आर्टिकल 370: पढ़िए अमित शाह के भाषण की 10 बड़ी बातें

गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को लोकसभा में आर्टिकल 370 और 35A को खत्म करने वाला संकल्प पेश किया इसमें जम्मू कश्मीर राज्य का पुनगर्ठन करना और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित करने का प्रस्ताव किया गया.

भाषा
Updated: August 5, 2019, 11:11 PM IST
आर्टिकल 370: पढ़िए अमित शाह के भाषण की 10 बड़ी बातें
गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को लोकसभा में आर्टिकल 370 और 35A को खत्म करने वाला संकल्प पेश किया इसमें जम्मू कश्मीर राज्य का पुनगर्ठन करना और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित करने का प्रस्ताव किया गया.
भाषा
Updated: August 5, 2019, 11:11 PM IST
गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को लोकसभा में आर्टिकल 370 और 35A को खत्म करने वाला संकल्प पेश किया. इसमें जम्मू कश्मीर राज्य का पुनगर्ठन करना और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित करने का प्रस्ताव किया गया.

राष्ट्रपति द्वारा संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत विशेष दर्जा समाप्त करने के आदेश के बाद प्रस्ताव पेश करते हुए शाह ने सदन से विधेयक पेश करने की अनुमति मांगी. उन्होंने विपक्षी सदस्यों को अश्वस्त किया कि वह मंगलवार को सदन में चर्चा के लिये विधेयक एवं संकल्प पेश करेंगे और सदन में इसे पेश करने की आज सिर्फ अनुमति मांग रहे हैं. विपक्षी दलों के विरोध के बीच शाह ने कहा, ‘‘मैं विधेयक को चर्चा एवं पारित होने के लिये कल पेश करूंगा. विपक्ष इस पर विस्तृत चर्चा कर सकता है. मैं जवाब देने को तैयार हूं. इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कई बड़ी बातें कहीं. जानिए अमित शाह के भाषण की दस बड़ी बातें-

1) अमित शाह ने राज्यसभा में आश्वासन दिया कि जम्मू कश्मीर को केन्द्र शासित क्षेत्र बनाने का कदम स्थायी नहीं है तथा स्थिति सामान्य होने पर राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा.

2) शाह ने कहा जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का मूल कारण अनुच्छेद 370 है और इसने राज्य को तबाह कर दिया. अनुच्छेद 370 ने जम्मू कश्मीर, घाटी और लद्दाख का भारी नुकसान किया. तीन परिवारों ने जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र को समृद्ध नहीं होने दिया. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 ने जम्मू कश्मीर को तबाह कर दिया और यह राज्य में गरीबी के लिए जिम्मेदार है

3) शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए की वजह से जमीन खरीदने पर रोक लगने के कारण जम्मू कश्मीर में पर्यटन का विकास नहीं हो पाया.



4) गृह मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 के कारण जम्मू कश्मीर में भ्रष्टाचार बढ़ा, फला-फूला, गरीबी घर करती गई, वहां के लोगों को आरोग्य की सुविधा नहीं मिली, वहां पर विकास नहीं हुआ, वहां बेहतर शिक्षा भी नहीं है.
Loading...

5) अनुच्छेद 370 एक अस्थायी प्रावधान था, आखिर कब तक एक अस्थायी प्रावधान को बने रहने की अनुमति दी जा सकती है.

6) जम्मू कश्मीर में स्वास्थ्य सेवाएं इसलिए लचर हैं क्योंकि वहां अनुच्छेद 370, 35ए के कारण कोई निजी अस्पताल स्थापित नहीं किया जा सका.

7) अमित शाह ने कहा हमें 5 साल दे दीजिए हम कश्मीर को सबसे विकसित राज्य बना देंगे.

8) अमित शाह ने कहा कि आयुष्मान भारत की स्कीम कश्मीर में चल रही है लेकिन अस्पताल कहां हैं. डॉक्टर और नर्स कहां हैं. जो लोग 35A का समर्थन कर रहे हैं वो मुझे बताएं कौन सा मशहूर डॉक्टर वहां गया है और प्रैक्टिस की है. वह वहां जमीन और घर नहीं खरीद सकते न ही उनके बच्चे वहां वोट दे सकते हैं.

9) अमित शाह ने कहा कि हम धर्म की राजनीति नहीं करते हैं, वोटबैंक की राजनीति क्या है? सिर्फ मुसलमान ही कश्मीर में रहेंगे? आप कहना क्या चाहते हैं? मुसलमान, हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध सभी वहां रहेंगे. अगर 370 सही है तो सभी के लिए सही है, अगर गलत है तो सभी के लिए गलत है.

10) गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि धारा 370 हटने से कश्मीर में खून-खराबा रुक जाएगा.

ये भी पढ़ें-
NEWS18 EXCLUSIVE: जानिए क्यों जरूरी था आर्टिकल 370 हटाना!

आर्टिकल 370: जानिए अब जम्मू-कश्मीर में होंगे क्या बदलाव
First published: August 5, 2019, 10:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...