Home /News /nation /

modi 8 pm narendra modi increased public participation in 8 years

Modi@8: पीएम नरेंद्र मोदी ने 8 वर्षों में बढ़ाई जनता की भागीदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.  (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह चुके हैं कि देश में बदलाव के लिए किसी भी योजना को जन आंदोलन के स्तर पर ले जाना जरूरी है और इसके लिए उन्होंने अपने विभिन्न योजनाओं में जनभागीदारी वह भी लोगों को विश्वास में रख कर के, शुरू किया.

नई दिल्‍ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)  ने 2014 में पद संभालने के बाद से अपने काम के मंत्र ‘ सबका साथ सबका विकास ‘ रखा और इसी को केंद्र में रखकर सरकार की योजनाओं को बनाया और बढ़ाया.  इसमें विस्तार देते हुए इसे ‘सबका साथ सबका विकास सबका प्रयास और सबका विश्वास’ के मंत्र में विस्तारित कर दिया. कई अवसरों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह चुके हैं कि देश में बदलाव के लिए किसी भी योजना को जन आंदोलन के स्तर पर ले जाना जरूरी है और इसके लिए उन्होंने अपने विभिन्न योजनाओं में जनभागीदारी वह भी लोगों को विश्वास में रख कर के, शुरू किया.

पीएम नरेंद्र मोदी के जनभागीदारी का सबसे अनोखा उदाहरण स्वच्छता मिशन और इसमें समस्त देशवासियों की सहभागिता, को देखा जा सकता है. 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना की शुरुआत की और इसके तहत अधिक से अधिक लोगों को इसमें जुड़ने की अपील की. पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने आवास के साथ साथ कार्यालय और आस-पड़ोस के स्थलों को स्वच्छ रखने के साथ ही साथ उन्होंने खुले में शौच ना करने की अपील लोगों से की. पीएम नरेंद्र मोदी के अपील का असर यह हुआ कि स्वच्छता अभियान जन आंदोलन में बदल गया और इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए. इस योजना के तहत 12 करोड़ से अधिक घरों में शौचालय भी बनवाए गए और देश को ओडीएफ फ्री करने की कवायद शुरू की गई.

इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने 2019 में लाल किले के प्राचीर से सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग नहीं करने की अपील कि और धीरे-धीरे यह भी जन आंदोलन में बदल गया है. सिंगल यूज प्लास्टिक के बदले लोग मिट्टी के बने बर्तन जुट के बने थैली आदि का प्रयोग करने लगे जिससे स्वदेशी सामानों का उत्पादन भी बढ़ने लगा. इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने गैस की सब्सिडी छोड़ने की अपील समृद्धि व्यक्तियों से की ताकि जरूरतमंद लोगों तक गैस कनेक्शन और स्वच्छ इंधन पहुंचाया जा सके. पीएम नरेंद्र मोदी कि यह अपील भी जन आंदोलन में बदल गई और देश के लाखों लोगों ने स्वतः ही सब्सिडी छोड़ दे और किसका फायदा उज्जवला योजना के तहत कई जरूरतमंद लोगों तक पहुंचा.

कोरोना काल में भी पीएम नरेंद्र मोदी ने लगातार जनता के साथ संवाद स्थापित कर के इस महामारी के खिलाफ लोगों को एकजुट होकर के एक दूसरे की मदद की अपील. कोरोना काल में लॉकडाउन के नियमों का गंभीरता से पालन , कोरोनावारियर का सम्मान, जरूरतमंद लोगों तक आवश्यक सहायता पहुंचाना, भोजन की व्यवस्था आदि करने की अपील की जिसे लोगों ने काफी सकारात्मक तौर पर स्वीकार किया. पीएम नरेंद्र मोदी के अपील पर ही देश के करोड़ों लोगों ने अपनी पाली आने पर दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को सफल बनाया. इसके साथ ही साथ जरूरतमंद लोगों के लिए लोगों ने पीएम केयर्स फंड में वर्ल्ड चढ़कर के दान किया जिसका फायदा देश के स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए किया गया.

इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने योग को अपना करके लोगों के स्वास्थ्य और जीवन में आमूल-चूल परिवर्तन करने की अपील की. 21 जून को पीएम नरेंद्र मोदी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित करवाया . इसके बाद यह भी जन आंदोलन में बदल गया और देश और दुनिया में काफी प्रसिद्ध हो गया.
युवा भाजपा नेता जयराम विप्लव का कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी के प्रति लोगों का विश्वास और भरोसा उनकी अपील को जन आंदोलन में बदल देता है. जयराम विप्लव का मानना है कि जनता का यह विश्वास पीएम मोदी ने लगातार निस्वार्थ सेवा और समर्पण से हासिल किया है. उनका कहना है कि पीएम मोदी राजनीति में भी लगातार एक के बाद एक सफलता हासिल करते जा रहे है इसका मूल कारण उनके द्वारा निरन्तर किये गए सामाजिक कार्य है. सरकार में रहते हुए समाज को कैसे जोड़कर बदलाव का वाहक बनाया जा सकता है यह पीएम मोदी बख़ूबी जानते है.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

Tags: Prime Minister Narendra Modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर