Southwest Monsoon 2021: IMD ने जताया इस बार अच्छी बारिश का अनुमान, जानिए यूपी-बिहार में कब पहुंचेगा मॉनसून

IMD ने कहा कि मॉनसून  3 जून को केरल के तट पर पहुंचेगा.

IMD ने कहा कि मॉनसून 3 जून को केरल के तट पर पहुंचेगा.

Southwest Monsoon 2021 Forecast Updates: जून से सितंबर के बीच होने वाली इस मॉनसूनी बारिश में चावल, मक्का, सोयाबीन और कपास की बुवाई होती है. इस सीजन में होने वाली बारिश पर देश की आधी खेती निर्भर करती है.

  • Share this:

Southwest Monsoon 2021 Forecast Updates: देशभर में इस बार मॉनसून की बारिश बेहतर रहने की उम्मीद की जा रही है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून (Southwest Monsoon 2021) के उत्तर और दक्षिण भारत में सामान्य, मध्य भारत में सामान्य से अधिक, पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम रहने का अनुमान है. वहीं निजी एजेंसी स्काई मेट के मुताबिक, मानसून केरल पहुंच चुका है, लेकिन IMD ने कहा कि ये 3 जून को केरल के तट पर पहुंचेगा.

दक्षिण पश्चिम मॉनसून 2021 के लिए अपना दूसरा दीर्घावधि पूर्वानुमान जारी करते हुए आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि देश में जून में मॉनसून सामान्य रहने का पूर्वानुमान है, जो बुवाई का भी मौसम होता है. उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर इस साल पूरे देश में मॉनसून के सामान्य रहने की संभावना है.

Chhattisgarh Weather Forecast: प्री मानसून में जमकर बरसेंगे बादल, इन 14 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट


महापात्र ने ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा, ‘‘हम अच्छे मॉनसून की उम्मीद कर रहे हैं, जिससे कृषि क्षेत्र को मदद मिलेगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मात्रात्मक रूप से, देश में मॉनसून की बारिश के दीर्घावधि औसत (एलपीए) का 101 प्रतिशत रहने की संभावना है. जिसमें चार प्रतिशत कम या ज्यादा की आदर्श त्रुटि हो सकती है.’’

यूपी-बिहार कब पहुंचेगा मॉनसून?

एक अनुमान के मुताबिक, मॉनसून 12 या 13 जून को बिहार में प्रवेश कर सकता है. बिहार में आमतौर पर जून से लेकर सितंबर तक मॉनसून की बारिश होती है. इस साल सामान्य से अधिक बारिश होने के आसार हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, इस बार उत्तर प्रदेश में मॉनसून (Monsoon 2021) 20 जून के आसपास दस्तक देगा. यानी जून के तीसरे सप्ताह के बाद यूपी के सभी जिलों में झमाझम बारिश (Heavy Rain) होगी.



Yaas Cyclone: बंगाल की खाड़ी में उठे यास तूफान को कैसे मिला यह नाम, जानिए पूरी कहानी

इन राज्यों में होगी कम बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक पूर्व और उत्तर पूर्व के कुछ राज्यों में सामान्य से कम बारिश होगी. इनमें बिहार का पूर्वी हिस्सा, पश्चिम बंगाल के कुछ जिले, असम, मेघालय, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश के ऊपरी हिस्से में, दक्षिण पश्चिमी पठार, केरल का कुछ भाग और तमिलनाडु के अंदरूनी जिले शामिल हैं.

इस बार हर महीने का अनुमान जारी होगा

मौसम विभाग इस वर्ष एक नई पहल करते हुए चार महीने के मानसून में हर महीने का पूर्वानुमान जारी करेगा. इसमें हर राज्य व शहर वार होने वाली बारिश का विवरण दिया जाएगा. इसके अनुसार जून में देश में सामान्य बारिश होगी, जो देश के अन्नदाता के लिए खरीफ की फसल की बुवाई के हिसाब से भी काफी आशाजनक है.

Climate change के कारण हो रहा है भारतीय मानसून ताकतवर और अनियमित

बता दें कि आमतौर पर मॉनसून के आने की तारीख 1 जून होती है. मौसम विभाग ने कहा था कि इस साल सामान्य बारिश का अनुमान है. जून से सितंबर के बीच होने वाली इस मॉनसूनी बारिश में चावल, मक्का, सोयाबीन और कपास की बुवाई होती है. इस सीजन में होने वाली बारिश पर देश की आधी खेती निर्भर करती है. (PTI इनपुट के साथ)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज