होम /न्यूज /राष्ट्र /

क्या कोरोना इफेक्ट के कारण गई हर्षवर्धन, निशंक और संतोष गंगवार की कुर्सी?

क्या कोरोना इफेक्ट के कारण गई हर्षवर्धन, निशंक और संतोष गंगवार की कुर्सी?

निशंक, गंगवार और हर्षवर्धन ने दिया इस्तीफा (फाइल फोटो)

निशंक, गंगवार और हर्षवर्धन ने दिया इस्तीफा (फाइल फोटो)

Narendra Modi Cabinet Expansion : पीएम नरेंद्र मोदी कैबिनेट का आज विस्तार हो रहा है. विस्तार से पहले तीन कद्दावर मंत्रियों हर्षवर्धन, रमेश पोखरियाल निशंक और संतोष गंगवार को इस्तीफा देना पड़ा है. माना जा रहा है कि कोरोना काल में इन मंत्रालयों की विपक्ष ने काफी आलोचना की थी.

अधिक पढ़ें ...
नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल से अब तक 12 मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. लेकिन जो चौंकाने वाले नाम हैं उसमें मौजूदा केंद्रीय स्वास्थ मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और श्रम मंत्री संतोष गंगवार हैं.

कोरोना महामारी के दौरान सबकी नजरें स्वास्थ मंत्रालय पर टिकी थी और स्वास्थ्य मंत्री के कई बयानों की विपक्ष ने कड़ी आलोचना की थी. विपक्ष कोरोना महामारी में केंद्र सरकार के कामकाज पर सवाल उठाता रहा है. हालांकि केंद्र सरकार ने हमेशा इस बात को दोहराया कि कोरोना महामारी से निपटने में सरकार हर लिहाज से सफल रही है. लेकिन जिस तरीके से मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले डॉक्टर हर्षवर्धन को हटाया गया, कहीं ना कही कई बातों की ओर इशारा करती हैं कि कोरोना काल में उनकी मंत्रालय की आलोचना ने उनकी कुर्सी छीन ली है.



ये भी पढ़ें :- अनुप्रिया पटेल को मोदी कैबिनेट में शामिल करने पर भड़के संजय निषाद, बेटे के लिए मांगा मंत्रीपद
वहीं, इस मंत्रिमंडल से श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने भी इस्तीफा दे दिया है. श्रम मंत्रालय भी वो मंत्रालय है, जो कोरोना महामारी के दौरान चर्चा में रहा है. विपक्ष के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट से भी मजदूरों के पलायन जैसी समस्या पर भी संतोष गंगवार का मंत्रालय कटघरे के खड़ा हो चुका है. शायद इन्हीं वजहों से गंगवार से भी इस्तीफा मांग लिया गया.




ये भी पढ़ें :- असम में लोकप्रिय सर्बानंद पर BJP जब दांव लगाती है...सफल होती है, अब दोबारा बनेंगे केंद्र में मंत्री


शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के इस्तीफे को भी कोरोना से जोड़कर देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि कोरोना में सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर जो असमंजस की स्थिति आई है, उससे पीएम मोदी खुश नहीं थे. यहां तक कि बाद में तो पीएम मोदी ने खुद ही आगे आकर कमान संभाली.


आपको बता दें कि पिछले एक महीने से पीएम मोदी अपने सभी मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा में जुटे थे और उनके कामकाज का ब्योरा भी लिया गया था. मंत्रियों का इस्तीफा इस बात का संकेत है कि कहीं ना कहीं इन मंत्रालय के कामकाज को लेकर पीएम पूरी तरह संतुष्ट नही थे. जिसका परिणाम ये हुआ कि इन दोनों मंत्रालय में नए मंत्री की एंट्री होगी.
undefined

Tags: Corona Pandemic, COVID 19, Modi cabinet, Modi cabinet expansion, Modi cabinet meeting

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर