आतंकियों के हमले में शहीद हुए थे औरंगजेब, बदला लेने के लिए 2 भाई सेना में शामिल

पिछले साल 14 जून को पुलवामा हुए मुठभेड़ में आतंकियों ने 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब का अपहरण कर हत्या कर दी थी. औब उनके दो छोटे भाई सेना में शामिल हुए हैं.

News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 10:49 AM IST
आतंकियों के हमले में शहीद हुए थे औरंगजेब, बदला लेने के लिए 2 भाई सेना में शामिल
दोनों बेटों के इनरोलमेंट परेड में औरंगजेब के पिता मोहम्मद हनीफ भी पहुंचे थे.
News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 10:49 AM IST
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले साल आतंकी हमले में शहीद राइफलमैन औरंगजेब के दो छोटे भाई भी अब सेना में शामिल हो गए हैं. मोहम्मद तारिक और मोहम्मद शब्बीर ने सोमवार को राजौरी में 10 नए जवानों के साथ इनरोलमेंट परेड में हिस्सा लिया. इसके बाद औरंगजेब के दोनों भाइयों ने एक टीवी चैनल से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने कहा, 'अपने प्रदेश और हिंदुस्तान को बचाने और अपने भाई का बदला लेने के लिए हम सेना में भर्ती हुए हैं.'

इनरोलमेंट परेड में औरंगजेब के पिता मोहम्मद हनीफ भी पहुंचे थे. उन्होंने इस मौके पर कहा, 'मेरे बेटे को आतंकियों ने धोखे से मारा. अगर वह लड़कर मर जाता, तो कोई दुख नहीं था. उसकी जान धोखे से ली गई. मोहम्मद हनीफ आगे कहते हैं, 'दोनों बेटों की सेना में भर्ती पर गर्व से मेरा सीना चौड़ा भी हो रहा है, लेकिन सीने पर जख्म भी हैं. मेरा दिल करता है कि उन दुश्मनों से मैं खुद लड़ूं, जिन्होंने मेरे बेटे को मारा.' वह आगे कहते हैं, 'दोनों बेटे औरंगजेब की हत्या का बदला लेंगे.'

सेना में हुए बड़े बदलाव, बिपिन रावत के बाद मनोज नरवाने बन सकते हैं अगले सेनाध्यक्ष

राजौरी में सोमवार को इनरोलमेंट परेड हुई.


देश के लिए जान देने से पीछे नहीं हटेंगे
औरंगजेब के छोटे भाई मोहम्मद तारिक ने कहा, 'हमारे भाई ने वतन की खातिर जान दे दी और रेजिमेंट का नाम ऊंचा किया. उसी तरह हम भी अच्छे काम करेंगे और भाई की तरह ही देश के लिए ही जान देने से पीछे नहीं हटेंगे.'

औरंगजेब के साथ क्या हुआ था?
Loading...

बता दें कि पिछले साल 14 जून को पुलवामा हुए मुठभेड़ में आतंकियों ने 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब का अपहरण कर लिया गया था. वे तभी पुंछ जिले में अपने परिवार के साथ मिलकर ईद मनाने जा रहे थे. उनका गोली से छलनी शरीर अगले दिन पुलवामा के पास मिला था.

शहीद राइफलमैन औरंंगजेब


एक भाई पहले से सेना में
शहीद औरंगजेब के बड़े भाई मोहम्मद कासिम पहले से ही सेना में हैं. वह करीब 12 साल से सेना में सेवाएं दे रहे हैं. अब शहीद औरंगजेब के दो भाई मुहम्मद तारिक और मुहम्मद शब्बीर सेना में बतौर सिपाही भर्ती हो चुके हैं. दोनों को इंतजार है कि कब उन्हें आतंक विरोधी अभियान में उतारा जाएगा.

जरा संभलकर, जानें पाकिस्तान कैसे बिछा रहा है हनीट्रैप का जाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 8:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...