Home /News /nation /

''भारत की सीमा पर आ बैठा है चीन'', मनमोहन सिंह की इस टिप्पणी पर जानें सरकार का जवाब

''भारत की सीमा पर आ बैठा है चीन'', मनमोहन सिंह की इस टिप्पणी पर जानें सरकार का जवाब

चीन को लेकर मनमोहन सिंह की टिप्पणी को भारतीय विदेश मंत्रालय ने राजनीतिक बयानबाजी बताया है.

चीन को लेकर मनमोहन सिंह की टिप्पणी को भारतीय विदेश मंत्रालय ने राजनीतिक बयानबाजी बताया है.

चीन को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की यह टिप्पणी तब आई जब अप्रैल-मई 2020 से फिंगर एरिया, गलवान वैली, हॉट स्प्रिंग्स और कोंगरुंग नाला सहित कई क्षेत्रों में चीनी सेना द्वारा किए गए उल्लंघन को लेकर भारत और बीजिंग के बीच गतिरोध की स्थिति बनी हुई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा देश की वर्तमान विदेश नीति को लेकर की गई टिप्पणी पर मोदी सरकार ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने पूर्व प्रधानमंत्री के बयान को नीतिगत न मानकर विशुद्ध राजनीति टिप्पणी करार दिया है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए गुरुवार को कहा,”यह स्पष्ट रूप से एक विशुद्ध राजनीतिक संदेश है, नीतिगत नहीं, इसलिए मुझे लगता है कि यहां मेरी स्थिति से, मैं इसमें नहीं पड़ना चाहूंगा.”

डॉ. मनमोहन सिंह ने हाल में दिए बयान में कहा था, ”उन्हें (केंद्र की भाजपा सरकार) आर्थिक नीतियों की कोई समझ नहीं है. यह मुद्दा सिर्फ देश तक ही सीमित नहीं है. यह सरकार विदेश नीति के मोर्चे पर भी विफल साबित हुई है. चीन हमारे देश की सीमा पर आकर बैठ गया है और मौजूदा सरकार इस सच्चाई को ​ढकने का प्रयास कर रही है.”

मनमोहन सिंह की टिप्पणी के संबंध में, अरिंदम बागची ने यह भी कहा, “जहां तक ​​चीन का संबंध है, तथ्य स्पष्ट हैं. मुझे उन्हें दोहराने की आवश्यकता नहीं है. हम चर्चा कर रहे हैं कि चीन के साथ बातचीत की प्रक्रिया क्या है. यह स्थिति कैसे उत्पन्न हुई. मुझे लगता है कि हमने बार-बार ऐसा कहा है.”

चीन को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की यह टिप्पणी तब आई जब अप्रैल-मई 2020 से फिंगर एरिया, गलवान वैली, हॉट स्प्रिंग्स और कोंगरुंग नाला सहित कई क्षेत्रों में चीनी सेना द्वारा किए गए उल्लंघन को लेकर भारत और बीजिंग के बीच गतिरोध की स्थिति बनी हुई है.

सीमा पर जारी गतिरोध का हल निकालने के लिए 14 दौर की सैन्य वार्ता के समापन के बाद, भारत और चीन ने पश्चिमी क्षेत्र में एलएसी पर जल्द से जल्द कमांडर स्तर की बैठक आयोजित करने पर सहमति व्यक्त की थी.

Tags: Dr. manmohan singh, India china border dispute, Modi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर