होम /न्यूज /राष्ट्र /मोहाली RPG अटैक केस में बड़ी गिरफ्तारी, नेपाल बॉर्डर से NIA ने आरोपी दीपक रंगा को पकड़ा

मोहाली RPG अटैक केस में बड़ी गिरफ्तारी, नेपाल बॉर्डर से NIA ने आरोपी दीपक रंगा को पकड़ा

दीपक रंगा ने पाकिस्तान स्थित हरविंदर सिंह उर्फ ​​रिंडा और कनाडा के लखविंदर सिंह उर्फ ​​लांडा के साथ मिलकर रची थी. (सांकेतिक तस्वीर)

दीपक रंगा ने पाकिस्तान स्थित हरविंदर सिंह उर्फ ​​रिंडा और कनाडा के लखविंदर सिंह उर्फ ​​लांडा के साथ मिलकर रची थी. (सांकेतिक तस्वीर)

Mohali RPG Attack: मुख्य शूटर आरोपी दीपक रंगा को बुधवार सुबह गोरखपुर से एनआईए ने गिरफ्तार किया है. आरपीजी हमले के बाद स ...अधिक पढ़ें

चंडीगढ़. पंजाब पुलिस के मोहाली कार्यालय में आरपीजी हमले के सिलसिले में बड़ी गिरफ्तारी हुई है. राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने नेपाल सीमा से आरोपी दीपक रंगा को पकड़ा है, जो कि गैंगस्टर से आतंकवादी बने हरविंदर सिंह रिंडा का सहयोगी भी है. रंगा की गिरफ्तारी के वक्त पंजाब पुलिस भी एनआईए के साथ मौजूद थी.

पिछले साल 9 मई को एक दुस्साहसिक हमले में, मोहाली के सेक्टर 77 स्थित राज्य पुलिस के खुफिया विंग मुख्यालय पर एक रॉकेट से संचालित ग्रेनेड दागा गया था. मोहाली इंटेलिजेंस ऑफिस पर हमले की साज़िश दीपक रंगा ने पाकिस्तान स्थित हरविंदर सिंह उर्फ ​​रिंडा और कनाडा के लखविंदर सिंह उर्फ ​​लांडा के साथ मिलकर रची थी.

मुख्य शूटर आरोपी दीपक रंगा को बुधवार सुबह गोरखपुर से एनआईए ने गिरफ्तार किया है. आरपीजी हमले के बाद से दीपक फरार चल रहा था. मोहाली आरपीजी हमले में शामिल होने के अलावा, दीपक हिंसक हत्याओं सहित कई अन्य आतंकवादी और आपराधिक अपराधों में शामिल रहा है. वह सक्रिय रूप से रिंडा और लांडा से आतंकी फंड और रसद सहायता हासिल कर रहा है.

मोहाली आरपीजी हमले में यह सामने आने के बाद कि टारगेट किलिंग्स और हिंसक आपराधिक कृत्य करने के लिए विदेशों में स्थित आतंकवादी संगठन और आतंकवादी तत्व उत्तरी क्षेत्र में संचालित संगठित आपराधिक गिरोहों के नेताओं व सदस्यों के साथ मिलकर काम कर रहे थे… एनआईए ने 20 सितंबर, 2022 को स्वत: संज्ञान लेते हुए यह मामला दर्ज किया था. यह भी सामने आया था कि आतंकी-गैंगस्टर-ड्रग तस्कर नेटवर्क भी बंदूक चलाने वालों, अवैध हथियार और गोला-बारूद निर्माताओं और आपूर्तिकर्ताओं के व्यापक अंतर-राज्य नेटवर्क के माध्यम से सीमा पार से हथियार, गोला-बारूद विस्फोटक, आईईडी आदि जैसे आतंकवादी हार्डवेयर की तस्करी में लगा हुआ था.

आईएसआई, बब्बर खालसा इंटरनेशनल और गैंगस्टरों ने रची थी साजिश
पंजाब के पुलिस महानिदेशक वी के भावरा ने पिछले साल एक बयान में कहा था कि घटना के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल और गैंगस्टरों के बीच सांठगांठ का मामला सामने आया है. डीजीपी ने कहा था, ‘इस मामले में सभी जरूरी सामग्री का प्रबंध करने वाला प्रमुख साजिशकर्ता तरनतारन निवासी लखबीर सिंह उर्फ लांडा है, जो पहले एक गैंगस्टर हुआ करता था और 2017 में कनाडा चला गया था.’ उन्होंने कहा था, टलखबीर सिंह गैंगस्टर से आतंकवादी बने हरविंदर सिंह रिंडा का करीबी सहयोगी है, जो पाकिस्तान से अपनी गतिविधियां चलाता है.’

Tags: NIA, Punjab

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें