होम /न्यूज /राष्ट्र /शिक्षा मंत्रालय की 'पीएम श्री' योजना को मोदी कैबिनेट की मंजूरी, 14500 स्कूलों की बदलेगी सूरत

शिक्षा मंत्रालय की 'पीएम श्री' योजना को मोदी कैबिनेट की मंजूरी, 14500 स्कूलों की बदलेगी सूरत

प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-श्री) के तहत देश भर में 14,500 स्कूलों को विकसित व उन्नत किया जाएगा.

प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-श्री) के तहत देश भर में 14,500 स्कूलों को विकसित व उन्नत किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-श्री) योजना ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पीएम-श्री स्कूलों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सभी घटकों की दिखेगी झलक.
देश के हर ब्लॉक में कम से कम एक पीएम श्री स्कूल की स्थापना होगी.
स्मार्ट क्लास, खेल और आधुनिक अवसंरचना पर अधिक जोर.

नई दिल्ली. मोदी कैबिनेट (PM Modi Cabinet) ने शिक्षा मंत्रालय की “पीएम श्री” योजना को मंजूरी दे दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शिक्षक दिवस (Teachers Day) पर इस बारे में घोषणा की थी. “पीएम श्री” योजना (PM SHRI YOJNA) के तहत देश भर के 14,500 स्कूलों का कायाकल्प किया जाएगा. कुछ नए स्कूल बनाए जाएंगे. इन स्कूलों को मॉडल स्कूल (Model School) के रूप में विकसित किया जाएगा. ये प्रोजेक्ट नई शिक्षा नीति के तहत चलाया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-श्री) योजना की घोषणा की थी इसके तहत देश भर में 14,500 स्कूलों को विकसित व उन्नत किया जाएगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि पीएम-श्री स्कूलों में शिक्षा प्रदान करने का एक आधुनिक, परिवर्तनकारी और समग्र तरीका होगा और इसमें नवीनतम तकनीक, स्मार्ट कक्षा, खेल और आधुनिक अवसंरचना पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा.

PM SHRI YOJNA: क्या है पीएम-श्री योजना, जिसमें 14,500 स्कूल होंगे बेहतर, पढ़ें डिटेल

प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा था,‘‘आज, शिक्षक दिवस पर मैं एक नई पहल की घोषणा कर रहा हूं. प्रधानमंत्री स्कूल्स फॉर राइजिंग इंडिया (पीएम-श्री) के तहत देश भर में 14,500 स्कूलों को विकसित व उन्नत किया जाएगा. ये सभी मॉडल स्कूल बनेंगे और इनमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति की पूरी भावना समाहित होगी.”

क्या है पीएम श्री योजना?
इस योजना के माध्यम से पूरे भारत में 14500 पुराने स्कूलों को अपग्रेड किया जाएगा. अपग्रेड किए गए स्कूलों में शिक्षा प्रदान करने का एक आधुनिक, परिवर्तनकारी और समग्र तरीका लाया जाएगा. इसमें नवीनतम तकनीक, स्मार्ट क्लास, खेल और आधुनिक अवसंरचना पर विशेष ध्यान जोर दिया जाएगा. योजना के जरिए पुराने स्कूलों के ढांचे को सुंदर, मजबूत और आकर्षक बनाया जाएगा. कुछ जानकारी के मुताबिक देश के हर ब्लॉक में कम से कम एक पीएम श्री स्कूल की स्थापना की जाएगी. इस योजना के साथ देश के प्रत्येक जिलों के एक माध्यमिक एवं वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों को भी जोड़ा जाएगा.

Explained: क्या है पीएम-श्री योजना? कैसे इस स्कीम के तहत 14,500 स्कूलों को किया जाएगा अपग्रेड

पीएम श्री स्कूलों में क्या-क्या खास होगा?
-PM SHRI Yojana के तहत अपडेट किए गए पीएम श्री स्कूलों में नवीनतम तकनीक, स्मार्ट शिक्षा और आधुनिक ढांचा होगा.
-पीएमश्री स्कूलों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) के सभी घटकों की झलक होगी.
-यह स्कूल अपने आसपास के अन्य स्कूलों का भी मार्गदर्शन करेंगे.
-इन स्कूलों में प्री प्राइमरी से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई होगी.
-इसके अलावा इनमें अत्याधुनिक लैब स्थापित की जाएंगी. जिससे छात्र किताबों के अलावा प्रैक्टिस से भी सीख सके.
-प्री प्राइमरी और प्राइमरी के बच्चों के लिए खेल पर फोकस किया जाएगा. जिससे उनका शारीरिक विकास हो सके.
-यह योजना पीएम श्री स्कूलों को आधुनिक जरूरतों के हिसाब से अपग्रेड करेगी. जिससे बच्चों की आधुनिक जरूरतें पूरी होंगी. वह एक अच्छे माहौल में शिक्षा पा सकेंगे.

पीएम गतिशक्ति प्लान को भी मंजूरी
इसके साथ ही मोदी कैबिनेट ने पीएम गतिशक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान के क्रियान्वयन को मंजूरी दे दी है. ये जानकारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने दी. 5 साल में 300 कार्गो टर्मिनल विकसित किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि पीएम गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान की निगरानी थ्री-टीयर सिस्टम से की जाएगी. इसकी अध्यक्षता कैबिनेट सचिव करेंगे.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 अक्टूबर को ‘प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान’ (Gati Shakti Master Plan) की शुरुआत की थी. यह योजना रेल और सड़क सहित 16 मंत्रालयों को जोड़ने वाला एक डिजिटल प्लेटफॉर्म है, जिसके द्वारा करीब 100 लाख करोड़ रुपये की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के विकास को फुल स्पीड मिलेगी. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इसका ऐलान किया था.

Tags: Delhi School, Education, Modi cabinet, Narendra modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें