लाइव टीवी

केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार बोले- रोजगार की नहीं, उत्‍तर भारत में योग्य लोगों की कमी

News18Hindi
Updated: September 15, 2019, 2:19 PM IST
केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार बोले- रोजगार की नहीं, उत्‍तर भारत में योग्य लोगों की कमी
केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्‍यमंत्री संतोष गंगवार ने कहा है कि देश में रोजगार की कोई कमी नहीं है.

संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने कहा, हमारे उत्‍तर भारत में जो रिक्रूटमेंट करने आते हैं, इस बात का सवाल करते हैं कि जिस पद के लिए हम रख रहे हैं, उसकी क्‍वालिटी का व्‍यक्‍ति हम कम मिलता है. नौकरियों पर गंंगवार के जवाब में प्रियंका गांधी ने उन पर निशाना साधा हैै.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 2:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने देश में रोजगार (employment) पर बड़ा बयान दिया है. देश में जब नौकरियों के मामले में बड़ा संकट है, ऐसे में केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्‍यमंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि देश में रोजगार की कोई कमी नहीं है. इसी दौरान उन्‍होंने उत्‍तर भारत की प्रतिभाओं पर भी बड़ा प्रश्‍चचिह्न लगा दिया. आईवीआरआई सभागार में मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए संतोष गंगवार ने कहा कि देश के इस हिस्‍से में जो रिक्रूटमेंट करने आते हैं, वह योग्‍य व्‍यक्‍ति न मिलने का दावा करते हैं.

संतोष गंगवार ने कहा, 'हमारे उत्‍तर भारत में जो रिक्रूटमेंट करने आते हैं, इस बात का सवाल करते हैं कि जिस पद के लिए हम रख रहे हैं, उसकी क्‍वालिटी का व्‍यक्‍ति हमें कम मिलता है.'



संतोष गंगवार के इस बयान पर विवाद होना तय है. प्रियंका गांधी ने उनकी सरकार को नौकरियां न होने के लिए उन पर निशाना साधा है.
Loading...

प्रियंका ने साधा निशाना
प्रियंका ने साधा निशाना


संतोष गंगवार ने इस बातचीत के दौरान सरकार के 100 दिन के काम का उल्‍लेख भी किया. उन्‍होंने कहा, हमारी सरकार ने किसान, श्रमिक, छोटे व्यापारी, श्रम कानून सरलीकरण का काम किया है.

संतोष गंगवार ने तीन तलाक, अनुच्छेद 370 हटाने जैसे कदमों का भी उल्‍लेख किया. उन्‍होंने जोर देकर कहा, पहले जम्मू-कश्मीर में कई केंद्रीय कानून लागू नहीं होते थे, लेकिन अब वहां भी हम ये कानून लागू करेंगे. श्रम मंत्रालय अब श्रीनगर में सौ बेड की क्षमता वाला अस्पताल और भविष्य निधि संगठन कार्यालय भी खोलेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 15, 2019, 1:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...