Home /News /nation /

नारियल उत्‍पादक करोड़ों किसानों को सरकार का तोहफा, जानें-MSP में बढ़ोतरी से कितना पाएंगे लाभ?

नारियल उत्‍पादक करोड़ों किसानों को सरकार का तोहफा, जानें-MSP में बढ़ोतरी से कितना पाएंगे लाभ?

एमएसपी में बढ़ोतरी से नारियल उत्‍पादक किसानों को अच्‍छा खासा फायदा होगा और उनकी कमाई भी बढ़ेगी. (फाइल फोटो)

एमएसपी में बढ़ोतरी से नारियल उत्‍पादक किसानों को अच्‍छा खासा फायदा होगा और उनकी कमाई भी बढ़ेगी. (फाइल फोटो)

Coconut Farming : सरकार के फैसले में उचित औसत गुणवत्ता (एफएक्यू) के मिलिंग खोपरा (Milling Copra) के लिए एमएसपी (MSP) को 2021 के 10,335 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2022 सीजन के लिए 10,590 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है और बॉल खोपरा (Ball Copra) के लिए एमएसपी को 2021 के 10,600 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2022 सीजन के लिए 11,000 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली : दुनिया में नारियल उत्‍पादन (Coconut Production) के मामले में भारत सर्वोच्‍च स्‍थान पर है. देशभर में 12 राज्यों में करीब एक करोड़ से ज्‍यादा किसान (Farmers) नारियल की खेती (Coconut Farming) कर अपनी जीविका चलाते हैं. ऐसे में केंद्र सरकार ने नए साल पर इन करोड़ों किसानों को बड़ा तोहफा देते हुए नारियल की एमएसपी (MSP) पर प्रति क्विंटल पर बढ़ोतरी करने का ऐलान किया है. एमएसपी में बढ़ोतरी से इन किसानों को अच्‍छा खासा फायदा होगा और उनकी कमाई भी बढ़ेगी.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्‍यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 2022 सीजन के लिए खोपरा के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (एमएसपी) को अपनी मंजूरी दे दी.

Rythu Bandhu Scheme : 60 लाख किसानों के लिए अच्‍छी खबर, जल्‍द खाते में आएंगे 5-5 हजार रुपये

इस फैसले में उचित औसत गुणवत्ता (एफएक्यू) के मिलिंग खोपरा (Milling Copra) के लिए एमएसपी (MSP) को 2021 के 10,335 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2022 सीजन के लिए 10,590 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है और बॉल खोपरा (Ball Copra) के लिए एमएसपी को 2021 के 10,600 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2022 सीजन के लिए 11,000 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया. इस तरह मिलिंग खोपरा के लिए एमएसपी में 255 रुपये प्रति क्विंटल तो बॉल खोपरा के लिए 400 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि करने की मंजूरी दी गई.

यह उत्पादन की अखिल भारतीय भारित औसत लागत पर खोपरा मिलिंग के लिए 51.85 प्रतिशत और बॉल खोपरा के लिए 57.73 प्रतिशत का लाभ सुनिश्चित करता है. 2022 सीज़न के लिए खोपरा के एमएसपी में वृद्धि, अखिल भारतीय भारित औसत लागत के कम से कम 1.5 गुना के स्तर पर तय करने के सिद्धांत के अनुरूप है, जिसे बजट 2018-19 में सरकार द्वारा घोषित किया गया था. यह निर्णय कृषि लागत और मूल्य आयोग (सीएसीपी) की सिफारिशों पर आधारित है.

Agriculture News: किसानों के जरूरी खबर, कृषि वैज्ञानिकों ने Farmers के लिए जारी की अहम एडवाइजरी

सरकार की तरफ से कहा गया है कि यह 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में महत्वपूर्ण और प्रगतिशील कदमों में से एक है, जो लाभ के रूप में न्यूनतम 50 प्रतिशत का आश्वासन देता है.

Mustard Farming: सरसों की खेती करने वाले किसानों के लिए खुशखबरी, इस साल कमा सकते हैं मोटा मुनाफा!

भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड और भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ लिमिटेड नारियल उगाने वाले राज्यों में एमएसपी पर समर्थन मूल्य का संचालन करने के लिए केंद्रीय नोडल एजेंसियों के रूप में कार्य करना जारी रखेंगे.

PMFBY: किसानों के लिए खुशखबरी, बैंक खातों में पहुंचे 1770 करोड़ रुपये, 980 Cr. का भुगतान भी होगा जल्‍द

Tags: Crop MSP, Modi cabinet, MSP

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर