अपना शहर चुनें

States

पंजाब के NGO का दावा- लाल किले की हिंसा के बाद अब भी 100 से ज्यादा किसान लापता

लापता हुए ये किसान 23 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए पंजाब से दो ट्रैक्टरों पर बैठकर दिल्ली के लिए निकले थे.  (फाइल फोटो)
लापता हुए ये किसान 23 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए पंजाब से दो ट्रैक्टरों पर बैठकर दिल्ली के लिए निकले थे. (फाइल फोटो)

Delhi Red Fort Violence: मनजिंदर सिंह सिरसा (Manjinder Singh Sirsa) ने बताया कि एक घायल किसान सेंट स्टीफन अस्पताल में भी भर्ती है. ज्यादातार किसानों को सार्वजनिक संपत्ति अधिनियम, प्राचीन स्मारकों और पुरातत्व स्थलों और अवशेष अधिनियम और महामारी रोग अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2021, 7:59 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. दिल्ली लाल किले पर हुई हिंसक (Delhi Red Fort Violence) घटना के बाद आंदोलन में हिस्सा ले रहे 100 से ज्यादा किसान लापता हो गए हैं. यह किसान न तो अपने घरों में वापिस पहुंचे हैं और न ही बॉर्डर पर धरना स्थलों पर मौजूद हैं, जबकि दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अभी तक 18 किसानों के गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की है. इनमें से 7 किसान बठिंडा जिले के तलवंडी साबो उपमंडल के तहत आने वाले बंगी निहाल सिंह गांव के रहने वाले हैं. लापता हुए ये किसान 23 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए पंजाब से दो ट्रैक्टरों पर बैठकर दिल्ली के लिए निकले थे. 26 जनवरी के दिन हुई हिंसा के बाद पश्चिम विहार पुलिस स्टेशन में हुई FIR के संबंध में इन्हें गिरफ्तार कर किया गया था.

ट्रैक्टरों से परेड में हिस्सा लेने पहुंचे दिल्ली
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (Delhi Sikh Gurdwara Parbandhak Committee) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा (Manjinder Singh Sirsa) ने मीडिया को दिए एक बयान में कहा है कि मोगा के 11 किसानों को नांगलोई पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जो अब तिहाड़ जेल में हैं. मोगा के ही तातारी वाला गांव के 12 लोग 26 जनवरी की घटना के बाद से ही लापता हैं. मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि एक घायल किसान सेंट स्टीफन अस्पताल में भी भर्ती है. ज्यादातार किसानों को सार्वजनिक संपत्ति अधिनियम, प्राचीन स्मारकों और पुरातत्व स्थलों और अवशेष अधिनियम और महामारी रोग अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.

किसानों को मिलेगी मुफ्त कानूनी सहायता
पंजाब ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन एनजीओ ने दावा किया है कि पंजाब से दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के लिए आए 100 से ज्यादा किसान लापता हैं.



उधर पंजाब ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन के अलावा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, खालसा मिशन और कई अन्य संगठनों ने गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के संबंध में गिरफ्तार किए गए लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता देने की घोषणा की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज