सरकार का बड़ा फैसला, 1 अप्रैल से 45 साल से ऊपर सभी को लगेगी कोरोना वैक्सीन

देश में अभी कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज चल रहा है.

देश में अभी कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज चल रहा है.

Covid-19 Vaccination India: देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर जोरों पर है. ऐसे में हर राज्य और केंद्र सरकार इस बात का पूरा ध्यान दे रही है कि कोरोना से हर संभव बचाव किया जाए और इसके लिए वैक्सीन सबसे उचित तरीका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 5:01 PM IST
  • Share this:
Covid-19 Vaccination India: देश में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर बड़ी खबर आ रही है. एक अप्रैल से 45 साल से ऊपर के सभी लोग कोरोना वैक्सीन लगवा सकेंगे. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने इस बात की घोषणा की है. उन्होंने कहा है कि देश में टीका की भरपूर मात्रा उपलब्ध है. कोरोना वैक्सीन की कोई कमी नहीं है. बता दें कि अब तक 45 से 60 साल के बीच सिर्फ गंभीर बीमारियों वाले लोगों को ही वैक्सीन दी जा रही थी.

इस बीच पंजाब से जीनाम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए 401 सैम्पल में से 81% में ब्रिटेन वाले वैरिएंट की पुष्टि हुई है. इससे युवा सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं. इसे लेकर राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह चिंतित हैं. मुख्यमंत्री के सलाहकार रवील ठुकराल ने प्रधानमंत्री मोदी से अपील की है कि वैक्सीनेशन प्रोग्राम में 60 से कम उम्र के लोगों को भी शामिल किया जाए. पंजाब से पहले दिल्ली, महाराष्ट्र भी युवाओं को वैक्सीनेट करने की मांग उठा चुके हैं.

Youtube Video


Covid-19 in India: कोरोना संक्रमण के फिर मिले 40 हजार से ज्यादा केस, 199 लोगों की मौत
देश में कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर से बढ़ रहे हैं. देश में अब तक 4.72 करोड़ कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के जरिए जारी आंकड़ों के मुताबिक, सोमवार शाम 7 बजे तक कुल 4,72,07,134 वैक्सीन डोज दी गई हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय की जानकारी के मुताबिक, सोमवार को 3,34,367 लाभार्थी जो 45 साल से ज्यादा उम्र के गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं, 60 साल से ज्यादा उम्र के 13,07,614 लाभार्थियों को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई है. वहीं, 40,976 हेल्थकेयर और 72,153 फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की पहली डोज दी गई, जबकि 44,728 हेल्थकेयर और 1,65,797 फ्रंटलाइन वर्करों को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई है.

कब हुई थी वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत?



भारत में टीकाकरण अभियान के पहले चरण की शुरुआत 16 जनवरी 2021 से हुई थी. पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों यानी डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स और स्वास्थ्य से जुड़े लोगों को वैक्सीन दी गई थी. साथ ही फ़्रंटलाइन वर्कर्स यानी पुलिसकर्मियों, पैरामिलिट्री फ़ोर्सेज और सैन्यकर्मियों को भी टीका लगाया गया. 14 लाख लोगों को टीके की दूसरी डोज़ भी दी जा चुकी है. फिर 1 मार्च से वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू हुआ. दूसरे चरण में अब आम लोगों को वैक्सीन लग रही है. इस चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई मंत्री वैक्सीन लगवा चुके हैं. सरकार का लक्ष्य जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने का है.

COVID-19: पंजाब में 81% केस UK वेरिएंट वाले, युवाओं के भी वैक्सीनेशन की इजाजत दें- पीएम मोदी से कैप्टन की अपील

देश में अब तक आए कितने कोरोना केस?

पिछले 24 घंटे में 40 हजार 715 कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई. बीते दिन 29 हजार 785 मरीज ठीक हुए. सोमवार को 199 लोगों को इस वायरस से जान गंवानी पड़ी है. 15 मार्च के बाद से कोरोना मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. बीते 24 घंटे में एक्टिव केस का आंकड़ा 10,676 बढ़ा. अभी 3 लाख 45 हजार 377 मरीजों का इलाज चल रहा है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक 1 करोड़ 16 लाख 86 हजार 796 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं. इनमें से 1 करोड़ 11 लाख 81 हजार 253 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 1 लाख 60 हजार 166 लोगों ने जान गंवाई है. अब तक 4 करोड़ 84 लाख 94 हजार 594 लोगों को वैक्सीनेट किया जा चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज