सांसदों का व्यवहार रोल मॉडल की तरह होना चाहिए, आजकल गिर रहा है बहस का स्तर: उपराष्ट्रपति

वेंकैया नायडु ने चिंता जाहिर की है. (तस्वीर-ani)

वेंकैया नायडु ने चिंता जाहिर की है. (तस्वीर-ani)

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (VP Venkaiah Naidu) ने कहा है कि व्यवहार और आलोचना के लिए सांसदों को मर्यादित भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए. लेकिन आजकल कई बार बहस स्तर गिर जाता है. इसी वजह से लोगों की निगाह में जनप्रतिनिधियों की छवि गिर रही रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 9:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (VP Venkaiah Naidu) ने राजनीति में बहस के गिरते स्तर पर चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा है कि सांसदों का व्यवहार एक रोल मॉडल की तरह होना चाहिए. उन्होंने कहा कि व्यवहार और आलोचना के लिए सांसदों को मर्यादित भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए. लेकिन आजकल कई बार बहस स्तर गिर जाता है. इसी वजह से लोगों की निगाह में जनप्रतिनिधियों की छवि गिर रही है.

उपराष्ट्रपति ने शुक्रवार को ट्वीट किया-सदन में चर्चा का स्तर गिर रहा है. लोगों की नजर में नेताओं की छवि गिर रही है. मेरी सब निर्वाचित सदस्यों से अपील है कि पद की गरिमा और अपने कर्तव्यों का ध्यान रखें.



सदन में मोबाइल रिकॉर्डिंग को लेकर सांसदों को चेता चुके हैं राष्ट्रपति
गौरतलब है कि दो दिन पहले राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान वेंकैया नायडू ने किसी का नाम लिए बगैर कहा, 'ऐसा महसूस किया गया है कि कुछ सदस्य कक्ष में बैठकर सदन की कार्यवाही को अपने मोबाइल के कैमरों में रिकॉर्ड कर रहे हैं. यह संसदीय शिष्टाचार के खिलाफ है और सदस्यों से इसकी अपेक्षा नहीं की जाती.' उन्होंने कहा कि सदस्यों को कक्ष में ऐसी 'अवांछित' गतिविधियों से बचना चाहिए. सभापति ने कहा, 'ऐसी अनधिकृत रिकॉर्डिंग और सोशल मीडिया पर उनका प्रसार संसदीय विशेषाधिकारों के हनन और सदन की अवमानना के दायरे में आ सकता है.'

आप के तीन सदस्यों को दिनभर के लिए किया था निलंबित

राज्यसभा में बीते बुधवार को आम आदमी पार्टी के तीन सदस्यों संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता को सदन की कार्यवाही बाधित करने पर दिन भर के लिए निलंबित कर दिया गया था. आप सदस्यों ने सभापति द्वारा चेताए जाने के बावजूद नए कृषि कानूनों का विरोध जारी रखा था और नारेबाजी शुरू कर दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज