मुख्‍तार अंसारी पर SC में आमने-सामने यूपी-पंजाब, SG बोले- गैंगस्‍टर को बचा रही अमरिंदर सरकार

पंजाब की जेल में बंद है मुख्‍तार अंसारी. (File pic)

पंजाब की जेल में बंद है मुख्‍तार अंसारी. (File pic)

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मामले एक हफ्ते के लिए टाल दिया है. लेकिन सिर्फ एक मिनट की सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों में तीखी नोकझोंक देखने को मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 5:48 PM IST
  • Share this:
सुशील पांडेय/एहतेशाम खान

नई दिल्‍ली. बाहुबली मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को लेकर यूपी और पंजाब सरकार सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में आमने सामने है. बुधवार को हुई सुनवाई में यूपी सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा है कि पंजाब सरकार बेशर्मी के साथ एक गैंगस्टर को बचा रही है. हालांकि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले एक हफ्ते के लिए टाल दिया है. लेकिन सिर्फ एक मिनट की सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों में तीखी नोकझोंक देखने को मिली.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा है कि पंजाब सरकार बेशर्मी के साथ मुख्तार अंसारी को बचा रही है. राज्‍य सरकार और मुख्‍तार अंसारी के बीच मिलीभगत है. मुख्तार अंसारी फिलहाल पंजाब के रोपड़ जेल में एक हत्या के मामले में बंद है. यूपी सरकार उन्हें यूपी के जेल में लाकर यहां दर्ज मुकदमों का निपटारा करना चाहती है. पंजाब सरकार मुख्तार अंसारी को अपनी जेल से नहीं छोड़ रही है.

बुधवार को हुई सुनवाई में मुख्तार अंसारी के वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि मुख्तार अंसारी एक छोटा आदमी है. लेकिन दो राज्य सरकारें इस पर आपस में लड़ रही हैं. अगर वो इतना महत्वपूर्ण है तो उसको मुख्यमंत्री क्यों नहीं बना देते. इस पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने भी चुटकी लेते हुए कहा कि पंजाब सरकार यही तो कर रही है.
Youtube Video


फिलहाल इस मामले को एक हफ्ते के लिए टाल दिया गया है. बुधवार को सुनवाई से पहले यूपी सरकार ने हलफनामा दाखिल किया था. यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी के जेल में ट्रांसफर करने की मांग की.

यूपी सरकार ने हलफनामे में कहा है कि यूपी सरकार मुख्तार अंसारी की सुरक्षा और उसके स्वास्थ्य को लेकर प्रतिबद्ध है. सुप्रीम कोर्ट अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर मुख्तार को वापस यूपी भेजे. यूपी सरकार ने कहा कि मोहाली में दर्ज केस भी प्रयागराज ट्रांसफर किया जाए. यूपी सरकार ने कहा कि मुख्तार अंसारी पर प्रयागराज के MP/MLA कोर्ट में जघन्य अपराध के 10 केस दर्ज हैं.



यूपी सरकार ने हलफनामे में कहा कि बांदा जेल सुपरिटेंडेंट ने बिना MP/MLA कोर्ट की अनुमति के मुख्तार अंसारी को पंजाब पुलिस को सौंपा था. यूपी सरकार ने कहा कि मुख्तार अंसारी के खिलाफ कई बार पेशी वारंट जारी हुआ लेकिन रोपड़ जेल अधिकारी अंसारी को बीमार बताते रहे. यूपी सरकार ने हलफनामे में कहा कि मोहाली मामले में 2 साल से चार्जशीट दाखिल नहीं हुई है लेकिन फिर भी अंसारी वहां जमानत नहीं मांग रहा है, मिलीभगत साफ दिख रही है.



मुख्तार अंसारी 15 साल से यूपी की जेल में था, जहां उसको सभी मेडिकल सुविधा प्रदान की गई थी. मुख्तार अंसारी जिस माफिया ब्रजेश सिंह से खतरा बता रहा है वो ब्रजेश सिंह पिछले दस साल से यूपी की जेल में बंद है. यूपी सरकार नेअपने हलफनामे में ये भी कहा कि हिस्ट्रीशीटर , गैंगस्टर और हार्डकोर अपराधी मुख्तार अंसारी के दुश्मन होना लाजमी हैं. वहीं कानून के शिकंजे से बचने के लिए ये आधार नहीं हो सकता कि वो किसी दूसरे राज्य में शरण ले. इसलिए उसके ट्रायल के लिए उसे यूपी भेजा जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज