कोराना वायरस से इटली में 4000 मौतें, 1 दिन में गई 627 लोगों की जान

कोराना वायरस से इटली में 4000 मौतें, 1 दिन में गई 627 लोगों की जान
भारत में अब तक कोरोना के करीब 500 मामले सामने आए हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

देश में कोरोना वायरस (CoronaVirus) के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं. इसे देखते हुए पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को जनता कर्फ्यू की अपील की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2020, 12:28 AM IST
  • Share this:



नई दिल्‍ली. दुनिया भर में कोरोना वायरस महामारी की चपेट में आकर शुक्रवार तक करीब 10 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. चीन से फैले वायरस ने पूरी दुनियाभर के करोड़ों लोगों को अपने घरों में रहने को मजबूर कर दिया है. इटली में कोरोना वायरस से एक दिन में 627 लोगों की मौत हो गई है. इसके साथ ही इस बीमारी से मरने वालों की संख्‍या इटली में 4000 से अधिक हो गई है.

भारत के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण के 50 नये मामले सामने आने के बाद शुक्रवार रात तक कुल मामलों की संख्या 223 पहुंच गई है, जबकि संक्रमितों के संपर्क में आने वाले 6,700 से अधिक लोगों को कड़ी निगरानी में रखा गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.
इटली में हुईं 3,405 मौंतें


यूरोप में कोरोना वायरस ने पांच हजार से अधिक लोगों की जान ले ली. बुरी तरह प्रभावित इटली में मृतकों का आंकड़ा 4000 से अधिक जा पहुंचा है. पाकिस्तान में कोरोना वायरस से तीसरी मौत का मामला सामने आने के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को जनता से कम से कम 45 दिनों के लिए खुद को पृथक रखने की अपील की. पाकिस्तान में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 464 तक पहुंच गई. तीसरी मौत का मामला सिंध प्रांत में सामने आया है, जहां संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं.



घर पर रहने को कहा गया
महामारी से लड़ने के लिए अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य ने बड़ा कदम उठाते हुए लोगों से किसी भी हाल में अपने घर में ही रहने को कहा है. हालांकि, कैलिफोर्निया में बचाव नियमों को पुलिस द्वारा लागू नहीं किया गया है, जिस तरह फ्रांस, इटली, स्पेन और अन्य यूरोपिय देशों में नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना भरना पड़ रहा है.

चीन में दिखी राहत
जर्मनी के सबसे बड़े राज्य बायर्न ने शुक्रवार को देश में सबसे पहले दो हफ्तों के लिए बाहर निकलने के तहत 'मौलिक प्रतिबंधों' का आदेश जारी किया. वहीं, चीन में कुछ राहत देखने को मिली है. हालांकि चीन में अभी कुछ मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन ज्यादातर मामले विदेशों से आने वालों में हैं.

अमेरिका निपटने में जुटा
इस बीच, अमेरिका ने संकेत दिए हैं कि वह सभी मोर्चों पर अपने प्रयासों को तेज कर रहा है. इसके तहत वायरस के इलाज के लिए दवा विकसित करने के साथ ही आर्थिक मोर्चे की दिक्कतों को दूर करने के लिए एक हजार अरब के आपातकालीन राहत पैकेज का वादा किया है.

पूरे यूरोप में कडे़ प्रतिबंध लागू 
पूरे यूरोप में सरकारों ने कडे़ प्रतिबंध लागू किए हुए हैं. फ्रांस में पहले ही दिन प्रतिबंधों का उल्लंघन करने पर चार हजार से अधिक लोगों का जुर्माना किया गया था. फ्रांस और इटली दोनों ने कहा है कि वे प्रारंभिक अवधि से अधिक समय तक प्रतिबंध का विस्तार करेंगे, जबकि ब्रिटेन के स्कूल शुक्रवार को अनिश्चित काल के लिए बंद हो जाएंगे.

अफ्रीका में कोरोना के 700 मामले
इस बीच, विश्व में कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित देशों में चौथे स्थान पर मौजूद स्पेन के कम आबादी वाले ग्रामीण स्थानों में लोग बुजुर्ग पड़ोसियों और संक्रमित लोगों की मदद को आगे आ रहे हैं. मेड्रिड के लोविंगोस के रहने वाले 30 वर्षीय सर्जियो कैमिनेरो ने बताया कि वह एक बुजुर्ग पड़ोसी के लिए जरूरी सामान लेने गए क्योंकि वह काफी डर और तनाव में थीं. वहीं, अफ्रीका में कोरोना वायरस के अब तक करीब 700 मामले सामने आए हैं.

भारत में 22 मार्च को जनता कर्फ्यू
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने लोगों से अपील की कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सामाजिक मेलजोल से दूरी हेतु जनता कर्फ्यू के आह्वान का अनुपालन करें. उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे टोल फ्री नंबर 1075 का इस्तेमाल कोई भी जानकारी प्राप्त करने या किसी अफवाह एवं भ्रमित सूचना को लेकर अपनी आशंका दूर करने के लिए करें.

यह भी पढ़ें: Covid 19: MP में पहली बार मिले कोरोना के चार पॉजिटिव मरीज, मचा हड़कंप


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज