होम /न्यूज /राष्ट्र /

'छात्रों के आकलन' के लिए भारत सरकार बनाने जा रही PARAKH संस्था, जानिए क्या होगा इसका काम

'छात्रों के आकलन' के लिए भारत सरकार बनाने जा रही PARAKH संस्था, जानिए क्या होगा इसका काम

पेशेवर और भविष्य के तरीके से छात्रों का आकलन करने के लिए, सरकार की PARAKH पहल जल्द ही शुरू हो सकती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पेशेवर और भविष्य के तरीके से छात्रों का आकलन करने के लिए, सरकार की PARAKH पहल जल्द ही शुरू हो सकती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सरकार की सहायता के लिए वैश्विक स्तर पर सलाहकारों को आमंत्रित करने वाले एक दस्तावेज में कहा गया है, 'मूल्यांकन की कला सीखाने के क्षेत्र में परख एक विचारशील अगुवा होगा. यह उन मूल्यांकन विशेषज्ञों का घर होगा, जो शिक्षा की गहरी समझ रखते हैं और यह जानते हैं कि बच्चे कैसे सीखते हैं. परख की टीम में भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा प्रणाली की गहरी समझ रखने वाले प्रमुख मूल्यांकन विशेषज्ञ शामिल होंगे.'

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्लीः पेशेवर और भविष्य के तरीके से छात्रों का आकलन करने के लिए, सरकार की PARAKH (Performance Assessment, Review and Analysis of Knowledge for Holistic Development) पहल जल्द ही शुरू हो सकती है. एनसीईआरटी में नया राष्ट्रीय मूल्यांकन केंद्र स्थापित करने के लिए सलाहकारों से 12 अगस्त को वैश्विक बोलियां आमंत्रित की गईं. प्रदर्शन मूल्यांकन, समग्र विकास के लिए ज्ञान की समीक्षा एवं विश्लेषण यानी PARAKH की घोषणा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत छात्र मूल्यांकन के लिए एक सटैंडर्ड-सेटिंग निकाय के रूप में की गई थी.

सरकार की सहायता के लिए वैश्विक स्तर पर सलाहकारों को आमंत्रित करने वाले एक दस्तावेज में कहा गया है, ‘मूल्यांकन की कला सीखाने के क्षेत्र में परख एक विचारशील अगुवा होगा. यह उन मूल्यांकन विशेषज्ञों का घर होगा, जो शिक्षा की गहरी समझ रखते हैं और यह जानते हैं कि बच्चे कैसे सीखते हैं. परख की टीम में भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा प्रणाली की गहरी समझ रखने वाले प्रमुख मूल्यांकन विशेषज्ञ शामिल होंगे.’

दस्तावेज के मुताबिक ‘परख’ सभी मूल्यांकन संबंधी सूचनाओं और विशेषज्ञता के लिए राष्ट्रीय स्तर पर सिंगल विंडो सोर्स बन जाएगा, जिसमें नेशनल और जरूरत के मुताबिक इंटरनेशनल लेवल पर सभी रूपों में मूल्यांकन की कला सीखा जा सकेगा. यह उम्मीद की जाती है कि PARAKH सभी संबद्ध संगठनों जैसे मूल्यांकन बोर्ड (BoAs), SCERTs/SIEs/ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों और मूल्यांकन के क्षेत्र में काम करने वाले अंतरराष्ट्रीय संगठनों/एजेंसियों के साथ मिलकर काम करेगा.

‘परख’ के लिए सलाहकार का क्या काम होगा?
सरकार देश में ‘आकलन और मूल्यांकन’ में सुधार और इस क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय मानकों की तकनीकी विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए परख की स्थापना कर रही है. इसके लिए एक परामर्श एजेंसी को काम पर रखा जाना है. तीन साल की अपेक्षित कार्यान्वयन अवधि के साथ इस वर्ष असाइनमेंट की अपेक्षित प्रारंभ तिथि 1 अक्टूबर है. सलाहकार, PARAKH की राष्ट्रीय स्तर की कोर टीम को अकादमिक और तकनीकी सहायता प्रदान करेगा, मूल्यांकन अध्ययन सीखने में राष्ट्रीय और उप-राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न हितधारकों की क्षमता का निर्माण करेगा और समर्थन प्रदान करेगा. साइकोमेट्रिक विश्लेषण और प्रलेखन प्रक्रिया को मजबूत करेगा. परामर्श एजेंसी, PARAKH की स्थापना, स्टाफिंग, अल्पकालिक (3 वर्ष) और लंबी अवधि (5 से 10 वर्ष) के लिए क्षमता निर्माण योजना में, विशेषज्ञों और अन्य आवश्यक कर्मचारियों को नियुक्त करने में NCERT की मदद करेगी.

एजेंसी एक बेहतर NAS 2024 (नेशनल अचीवमेंट सर्वे) के लिए एक विस्तृत योजना भी बनाएगी, जो NAS 2021 के लिए एक लिंक बनाए रखती है. ताकि स्कोर की तुलना की जा सके और NAS 2024 के लिए डिजाइन, प्रशासन, विश्लेषण और रिपोर्टिंग में मदद की जा सके. परामर्शदाता PARAKH टीम को विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मूल्यांकन कार्यक्रमों जैसे PISA (प्रोग्राम फॉर इंटरनेशनल स्टूडेंट असेसमेंट), ट्रेंड्स इन इंटरनेशनल मैथमेटिक्स एंड साइंस स्टडी (TIMSS), और प्रोग्रेस इन इंटरनेशनल रीडिंग लिटरेसी स्टडी (PIRLS) से परिचित कराएगा, और भारत के लिए प्रासंगिक कार्यक्रमों की पहचान करने में उसकी मदद करेगा. यह एक या एक से अधिक अंतरराष्ट्रीय मूल्यांकन में भाग लेने के लिए PARAKH की टीम भी तैयार करेगा, जिसमें पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर स्कूलों के लिए PISA या अन्य परिचित अभ्यास करना शामिल है.

PARAKH का काम क्या होगा?
यह तकनीकी निकाय नमूना आधारित राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (National Achievement Survey) करेगा, राज्य उपलब्धि सर्वेक्षण (State Achievement Survey) का मार्गदर्शन करेगा और देश में ‘सीखने के परिणामों’ की उपलब्धि की निगरानी करेगा. यह भारत के सभी मान्यता प्राप्त स्कूल बोर्डों के लिए छात्र-छात्राओं की समीक्षा एवं मूल्यांकन के लिए मानदंड, मानक और दिशानिर्देश स्थापित करेगा.

दस्तावेज के अनुसार, ‘PARAKH स्कूल बोर्डों को 21 वीं सदी की कौशल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपने मूल्यांकन पैटर्न को बदलने में मदद करेगा, नए मूल्यांकन पैटर्न और नवीनतम शोध के बारे में स्कूल बोर्डों को सलाह देगा, स्कूल बोर्डों के बीच सहयोग को बढ़ावा देगा और सभी स्कूल बोर्डों में शिक्षार्थियों के बीच शैक्षणिक मानकों की समानता सुनिश्चित करेगा.’ स्कूल-आधारित मूल्यांकन स्कूली शिक्षा के सभी विभिन्न चरणों- मूलभूत, प्रारंभिक, मध्य और माध्यमिक को कवर करेगा.

विश्व बैंक शिक्षण मूल्यांकन प्रणाली को मजबूत करने के लिए STARS (Strengthening Teaching-Learning and Results for States) कार्यक्रम के माध्यम से भारतीय शिक्षा मंत्रालय की मदद करेगा. PISA, TIMSS और PIRLS जैसे अंतरराष्ट्रीय मूल्यांकन में भारत की भागीदारी का प्रबंधन करने और NAS जैसे राष्ट्रीय मूल्यांकन की देखरेख करने के लिए STARS, PARAKH की स्थापना के लिए बहु-वर्षीय वित्तपोषण करेगा.

Tags: Government of India, Modi government, PM Modi

अगली ख़बर