मोदी पाकिस्तान, चीन की बात करते हैं लेकिन गुजरात की नहीं: राहुल गांधी

मोदी पाकिस्तान, चीन की बात करते हैं लेकिन गुजरात की नहीं: राहुल गांधी
मोदी पाकिस्तान, चीन की बात करते हैं लेकिन गुजरात की नहीं: Rahul Gandhi

राहुल गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वो गुजरात चुनावों में पाकिस्तान, चीन, अफगानिस्तान और जापान की बात कर रहे हैं लेकिन अपने गृह राज्य के बारे में नहीं बोल रहे हैं.

  • Share this:
कांग्रेस के निर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वो गुजरात चुनावों में पाकिस्तान, चीन, अफगानिस्तान और जापान की बात कर रहे हैं लेकिन अपने गृह राज्य के बारे में नहीं बोल रहे हैं.

राहुल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी पर चुप्पी साधने के लिए भी मोदी पर सवाल उठाए. दावा किया जाता है कि उनकी कंपनी की कुल आय बीजेपी के केंद्र में सत्तारूढ़ होने के बाद कई गुना बढ़ गई.

राहुल ने कहा कि मोदी गुजरात में अपने प्रचार का मुद्दा लगातार बदल रहे हैं. राहुल गांधी को सोमवार को ही कांग्रेस का अध्यक्ष निर्वाचित किया गया.



उन्होंने कहा कि पहले नर्मदा के पानी पर बात की गई लेकिन जब किसानों ने कहना शुरू किया कि उनके खेतों तक पानी पहुंचा ही नहीं तो मोदी ने पटरी बदल दी और ओबीसी मुद्दों पर बोलने लगे. जब लोगों ने उसे भी पसंद नहीं किया तो वो विकास के मुद्दों पर चले गए लेकिन लोगों ने इसकी भी हवा निकाल दी.
बनासकांठा जिले में उन्होंने एक सभा में कहा, 'अब मोदी जी अफगानिस्तान, चीन, पाकिस्तान और जापान की बात करते हैं. मोदी जी ये चुनाव गुजरात के भविष्य को लेकर है. कृपया गुजरात के बारे में भी कुछ बोलिए.' राहुल का इशारा संभवत: प्रधानमंत्री के रविवार के बयान की तरफ था जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान, गुजरात विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने का प्रयास कर रहा है और मणिशंकर अय्यर के 'नीच' वाले बयान से एक दिन पहले अय्यर के आवास पर उस देश के कुछ वर्तमान और पूर्व अधिकारियों की बैठक हुई थी.

कांग्रेस नेता ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में अपने भाषणों में प्रधानमंत्री ने अपना आधा वक्त कांग्रेस की आलोचना में बिताया.

47 वर्षीय राहुल ने कहा, 'एक तरफ वो दावा करते हैं कि उन्होंने भारत से कांग्रेस का सफाया कर दिया है तो दूसरी तरफ वो अपना आधा वक्त कांग्रेस को दे रहे हैं. उनके भाषण का शेष आधा समय स्वयं नरेन्द्र मोदी जी के लिए होता है.' उन्होंने कहा, 'मोदी जी कृपया अपने भाषण में दो-तीन मिनट गुजरात के भविष्य के बारे में भी बात कीजिए.' भ्रष्टाचार पर मोदी की चुप्पी पर भी उन्होंने सवाल उठाए. मोदी ने अमित शाह के बेटे की कंपनी की आय कथित तौर पर काफी बढ़ने को लेकर उन पर निशाना साधा.

उन्होंने दावा किया, 'आप उनका पूरा भाषण सुनिए, भ्रष्टाचार इससे पूरी तरह गायब है. जय अमित शाह की कंपनी तीन महीने में 80 करोड़ रुपए से बढ़कर 50 हज़ार करोड़ रुपए की हो गई लेकिन चौकीदार चुप हैं, उनके मुंह से एक भी शब्द नहीं निकल रहा है.' उन्होंने कहा, 'नरेन्द्र मोदी जी अमित शाह से डरते हैं, इसलिए वो जय शाह के बारे में एक भी शब्द नहीं कह रहे हैं.' राहुल ने कहा कि कांग्रेस अगर गुजरात में सत्ता में आती है तो दस दिनों के अंदर किसानों के ऋण माफ कर दिए जाएंगे.

उन्होंने दावा किया कि एनडीए सरकार ने देश के दस सबसे धनी लोगों के 1.30 लाख करोड़ रुपए के ऋण माफ कर दिए. उन्होंने कहा कि जब किसान ऋण माफ करने के लिए कहते हैं तो केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और प्रधानमंत्री कहते हैं कि ये उनकी नीति नहीं है.

उन्होंने पूछा, 'किसानों के ऋण क्यों नहीं माफ किए गए क्योंकि वो विमानों में नहीं उड़ते, उनके पास बड़ी कारें नहीं हैं और उनके पास 15 लाख रुपए का सूट नहीं है.' राहुल ने आरोप लगाया कि गुजरात सरकार और टाटा के बीच नैनो के समझौते में भ्रष्टाचार हुआ.

उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने मनरेगा को 35 हज़ार करोड़ रुपए की राशि आवंटित की जबकि बीजेपी सरकार ने टाटा नैनो फैक्टरी को 33 हज़ार करोड़ रुपए दे दिए. नर्मदा का पानी फैक्टरी में गया. फैक्टरी को 24 घंटे बिजली मिलती है जबकि आपको ये सिर्फ रात में मिलती है.' कांग्रेस नेता ने दावा किया कि मुंद्रा के आसपास के गांवों की ज़मीन अडानी समूह को एक रुपए प्रति वर्गमीटर की दर से दी गई जबकि अडानी ने इसे तीन हज़ार रुपए प्रति वर्गमीटर की दर से बेच दिया।.

नोटबंदी और जीएसटी पर सरकार की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी से आम आदमी की आधी राशि लूट ली गई और शेष धन 'गब्बर सिंह टैक्स' से लूट लिया गया.

गुजरात चुनावों के दूसरे और अंतिम चरण के प्रचार के लिए मंगलवार अंतिम दिन है. चुनाव 14 दिसंबर को होगा और वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading