लाइव टीवी

सरदार पटेल जयंती को यादगार बनाने की तैयारी में मोदी सरकार

अमिताभ सिन्हा | News18Hindi
Updated: October 23, 2019, 3:41 PM IST
सरदार पटेल जयंती को यादगार बनाने की तैयारी में मोदी सरकार
स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

मोदी सरकार (Modi Government) और बीजेपी की कोशिश यही रही है कि जिन सरदार पटेल को आजादी के बाद की सरकारों ने उचित सम्मान नहीं दिया, वो उन्हें दिया जाए. इसलिए जब मोदी सरकार दोबारा चुन कर आ गई है, तो देश भर में एक बार भी सरकार पटेल की जयंती पर देशभर में कार्यक्रमों की झड़ी लगाई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 3:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय एकता दिवस यानी लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन को एक बार फिर यादगार बनाने के लिए मोदी सरकार और बीजेपी युद्दस्तर पर तैयारियों में लगी है. मंगलवार को देर शाम तक बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के तमाम महासचिवों और पदाधिकारियों से मुलाकात की. उन्होंने 31 अक्टूबर को होने वाली रन फॉर युनिटी कार्यक्रम की रूपरेखा को अंतिम रूप दिया. 2014 में पीएम मोदी ने सरकार बनने के बाद सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रुप में मनाने का ऐलान किया था. तब पीएम मोदी ने खुद ही दिल्ली के राजपथ पर आम लोगों के साथ दौड़ लगाई थी. तब से रन फॉर युनिटी हर साल आयोजित किया जा रहा है.

मोदी सरकार और बीजेपी की कोशिश यही रही है कि जिन सरदार पटेल को आजादी के बाद की सरकारों ने उचित सम्मान नहीं दिया, वो उन्हें दिया जाए. इसलिए जब मोदी सरकार दोबारा चुन कर आ गई है, तो देश भर में एक बार भी सरकार पटेल की जयंती पर देशभर में कार्यक्रमों की झड़ी लगाई जा रही है.

पटेल जयंती पर क्या है कार्यक्रम?
संकेत हैं कि गुजरात में सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ युनिटी पर 31 अक्टूबर की शाम एक रंगारंग कार्यक्रम होगा. सूत्र बताते हैं कि इसमें पीएम मोदी भी शामिल हो सकते हैं. इसमें तमाम सुरक्षा बलों का मार्च पास्ट भी होगा. देशभर के तमाम सुरक्षा बलों के योगदान का गुणगान भी किया जाएगा. साथ ही पीएम मोदी पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई सुविधाओं का ऐलान भी कर सकते हैं. सरकार का मानना है कि नई सुविधाओं की शुरुआत के साथ ही त्योहारों के मौसम में पर्यटकों की संख्या 30 लाख भी पार कर सकती है.

अमित शाह ने एकता दिवस को लेकर सभी मंत्रियों को लिखी चिट्ठी
गृहमंत्री अमित शाह ने इस बाबत तमाम केंद्रीय मंत्रियों को चिट्ठी भी लिखी है. शाह ने लिखा है कि सभी मंत्री राष्ट्रीय एकता दिवस के मौके पर सुबह सुबह अपने मंत्रालयों में तमाम कर्मचारियों के साथ राष्ट्रीय एकता की शपथ लें, फिर शाम को अपने अपने इलाकों मे सुरक्षा बलों को सम्मान भी दें. दिल्ली में भी इंडिया गेट से सटे नेशनल स्टेडियम से रन फॉर युनिटी को हरी झंडी दिखायी जाएगी. इसमें भी कई वरिष्ठ मंत्री हिस्सा लेंगे. देशभर में सभी सुरक्षा बलों की भी परेड होगी. वहां उनके योगदान की सराहना भी होगी, ताकि संदेश यही जाए की देश की जनता और सरकार उनकी कितनी शुक्रगुजार है.

इसके पहले अमित शाह ने दीपावली के मौके पर सभी मंत्रियों और सांसदों को अपने अपने इलाकों में रहने का निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि दीपावली के दिन सभी सांसद और मंत्री अपने इलाके में आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों से मिलें और उनके अनुभव साझा करें. इस मुलाकात की तस्वीरें बीजेपी कार्यालय और नमो ऐप पर साझा करने को भी कहा गया है. ये शुरुआत महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ के मौके पर हुई, जब पूरी की पूरी बीजेपी और सरकार के मंत्री अपने अपने इलाकों में पदयात्रा करते नजर आए.
Loading...

इस आयोजन के बहाने सरकार का लक्ष्य सिर्फ सरदार पटेल के योगदान को नेहरू से कमतर आंकने वाले इतिहास के पन्नों को बदलना है. साथ ही सुरक्षा बलों में भी उत्साह का संचार करना है, जो दिन रात देश की सीमा से लेकर कानून व्यवस्था की देख रेख में लगे हैं. कुल मिलाकर सार यही है कि पूरी की पूरी बीजेपी और सरकार का कनेक्ट भी तो आम आदमी से बना रहेगा. यही कनेक्ट तो बीजेपी की मजबूती का कारण भी है.

ये भी पढ़ें: PM मोदी के मुरीद हुए कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद, आयुष्मान भारत योजना पर कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 3:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...