लाइव टीवी

Delhi Assembly Election 2020: मुस्लिम इलाकों में हुई बंपर वोटिंग, सीलमपुर रहा सबसे आगे

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 9:47 AM IST
Delhi Assembly Election 2020: मुस्लिम इलाकों में हुई बंपर वोटिंग, सीलमपुर रहा सबसे आगे
दिल्ली में वोटिंग के दौरान लंबी कतारें देखी गई

दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly Elections 2020) में इस साल वोटिंग में करीब 6 फीसदी की कमी आई. साल 2015 के चुनाव में 67.12 फीसदी वोटिंग हुई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 9:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly Elections)  के लिए शनिवार को वोट डाले गए. 70 सीटों पर हुए मतदान में दोपहर तक काफी कम वोटिंग (Voting) हुई थी, लेकिन दिन ढलते-ढलते लगभग हर मतदान केंद्र पर वोटरों की भारी भीड़ देखी गई. खास कर मुस्लिम बाहुल इलाकों में सबसे ज़्यादा वोटिंग हुई. पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर में 71 फीसदी से ज़्यादा वोटिंग हुई.

वोटिंग में 6 % की कमी
चुनाव आयोग के मुताबिक, दिल्ली में 61.7 फीसदी वोटिंग हुई. ये आकंड़े देर रात तक के हैं. बता दें कि आयोग को वोटिंग परसेंटेज के आंकड़े एक खास ऐप के जरिये मिलते हैं. अगर तुलना करें तो इस साल वोटिंग में करीब 6 फीसदी की कमी आई. साल 2015 के चुनाव में 67.12 फीसदी वोटिंग हुई थी.

सीलमपुर सबसे आगे

आंकड़ों पर नजर डालें तो सीलमपुर में सबसे ज़्यादा 71.4 फिसदी वोटिंग हुई. इसके बाद मुस्तफाबाद में 70.55, बदरपुर में 65.4 और सीमापुरी में 68.08 फीसदी लोगों ने वोट डाले. इसके बाद शहादरा (65.78%) और मटियामहल (68.36) फीसदी वोटिंग हुई. ये आंकड़े फिलहाल फाइनल नहीं है और इसमें बदलाव भी हो सकते हैं.

शाहीन बाग और चांदनी चौक का हाल
जिन मुस्लिम बाहुल इलाकों में कम वोटिंग हुई, वो हैं चांदनी चौक (60.91%), रिठाला (59.62%), बल्लिमारन (58.28%) और ओखला (58.33%). बता दें कि ओखला विधानसभा क्षेत्र में ही शाहीन बाग का इलाका भी आता है, जहां पिछले करीब दो महीने से नागरिकता संशोधित कानून (CAA) के खिलाफ धरना-प्रदर्शन हो रहा है. साल 2015 के चुनाव में मुस्तफाबाद को छोड़कर बाकी सभी सीटों पर आम आदमी पार्टी को जीत मिली थी. मुस्तफाबाद से बीजेपी के जगदीश प्रधान ने जीत दर्ज की थी.70 सीटों पर मतदान
दिल्ली की सभी 70 सीटों पर मतदान के लिए 2689 जगहों पर कुल 13,757 पोलिंग बूथ बनाए गए. चुनावी प्रक्रिया में 90 हजार कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई. शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव के लिए पोलिंग बूथ पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए.

 

ये भी पढ़ें: Delhi Exit Poll 2020: बस इस एक सर्वे से BJP को दिल्ली में है जीत की उम्मीद

Exit Poll: क्या दिल्ली की अवाम को नहीं भाए परवेश वर्मा के आक्रामक बयान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 9:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर