तेजस पर छाया 'मंगल ग्रहण', नहीं मिल रहे हैं यात्री; जानें क्या है कारण

अहमदाबाद से मुम्बई के बीच तेजस की शुरुआत 19 जनवरी से की गई थी. (File Photo)
अहमदाबाद से मुम्बई के बीच तेजस की शुरुआत 19 जनवरी से की गई थी. (File Photo)

Mumbai- Ahmedabad Tejas Train: भारतीय रेल की कुछ ट्रेनों की वजह से तेजस को यात्री नहीं मिल पा रहे हैं. जिसके चलते उन्हें मंगलवार की ट्रिप 30 मार्च तक के लिए स्थगित करनी पड़ी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 7:11 PM IST
  • Share this:
मुंबई. अहमदाबाद (Ahmedabad) से मुंबई (Mumbai) के बीच चलने वाली देश की पहली निजी ट्रेन तेजस (Tejas) को 30 मार्च 2021 तक हर मंगलवार को रद्द किए जाने की मुख्य वजह सामने आ गई है. आईआरसीटीसी (IRCTC) द्वारा चलाई जा रही इस निजी ट्रेन पर मंगल ग्रहण लग गया है यानी उसे मंगलवार को यात्री ही नहीं मिल रहे हैं. लॉकडाउन (Lockdown) के चलते करीब 7 महीनों बाद पटरी पर लौटी तेजस को यात्री न मिल पाने के चलते IRCTC का यह महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट संकट में नजर आ रहा है. दरअसल रेलवे ने दिसंबर से लेकर 30 मार्च तक के लिए हर मंगलवार यानी करीब 17 ट्रिप तेजस की रद्द कर दिए हैं.

IRCTC के आला अधिकारियों की माने तो तेजस को यात्री न मिलने की सबसे बड़ी वजह भारतीय रेल (Indian Railways) की कुछ गाड़ियां हैं, जिसके चलते यात्री तेजस के बजाय उनका इस्तेमाल कर रहे हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि यात्रियों को कम किराए में ये ट्रेनें वहीं स्पीड देती हैं, जिस स्पीड से तेजस चलती है, हालांकि IRCTC यात्रियों को लुभाने के लिए हरसंभव कोशिश में जुटी हुई है. जानकारी के मुताबिक तेजस एक्सप्रेस अहमदाबाद से मुंबई (Ahmedabad to Mumbai) के लिए सुबह 6.40 को निकलती है, जिसका किराया करीब 2000-2200 के बीच हैं. तेजस ट्रेन दोपहर 1.10 मिनट पर मुंबई सेंट्रल (Mumbai Central) पहुंचती है.

ये भी पढ़ें- जॉब और घर खरीदने पर टैक्स छूट, आपके लिए राहत पैकेज में हुये ये ऐलान



जबकि तेजस के आस- पास की कर्णावती एक्सप्रेस (Karnavati Express) सुबह 4.55 मिनट पर अहमदाबाद से चलकर दोपहर 12.35 मिनट पर मुंबई पहुंचती है, जबकि दूसरी डबल डेकर एक्सप्रेस ट्रेन (Double Decker Express Train) सुबह 6 बजे अहमदाबाद से चलकर दोपहर 1 बजे मुंबई पहुंचती है. कर्णावती एक्सप्रेस का किराया करीब 550-650 के बीच है,जबकि डबल डेकर का किराया 500-600 के बीच है.
इस वजह से तेजस का टिकट बुक नहीं करते यात्री
मुंबई से वापस अहमदाबाद लौटते वक्त भी उपरोक्त तरह का अंतर तीनों ट्रेनों में है. जानकारी के मुताबिक तेजस, कर्णावती और डबल डेकर के समय में केवल 30-40 मिनट का ही गैप है इसलिए तेजस के फ्लेक्सी फेयर से बचने के लिए अधिकतर यात्री कर्णावती और डबल डेकर को तवज्जो देते हैं. इसमें किराया भी कम है और तेजस के बराबर का ही रनिंग टाइम है.

तेजस सप्ताह में एक दिन गुरुवार को मरम्मत के चलते पहले से ही बंद रहती है और अब मंगल ग्रहण से सप्ताह में दो दिन रद्द रहेगी, जिसकी मुख्य वजह यात्रियों की कमी है.

ये भी पढ़ें- आत्‍मनिर्भर भारत 3: ₹2.65 लाख करोड़ के पैकेज में सरकार ने क्या बड़े ऐलान किये?

30 मार्च तक के लिए स्थगित की गई मंगलवार की ट्रिप
IRCTC वेस्ट जोन के जीजीएम राहुल हिमालयन ने भी इस बात की पुष्टि की कि भारतीय रेल की कुछ ट्रेनों की वजह से तेजस को यात्री नहीं मिल पा रहे हैं. जिसके चलते उन्हें मंगलवार की ट्रिप 30 मार्च तक के लिए स्थगित करनी पड़ी है.

अहमदाबाद से मुंबई के बीच तेजस की शुरुआत 19 जनवरी से की गई थी. 19 मार्च 2020 यानी लॉकडाउन घोषित होने से पहले इसकी ऑक्यूपेंसी करीब 95 फीसदी थी, जो लॉकडाउन खत्म होने के बाद सिर्फ 40 फीसदी रह गई है, हालांकि कोविड के चलते 624 सीटों में से सिर्फ 353 सीटों की बुकिंग हो रही है, लेकिन तब भी तेजस खाली है, जिसकी चिंता आला अधिकारियों को सता रही है. IRCTC वेस्ट जोन के जीजीएम राहुल हिमालयन ने भी इस बात की पुष्टि की कि भारतीय रेल की कुछ ट्रेनों की वजह से तेजस को यात्री नहीं मिल पा रहे हैं. जिसके चलते उन्हें मंगलवार की ट्रिप 30 मार्च तक के लिए स्थगित करनी पड़ी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज