• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • तो इस बार देर से पड़ेगी ठंड? मानसून वापसी के अभी नहीं दिख रहे संकेत

तो इस बार देर से पड़ेगी ठंड? मानसून वापसी के अभी नहीं दिख रहे संकेत

दक्षिण पश्चिम मॉनसून उत्तर पश्चिम भारत से तभी वापस होता है जब लगातार पांच दिनों तक इलाके में बारिश नहीं होती है.(सांकेतिक तस्वीर)

दक्षिण पश्चिम मॉनसून उत्तर पश्चिम भारत से तभी वापस होता है जब लगातार पांच दिनों तक इलाके में बारिश नहीं होती है.(सांकेतिक तस्वीर)

Weather Updates: दक्षिण पश्चिम मानसून पहले राजस्थान से वापस होना शुरू होता है. संशोधित तिथि के अनुसार, यह 17 सितंबर से जैसलमेर से वापस होना शुरू होता है. दक्षिण पश्चिम मानसून ने 2017, 2018, 2019 और 2020 में विलंब से वापसी शुरू की. मानसून के विलंब से वापस जाने का मतलब होता है कि ठंड भी देर से पड़ती है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. देश में इस वर्ष मानसून (Monsoon) लंबे समय तक जारी रह सकता हैं, क्योंकि सितंबर के अंत तक उत्तर भारत में बारिश में कमी आने के संकेत नहीं दिख रहे हैं. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मानसून उत्तर पश्चिम भारत से तभी वापस होता है जब लगातार पांच दिनों तक इलाके में बारिश नहीं होती है. निचले क्षोभ मंडल में चक्रवात रोधी वायु का निर्माण होता है और आर्द्रता में भी काफी कमी होना आवश्यक है.

    आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा, ‘‘अगले दस दिनों तक उत्तर भारत से मानसून की वापसी के संकेत नहीं दिख रहे हैं.’’ आईएमडी ने पिछले वर्ष भी उत्तर पश्चिम भारत से मानसून की वापसी की तारीख संशोधित की थी. पिछले कुछ वर्षों से मानसून की वापसी में विलंब होने के रुख को देखते हुए यह किया गया था.

    ये भी पढ़ें- देशभर में बुखार का प्रकोप, जानें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उठाए हैं क्या कदम?

    सबसे पहले राजस्थान से वापस होता है मानसून
    दक्षिण पश्चिम मानसून पहले राजस्थान से वापस होना शुरू होता है. संशोधित तिथि के अनुसार, यह 17 सितंबर से जैसलमेर से वापस होना शुरू होता है.

    दक्षिण पश्चिम मानसून ने 2017, 2018, 2019 और 2020 में विलंब से वापसी शुरू की.

    मानसून के विलंब से वापस जाने का मतलब होता है कि ठंड भी देर से पड़ती है.

    ये भी पढ़ें- UP और दिल्ली में अगले 48 घंटे मुश्किल भरे, बारिश से 7 की मौत, रेड अलर्ट जारी

    आधिकारिक रूप से दक्षिण पश्चिम मानसून एक जून से शुरू होता है और 30 सितंबर तक रहता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज