• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • यूनिवर्सिटी और केन्द्र सरकार नहीं एएमयू का छात्रसंघ लेगा जिन्ना की तस्वीर हटाने पर फैसला, जानिए वजह

यूनिवर्सिटी और केन्द्र सरकार नहीं एएमयू का छात्रसंघ लेगा जिन्ना की तस्वीर हटाने पर फैसला, जानिए वजह

AMU में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर फिर गरमाया विवाद.

AMU में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर फिर गरमाया विवाद.

वहीं एएमयू (AMU) प्रशासन ने इस सारे मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि मोहम्मद अली जिन्ना (Mohammad Ali Jinnah) तस्वीर लगाने या हटाने से उसका कोई संबंध नहीं है. गौरतलब रहे पूर्व में सांसद (Member of parliament) सतीश गौतम भी इस मामले को उठा चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्ली. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में लगी पाकिस्तान के कायदे आज़म मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर एक बार फिर से चर्चाएं शुरु हो गई हैं. अलीगढ़ के एक बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता ने इस मामले में पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) को खून से एक पत्र लिखा है. पत्र में जिन्ना को भारत माता के टुकड़े करने वाला बताकर जल्द से जल्द तस्वीर हटवाने की मांग की गई है. जबकि साल 2018 लोकसभा (Lok Sabha) में एक सवाल-जवाब के संबंध में केन्द्र सरकार पहले ही कह चुकी है कि तस्वीर हटाने का फैसला एएमयू की छात्रसंघ यूनियन लेगी. वहीं एएमयू प्रशासन ने इस सारे मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि तस्वीर लगाने या हटाने से उसका कोई संबंध नहीं है. गौरतलब रहे पूर्व में सांसद सतीश गौतम भी इस मामले को उठा चुके हैं.

तस्वीर हटाने पर लोकसभा में हुए थे यह सवाल-जवाब

2018 में लोकसभा सत्र के दौरान बीजेपी के सांसद अश्वनी कुमार ने लोकसभा में जिन्ना की तस्वीर के संबंध में एक सवाल पूछा था. सांसद ने सवाल उठाते हुए पूछा था कि क्या एएमयू में जिन्ना ही तस्वीर को हटाने के लिए कोई मांग पत्र मिला है. सरकार ने इस संबंध में क्या कदम उठाए हैं. क्या सरकार भारतीयों की भावनाओं को आहत कर रहे इस मामले में कोई पहल करेगी. और उन्होंने ये भी पूछा था कि क्या सरकार एएमयू छात्रसंघ से जिन्ना की आजीवन सदस्यता समाप्त करेगी.

सांसद अश्वनी कुमार के सवाल के जवाब में उस वक्त मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ. सत्यपाल सिंह का कहना है कि इस बारे में उन्हें एएमयू ने बताया है कि एक सांसद ने तस्वीर हटाने के मामले पर चिठ्ठी लिखी है. एएमयू ने ये भी कहा है कि छात्रसंघ को भंग कर दिया गया है. और तस्वीर हटाने के मामले में कोई भी फैसला नए बनने वाले छात्रसंघ द्वारा लिया जाएगा. एएमयू छात्रसंघ से जिन्ना की आजीवन सदस्यता समाप्त करने के सवाल पर डॉ सत्यपाल का कहना है कि इस मामले में तो सवाल ही नहीं उठता है.

जेवर एयरपोर्ट पर न लगे जाम, इसके लिए बनाई जाएंगी टनल्स, जानिए पूरा प्लान

यह बोले- छात्र यूनियन के पूर्व अध्यक्ष

इस संबंध में जब छात्र यूनियन के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर यूनियन हॉल की दूसरी मंजिल पर बने एक हॉल में लगी हुई है. इस हॉल में करीब 30 से अधिक तस्वीरें लगी हुई हैं. इन्हीं सब तस्वीर के बीच में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर भी लगी हुई है. दलाई लामा और कुछ अंग्रेज अफसरों सहित दूसरे लोगों की तस्वीर भी लगी हुई है. यूपी इलेक्शन को देखते हुए यह सब इनका चुनावी स्टंट है.

एएमयू प्रशासन का नहीं कोई लेना-देना

मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर छात्रसंघ यूनियन हॉल में लगी हुई है. लाइफ टाइम मेम्बरशिप देने का काम भी यूनियन का ही है. यूनियन हॉल में और दूसरे लोगों संग मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगाने का काम भी यूनियन का ही है. इससे एएमयू प्रशासन का कोई लेना-देना नहीं है. प्रोफेसर शाफे किदवई, एमआईसी, एएमयू पीआरओ आफिस

आरटीआई से हुआ था जिन्ना की तस्वीर का खुलासा

जिन्ना की तस्वीर एएमयू के स्टूडेंट यूनियन हॉल में लगी हुई है, इस बात का खुलासा एक आरटीआई से हुआ था. आरटीआई में ये सवाल आलोक कुमार नाम के एक युवक ने पूछा था. आरटीआई दाखिल होते ही एएमयू में जिन्ना की तस्वीर तलाशने का काम शुरु हो गया था. क्योंकि खुद एएमयू के केन्द्रीय सूचना अधिकारी को भी ये नहीं मालूम था कि आखिरकार जिन्ना की तस्वीर किस विभाग में लगी है. जानकारों की मानें तो इसके बाद सूचना अधिकारी ने हर एक विभाग में आरटीआई का पत्र भेजकर तस्वीर से संबंधित जानकारी मांगी थी. तब कहीं जाकर मालूम हुआ था कि जिन्ना की तस्वीर स्टूडेंट यूनियन हॉल में लगी हुई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज