महाराष्ट्र में और कड़े हुए कोरोना नियम, 22 अप्रैल से 1 मई तक नए प्रतिबंध

महाराष्ट्र में 14 अप्रैल की रात से कर्फ्यू लागू है.  (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र में 14 अप्रैल की रात से कर्फ्यू लागू है. (सांकेतिक तस्वीर)

बुधवार को देश में एक बार फिर सबसे ज्यादा मरीज सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) से सामने आए हैं. राज्य में 24 घंटे में 67468 नए मामले सामने आए हैं. कुल 568 लोगों ने महामारी से जान गंवाई है. एक्टिव केस की संख्या 695747 हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 10:52 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में बुधवार को रिकॉर्ड कोरोना केस सामने आने के बाद राज्य सरकार ने नियम (New Guidelines) और सख्त कर दिए हैं. अब 22 अप्रैल से 1 मई तक और सख्त नियमों की घोषणा की गई है. बुधवार को देश में एक बार फिर सबसे ज्यादा मरीज सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र से सामने आए हैं. राज्य में 24 घंटे में 67468 नए मामले सामने आए हैं. कुल 568 लोगों ने महामारी से जान गंवाई है. एक्टिव केस की संख्या 695747 हो चुकी है.

नए नियमों के मुताबिक अब कोई भी शादी समारोह सिर्फ एक हॉल के भीतर संपन्न कराया जाएगा. कोई भी समारोह दो घंटे से ज्यादा नहीं चलेगा. अधिकतम 25 लोग शामिल हो सकते हैं. कोई भी परिवार अगर इन नियमों को तोड़ता हुआ पाया गया तो उस पर 50 हजार का जुर्माना लगाया जाएगा. नए नियमों के मुताबिक अब सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल अब सिर्फ मूलभूत सेवाओं में शामिल लोग ही कर सकेंगे.

सरकारी दफ्तरों में कम की जाएगी कर्मचारियों की संख्या

वहीं सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की अधिकतम संख्या 15 प्रतिशत रहेगी. इसमें सिर्फ इमरजेंसी सर्विसेज में लगे डिपार्टमेंट को छूट मिलेगी. छूट मिली कैटगरी में सभी प्राइवेट दफ्तरों से भी अब वर्कफोर्स को 50 प्रतिशत की बजाए 15 प्रतिशत करने को कहा गया है.
बता दें कि मंगलवार को महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने राज्य में ऑक्सीजन की स्थिति का जिक्र कर संपूर्ण लॉकडाउन की तरफ इशारा किया था. राज्य में 14 अप्रैल की रात से कुछ छूट के साथ 15 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की गई थी. तब सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए सख्त प्रतिबंध जरूरी हैं. हालांकि सरकार की तरफ से इसे लॉकडाउन का नाम नहीं दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज