अपना शहर चुनें

States

सरकार का बड़ा कदम, जानवरों को हादसों से बचाने के लिए NH44 पर बनाया 'एनिमल अंडरपास'

देश में हर साल जानवरों की वजह से होने वाले सड़क हादसों पर लगेगी रोक.
देश में हर साल जानवरों की वजह से होने वाले सड़क हादसों पर लगेगी रोक.

सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways) ने अन्य अभ्यारण और नेशनल पार्क समेत ऐसे इलाकों से गुजरने वाली सड़कों पर एनिमल अंडरपास (Animal Underpass) बनाने का फैसला किया है, जहां से रोजाना जानवर सड़क के एक ओर से दूसरी ओर जाते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 12:33 PM IST
  • Share this:
(शरद पाण्डेय)

नई दिल्ली.देश में प्रतिवर्ष जानवरों की वजह से होने वाले सड़क हादसों (Road accident) को रोकने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. कश्मीर (Kashmir) से कन्याकुमारी (Kanyakumari) जाने वाले नेशनल हाईवे 44 (पेंच और कान्हा टाइगर रिजर्व के बीच) पर सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways) ने पहली बार 28 किलोमीटर की दूरी पर 14 एनिमल अंडर पास बनाए हैं. ये सभी अंडरपास जल्द ही जानवरों के लिए खोलने की तैयारी है इसके साथ ही मंत्रालय ने अन्य अभ्यारण और नेशनल पार्क समेत ऐसे इलाकों से गुजरने वाली सड़कों पर एनिमल अंडरपास बनाने का फैसला किया है, जहां से रोजाना जानवर सड़क के एक ओर से दूसरी ओर जाते हैं और इस वजह से सड़क हादसे होते हैं.

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अनुसार सड़क हादसों का एक कारण रोड में आने वाले जानवर भी हैं जो पानी या खाने की तलाश में इधर-उधर घूमते रहते हैं और कई बार सड़क पर आ जाते हैं, जिनसे हादसे होते हैं. इन्हीं को ध्यान में रखते हुए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने नए बनने वाले और चौड़ीकरण होने वाले हाईवे पर एनिमल अंडर पास बनाने की तैयारी की है, जिससे जानवर सड़क के आरपार अंडरपास से आ जा सकेंगे और हादसों की संभावना कम हो जाएगी.

यमुना एक्सप्रेस पर नील गाय की वजह से होते हैं हादसे


दिल्ली से आगरा जाने वाले एक्सप्रेस वे में कई स्थानों पर नील गायों की वजह से अक्सर हादसे होते हैं, यहां पर अंडर पास नहीं है, जिससे नीलगाय सड़क पार करने के लिए एक्सप्रेस वे पर आ जाती हैं और जिससे वाहन टकरा जाते हैं. हालांकि यहां पर हादसे रोकने के लिए फैंसिंग लगाई गई है पर यह कारगर नहीं है.

इसे भी पढ़ें :- सुहाना सफर: देहरादून से दिल्ली तक बनेगा एक्सप्रेसवे, जंगल-सुरंग से निकलेगा रास्ता

यहां एनिमल अंडरपास बनाने की तैयारी
नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अनुसार जल्द ही माधव नेशनल पार्क और रातापानी अभ्यारण में एनिमल अंडरपास बनाए जाएंगे. इसके अलावा ऐसे स्थान भी चिन्हित किए जा रहे हैं, जहां पर जानवरों का एक ओर से दूसरी ओर आना-जाना अधिक होता है, जो हादसे की वजह बनते हैं. जिन स्थानों पर एनिमल अंडर पास बनाए जाएंगे, इनकी ऊंचाई 5 मीटर तक रखी जाएगी, जिससे बड़े जानवर भी निकल सकें.

इसे भी पढ़ें :- Fastag : क्या है, क्यों ज़रूरी, कैसे पाएं, कब तक वैध... हर सवाल का जवाब

22 सौ लोगों की होती है हर साल मौत
प्रति वर्ष करीब 6 हज़ार हादसे जानवरों के टकराने से होते हैं, जिनमें करीब 5 हज़ार लोग घायल होते हैं और 22 सौ लोगों की मौत होती है. नेशनल हाईवे पर करीब प्रतिवर्ष एक तिहाई होते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज