लाइव टीवी

गिलानी की सेहत के बारे में अफवाह फैलने के बाद कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

भाषा
Updated: February 13, 2020, 11:57 AM IST
गिलानी की सेहत के बारे में अफवाह फैलने के बाद कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद
घाटी में किसी तरह की अफवाह फैलने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई. फोटो साभार/ पीटीआई

कानून व्यवस्था बनाए रखने के साथ किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए कश्मीर के संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 13, 2020, 11:57 AM IST
  • Share this:
श्रीनगर. अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी (Syed Ali Shah Geelani) की सेहत के संबंध में अफवाहों को रोकने के लिए कश्मीर (Kashmir) में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. हाल ही में घाटी में इंटरनेट सेवा को बहाल किया गया था.

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि सोशल मीडिया में इस प्रकार की खबरें आईं कि 90 वर्षीय गिलानी का स्वास्थ्य बिगड़ गया है, जिसके बाद स्थिति को बेहतर बनाए रखने और किसी तरह की अफवाह फैलने से रोकने के लिए बुधवार रात को मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई.

वहीं कानून व्यवस्था बनाए रखने के साथ किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए कश्मीर के संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया है. हालांकि गिलानी के परिवार ने कहा है कि गिलानी कुछ समय से बीमार हैं, लेकिन उनकी हालत स्थिर है.

गौरतलब है कि अलगाववादी नेता गिलानी आए दिन अपने बयानों के लिए सुर्खियों में रहे हैं. वह यहां तक कह चुके हैं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय मुद्दा है और इसे हल किया जाना चाहिए. गिलानी ने कहा कि जब तक हमसे किए गए वादे पूरे नहीं किए जाते, यह मुद्दा अनसुलझा ही रहेगा. एक समय उन्‍होंने यह आरोप भी लगाया था कि भारत मुद्दे को हल नहीं करना चाहता, यह दबाव बनाने के लिए बल का प्रयोग करता है.

वहीं बीते साल उनका एक विवादास्‍पद वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है इसमें उन्‍हें 'हम पाकिस्‍तानी हैं और पाकिस्‍तान हमारा है' नारे लगाते हुए दिखाया गया था. हालांकि इसकी वास्‍तविकता संदेह में रही. दरअसल, यह वीडियो गिलानी के नाम से मौजूद एक गैर-वेरिफायड ट्विटर अकाउंट से शेयर किया गया था.

ये भी पढ़ें: - 

सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पास करने वाला पुड्डुचेरी पहला केंद्र शासित राज्य बनाजब 22 साल की एक लड़की ने खुफिया रेडियो सेवा शुरू कर अंग्रेजों को दिया था चकमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 11:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर