मानसून सत्र 2018: दिलचस्प चर्चाओं और यादगार लम्‍हों से सजा संसद का दिलचस्‍प सेशन

शुक्रवार को मानसून सत्र समाप्त हो गया तो चलिए एक नजर इस सत्र के महत्वपूर्ण क्षणों पर डालते हैं.

News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 10:16 PM IST
मानसून सत्र 2018: दिलचस्प चर्चाओं और यादगार लम्‍हों से सजा संसद का दिलचस्‍प सेशन
NEW DELHI, INDIA - JULY 24: Parliament building during the Monsoon Session on July 24, 2017 in New Delhi, India. (Photo by Raj K Raj/Hindustan Times via Getty Images)
News18Hindi
Updated: August 10, 2018, 10:16 PM IST
मानसून सत्र 2018 में कई दिलचस्प चर्चाएं हुई तो कुछ महत्वपूर्ण पल भी आए. सत्र की शुरुआत में विपक्ष द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने की वजह से इस सत्र के हंगामेदार होने की आशंका थी, हालांकि इसके बावजूद 24 में से 17 दिन सदन में कामकाज हुआ. शुक्रवार को मानसून सत्र समाप्त हो गया तो चलिए एक नजर इस सत्र के महत्वपूर्ण क्षणों पर डालते हैं.

अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा
मानसून सत्र में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा सबसे महत्वपूर्ण पलों में से एक थी. अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के के दौरान वैसे तो कई नेताओं ने शानदार स्पीच दी लेकिन राहुल गांधी का सदन में प्रधानमंत्री मोदी से गले मिलना यादगार बन गया. राहुल गांधी ने जब अपने भाषण में कहा कि प्रधानमंत्री अपनी आंख मेरी आंख में नहीं डाल सकते तो पीएम मोदी भी हंसने लगे.


Loading...

काम के बोझ से लदे मंत्री पीयूष गोयल
31 जुलाई को ऋणशोधन अक्षमता एवं दिवालिया संहिता (द्वितीय संशोधन विधेयक) बिल पर चर्चा के दौरान टीएमसी सांसद सौगात रॉय ने लोकसभा में पूछा कि पीयूष गोयल पूर्णकालिक वित्त मंत्री हैं अथवा कार्यवाहक. डिप्टी स्पीकर थंबीदुरई ने कहा कि पीयूष गोयल सदन को बता चुके हैं कि वित्त मंत्री अरुण जेटली हैं. रॉय ने कहा अगर ऐसा है तो फिर संशोधन विधेयक पर उनका नाम वित्त मंत्री के तौर पर क्यों लिखा गया है, 'पीयूष गोयल रेल मंत्री, वित्त मंत्री एवं कोयला मंत्री. 7 अगस्त को जब लोकसभा में 2018-19 के लिए अनुदान के लिए पूरक मांग और 2015-16 के लिए अतिरिक्त अनुदान पर चर्चा हो रही थी तब रॉय ने गोयल पर चुटकी लेते हुए उन्हें स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा काम के बोझ से लदा हुआ मंत्री बताया था.

ये भी पढ़ें: लोकसभा ने GST कानून में संशोधन संबंधी चार विधेयकों को दी मंजूरी

आंध्र को स्पेशल स्टेट्स पर बोले मनमोहन
24 जुलाई को आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने पर चर्चा हुई. इस मुद्दे पर राज्यसभा में चर्चा के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि उन्होंने बतौर प्रधानमंत्री आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा बीजेपी से विचार विमर्श के बाद किया था. डॉ. सिंह ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस वादे को पूरा करेंगे. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राज्य सभा में तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष जेटली के साथ विस्तार से विचार विमर्श के बाद यह प्रतिबद्धता व्यक्त की थी. पूर्व प्रधानमंत्री ने मोदी सरकार पर संसद में किए गए वादों को पूरा नहीं करने और राज्य की जनता के साथ ‘छल’ करने का आरोप लगाया.

अमित शाह के भाषण पर हंगामा
राज्य सभा में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एनआरसी को लेकर विपक्ष पर बांग्लादेशी घुसपैठियों को बचाने का आरोप लगाया जिस पर जमकर हंगामा हुआ और 31 जुलाई को सत्र स्थगित करना पड़ा. शाह ने इस दौरान विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा था कि हमारी सरकार से पहले किसी की इस मुद्दे को उठाने की हिम्मत नहीं थी.

पहली बार चुनी गई महिला सदस्य ने प्रश्नकाल की कार्यवाही संचालित की
मानसून सत्र में पहली बार चुनी गई महिला सदस्य ने प्रश्नकाल की कार्यवाही संचालित कर रिकॉर्ड कायम किया. यह सदन के इतिहास के पहली बार था जब किसी महिला सदस्य ने अपने पहले ही कार्यकाल में कार्यवाही का संचालन किया है. जेडीयू की कहकशां परवीन के नाम यह रिकॉर्ड दर्ज हुआ.



संसद में उठा जासूसी का मुद्दा
मॉनसून सत्र के चौथे दिन कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने लोकसभा में विपक्षी पार्टी के सांसदों की जासूसी का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि लोकसभा की कार्यवाही के दौरान ऑफिसर गैलरी में बैठा एक अधिकारी बार-बार उठकर विपक्षी पार्टी के सदस्यों को देख रहा है और कुछ नोट्स बना रहा है. कांग्रेस की ओर से इस मुद्दे को उठाने के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि वो इस मुद्दे को देखेंगी. संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा कि अधिकारी का संबंध उनके मंत्रालय से है और वह अपना काम कर रहा है.

हरिवंश नारायण बने राज्यसभा के उप-सभापति
राज्यसभा उप-सभापति पद के लिए हुए चुनाव में एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को जीत मिली. तीन बार हुई वोटिंग में उन्हें 125 वोट मिले जबकि विपक्ष के उम्मीवार बीके हरिप्रसाद को 105 वोट मिले. जीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने हरिवंश को बधाई दी और विभिन्न क्षेत्रों में उनके अनुभव को सदन के लिए गौरव का विषय बताया.



पीयूष गोयल ने मल्लिकार्जुन खड़गे को मुंबई से चुनाव लड़ने की चुनौती दी
जीएसटी से संबंधित संशोधन विधेयकों पर चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और वित्त मंत्री पीयूष गोयल के बीच तीखी कहासुनी हो गई और गोयल ने खड़गे को मुंबई में उनके खिलाफ चुनाव लड़ने की चुनौती तक दे डाली. विधेयक पेश करते समय करीब 45 मिनट के भाषण में वित्त मंत्री गोयल ने कहा कि जीएसटी पर कांग्रेस नीत यूपीए ने कुछ नहीं किया. उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस महज चार सीटों पर सिमट जाएगी.

करुणानिधि के निधन पर दोनों सदनों की कार्रवाई स्थगित
8 अगस्त को डीएमके नेता और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि को दोनों सदनों में श्रद्धांजलि के बाद दिवंगत नेता के सम्मान में संसद के दोनों सदनों की कार्रवाई को स्थगित किया गया. बता दें कि करुणानिधि कभी भी संसद के किसी सदन के सदस्य नहीं रहे लेकिन राजनीति में उनके कद को देखते हुए दोनों सदनों की कार्रवाई को स्थगित की गई.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर