एमएसपी रहेगा, नये कृषि कानूनों से पंजाब में भी किसानों को मिलेगा फायदा: पुरी

आढ़तियों को इन सुधारों के लाभों के बारे में बताते हुए, पुरी ने कहा कि ये कानून उनके लिए भी नए अवसर पैदा करेंगे. (फाइल फोटो)
आढ़तियों को इन सुधारों के लाभों के बारे में बताते हुए, पुरी ने कहा कि ये कानून उनके लिए भी नए अवसर पैदा करेंगे. (फाइल फोटो)

Farm Laws: पंजाब और हरियाणा (Punjab & Haryana) और अन्य राज्यों में किसान नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं, जिसके बारे में उन्हें लगता है कि खरीद का काम कॉरपोरेट्स के हाथ में चला जायेगा और न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) की व्यवस्था खत्म कर दी जायेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) मंगलवार को कांग्रेस (Congress) शासित पंजाब (Punjab) में कृषि क्षेत्र (Agriculture Sector) के वैज्ञानिकों, प्रोफेसरों और वरिष्ठ पेशेवरों से मुलाकात की तथा नये कृषि कानूनों (Farm Laws) के बारे में गलतफहमियों को यह कहकर दूर करने का प्रयास किया कि इन कानूनी सुधारों से 'आढ़तियों’ (कमीशन एजेंट) को भी फायदा होगा. मंत्री ने यह भी कहा कि एमएसपी व्यवस्था (MSP System) कायम रहेगी.

पंजाब और हरियाणा (Punjab & Haryana) और अन्य राज्यों में किसान नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं, जिसके बारे में उन्हें लगता है कि खरीद का काम कॉरपोरेट्स के हाथ में चला जायेगा और न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) की व्यवस्था खत्म कर दी जायेगी. पुरी ने एक वर्चुअल बैठक में कहा, ‘‘पंजाब में, कुछ लोग फर्जी प्रचार कर रहे हैं और किसानों को उनकी आय बढ़ाने के लिए इन कानूनों के लाभों को जानने के बावजूद वे नए कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताते हुए सरकार के खिलाफ किसानों को उकसा रहे हैं.’’

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस से बचने के लिए कौन सा मास्क सबसे सही? सरकार ने दिया जवाब



आढ़तियों को इन सुधारों के लाभों के बारे में बताते हुए, पुरी ने कहा कि ये कानून उनके लिए भी नए अवसर पैदा करेंगे.
मंत्री पंजाब में तरनतारन (Tarantaran) और अमृतसर (Amritsar) से कृषि क्षेत्र के वैज्ञानिकों, प्रोफेसरों और अन्य वरिष्ठ पेशेवरों के साथ बातचीत कर रहे थे. अपनी बातचीत के दौरान, पुरी ने यह भी कहा कि पंजाब में एमएसपी में अनाज की खरीद में वृद्धि हुई है.

ये भी पढ़ें- COVID-19 गाइडलाइन उल्लंघन:नरेंद्र सिंह तोमर,कमलनाथ सहित कई नेताओं पर होगी FIR

8 कैबिनेट कर रहे हैं कृषि कानूनों के समर्थन में रैलियां
केंद्रीय कृषि कानूनों के विरुद्ध व्यापक स्तर पर विरोध प्रदर्शन के बीच किसानों (Farmers) की चिंताओं का समाधान करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री, पंजाब (Punjab) में मंगलवार से आठ दिन तक रैलियों को संबोधित कर रहे हैं. डिजिटल माध्यम से आयोजित इन रैलियों को संबोधित करने वाले मंत्रियों में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Civil Aviation Minister Hardeep Singh Puri), जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत (Jal Shakti Minister Gajendra Singh Shekhawat) और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) शामिल हैं.

इनके अलावा कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी (Kailash Chaudhary), वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur), पशुपालन राज्यमंत्री संजीव बालियान (Sanjeev Baliyan), वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश (Som Prakash) और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) भी डिजिटल सभाओं को संबोधित करने वाले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज