वैक्सीन के लिए 1.33 करोड़ लोगों ने दिया आवेदन, 5 पॉइंट्स में जानें कैसा रहा रजिस्ट्रेशन का पहला दिन

फिलहाल भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार कोविशील्ड और भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. अधिकारियों ने जानकारी दी है कि आने वाले कुछ हफ्तों में रूस की स्पूतनिक-5 भी उपलब्ध हो जाएगी. केंद्र सरकार ने विदेशी वैक्सीन उम्मीदवारों की मंजूरी प्रक्रिया को फास्ट ट्रेक कर दिया है. (सांकेतिक फोटो)

फिलहाल भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार कोविशील्ड और भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. अधिकारियों ने जानकारी दी है कि आने वाले कुछ हफ्तों में रूस की स्पूतनिक-5 भी उपलब्ध हो जाएगी. केंद्र सरकार ने विदेशी वैक्सीन उम्मीदवारों की मंजूरी प्रक्रिया को फास्ट ट्रेक कर दिया है. (सांकेतिक फोटो)

Registration for Vaccination: रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि रजिस्ट्रेशन के पहले दिन ही करीब 1.33 करोड़ लोगों ने नए चरण के लिए आवेदन दिया है. बुधवार को शुरू हुई इस प्रक्रिया के पहले दिन कई तरह की तकनीकी खामियां भी नजर आईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 6:51 AM IST
  • Share this:
Covid-19 Vaccination in India 4th Phase: भारत में 1 मई से टीकाकरण का चौथा चरण शुरू हो रहा है. इस चरण में सरकार ने 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) लगाने का फैसला किया है. बीते बुधवार से इस चरण में टीका लगवाने के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया भी शुरू हो गई है. सामने आए शुरुआती आंकड़ों ने इशारा किया है कि बड़ी संख्या में नागरिक वैक्सीन लगवाने की तैयारी में हैं.


रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि रजिस्ट्रेशन के पहले दिन ही करीब 1.33 करोड़ लोगों ने नए चरण के लिए आवेदन दिया है. बुधवार को शुरू हुई इस प्रक्रिया के पहले दिन कई तरह की तकनीकी खामियां भी नजर आईं. कोविन ऐप पर बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने के कारण सर्वर भी प्रभावित हुआ था. हालांकि, अच्छी खबर यह रही कि कुछ ही समय में इन्हें ठीक भी कर लिया गया था और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया जारी रही.

5 पॉइंट्स में समझते हैं, कैसा रहा रजिस्ट्रेशन प्रोसेस का पहला दिन:-
भाषा के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि 18 साल से अधिक आयु के सभी नागरिक कोविड-19 रोधी टीका लगवाने के लिए बुधवार को शाम चार बजे से कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु ऐप के जरिए पंजीकरण करा सकते हैं. सरकार एक मई से टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण शुरू करने के लिए तैयार है. अधिकारियों ने बताया कि पंजीकरण कराने के लिए 18 से 44 साल तक की आयु के लोगों के लिए कोविड-19 टीका लगवाने का समय लेना अनिवार्य होगा क्योंकि शुरुआत में सीधे आकर टीका लगवाने की अनुमति नहीं दी जाएगी.
बताया जा रहा है कि शुरुआती परेशानियों के बाद CoWIN साइट पर प्रति मिनट करीब 27 लाख लोग पहुंच रहे थे. जानकारी दी गई है कि राज्यों और निजी टीकाकरण केंद्रों की तरफ से जारी किए गए स्लॉट्स के हिसाब से लोगों को अपॉइंटमेंट्स दिए गए. इस दौर में 18-44 आयु वर्ग को टीका लगाया जा रहा है.
सरकारी सूत्रों ने बताया है कि अपॉइंटमेंट्स के लिए जल्द ही और ज्यादा स्लॉट्स उपलब्ध कराए जाएंगे. कहा गया है कि अगर स्लॉट उपलब्ध नहीं होते हैं, तो कुछ देर बाद जांच करें. 'हम आपसे धैर्य रखने और समझ का अनुरोध करते हैं.' अगर आप भी वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं, तो https://www.cowin.gov.in/home पर जाएं और register/sign-in ऑप्शन पर क्लिक करें.
शुरुआत में आई तकनीकी परेशानियों के बाद केंद्र सरकार की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए तैयार ऐप आरोग्य सेतु की तरफ से ट्वीट किया गया. इसमें कहा गया था 'कोविन पोर्टल काम कर रहा है. शाम 4 बजे एक मामूली गड़बड़ थी जिसे ठीक कर दिया गया था. 18+ पंजीकरण करा सकते हैं.' इस सुधार के बाद लोगों ने बताया कि साइट काम कर रही है और अपॉइंटमेंट दिए जा रहे हैं.
फिलहाल भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार कोविशील्ड और भारत बायोटेक की बनाई कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है. अधिकारियों ने जानकारी दी है कि आने वाले कुछ हफ्तों में रूस की स्पूतनिक-5 भी उपलब्ध हो जाएगी. केंद्र सरकार ने विदेशी वैक्सीन उम्मीदवारों की मंजूरी प्रक्रिया को फास्ट ट्रेक कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज