि बुरी तरह पिटाई के बाद दिनेश का कबूलनामा एक वीडियो के तौर पर रिकॉर्ड किया गया. दम तोड़ने से पहले कबूलनामे का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया गया.

वीडियो में बुरी तरह से जख्मी और खौफज़दा दिनेश यह कहते हुए दिख रहा है कि उसे जेल में बंद सुनील नाम के एक शख्स ने अलवर के कठूमर के पूर्व मंडी चेय़रमैन सतीश जाट और उसके भतीजे धीरज की हत्या की पचास हजार की सुपारी दी थी. वो भी तब जब वो जेल में सुनील के साथ बंद था. इसके बाद वह सुनील के ही भाई के घर रुका उसी ने दिनेश को हथियार उपलब्ध करवाए थे.



 
ये वीडियो तब का है जब घायल दिनेश की जान खतरे में थी. तब उससे सवाल पूछ कर जवाब रिकॉर्ड किया गया था. हालांकि सवाल ये नहीं है कि मौत से पहले का ये कबूलनामा सच है या दबाव में लिया गया है. सवाल तो ये है कि क्या इंसाफ अब भीड़ ही करेगी, पुलिस और अदालतें नहीं? क्या आरोपी के सुपारी किलर होने से उसकी हत्या का लाइसेंस ग्रामीणों को मिल जाता है. हकीकत बेहद डरावनी है.

आपको बता दें ये वही अलवर है जहां बहरोड़ में छह महीने पहले गौरक्षकों ने पहलू खान को गौ-तस्करी के आरोप में पीट-पीट कर मारा डाला था.

ये भी पढ़ें-
नौकरानी को पीटा-बंधक बनाया, अपार्टमेंट पर टूट पड़ी भीड़
कश्‍मीर: भीड़ ने डिप्‍टी एसपी को एक किलोमीटर तक घसीटते हुए पीटा, कर दी हत्‍या


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज