Monsoon 2021: देश में 31 मई तक मॉनसून के दस्तक की उम्मीद, IMD ने जताया सामान्य बारिश का अनुमान

पिछले दो हफ्ते से देश के कई हिस्सों में जम कर बारिश हुई. (फोटो-AP)

Monsoon 2021: आईएमडी के मुतबिक, देश में 75 प्रतिशत से अधिक वर्षा लाने वाले दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के इस साल सामान्य रहने की संभावना है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केरल में दक्षिण पश्चिम मॉनसून के 31 मई तक पहुंचने की उम्मीद है. इस बात की जानकारी भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दी. ये पांच जून तक गोवा पहुंचेगा. विभाग ने इस बार औसत बारिश होने का अनुमान लगाया गया. केरल में मॉनसून सामान्य तौर पर एक जून को पहुंचता है, जबकि गोवा में मॉनसून की पहली फुहार छह जून तक पड़ती है. बता दें कि पिछले दो हफ्ते से देश के कई हिस्सों में जम कर बारिश हुई. इसकी वजह थी अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में दो चक्रवाती तूफान का आना.

    पिछले 16 साल से केरल में मॉनसून की शुरुआत की तारीख का आईएमडी ने सही पूर्वानुमान लगाया है. आईएमडी के मुतबिक देश में 75 प्रतिशत से अधिक वर्षा लाने वाले दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के इस साल सामान्य रहने की संभावना है. 21 मई को बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्से, निकोबार द्वीप समूह, समूचा दक्षिण अंडमान सागर और उत्तरी अंडमान सागर के कुछ भाग में दक्षिण-पश्चिम मानसून आ गया था.

    मॉनसून का इंतज़ार
    जैसे-जैसे मॉनसून उत्तर की ओर बढ़ता है लोगों को चिलचिलाती गर्मी से राहत मिलती है. उम्मीद है कि मुंबई में 15 जून तक मॉनसून पहुंच जाएगा, लेकिन राजधानी दिल्ली और उत्तर भारत के लोगों को फिलहाल मॉनसून का इंतज़ार करना पड़ेगा. इन इलाकों में आमतौर पर 1 जुलाई से मॉनसूनी बारिश शुरू होती है.

    इन इलाकों में अलर्ट
    इस बीच मौसम विभाग ने अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह के कुछ हिस्सों में 30 मई तक भारी बारिश की आशंका जताई है. मौसम विज्ञान विभाग मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है. एक या दो स्थानों पर सात से 11 सेंटीमीटर की भारी बारिश हो सकती है.