लाइव टीवी

ज्योतिषी अमिता लोहिया ने बताया, कैसे रोजाना की जिंदगी को प्रभावित करते हैं चक्रज

News18Hindi
Updated: May 24, 2020, 2:13 AM IST
ज्योतिषी अमिता लोहिया ने बताया, कैसे रोजाना की जिंदगी को प्रभावित करते हैं चक्रज
हमें सहस्रार, अजना, विशुद्धि, अनाहत, मणिपुर, स्वधिष्ठान और मूलाधार नामक 7 अलग-अलग शरीर चक्र मिले हैं.

हमें सहस्रार, अजना, विशुद्धि, अनाहत, मणिपुर, स्वधिष्ठान और मूलाधार नामक 7 अलग-अलग शरीर चक्र मिले हैं.

  • Share this:
ज्योतिष जगत में अक्सर कई तरह की चौंकाने वाले दावे किए जाते रहे हैं. ज्योतिषियों की भविष्यवाणियों को लेकर अक्सर लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं. लेकिन कई लोगों को चौंकाने वाले परिणाम भी मिलते हैं, जिससे आज भी यह पेशा बेहद प्रासंगिक बना हुआ है. ज्योतिष के संसार में ग्रहों की दशा के अध्ययन के आधार पर इस दुनिया की परिकल्पना की जाती है. इसी के जरिए जिंदगियों में आने वाले उतार-चढ़ाव की गणना करते हैं. इसमें ऐसे दावे भी किए जाते रहे हैं कि जब तक यह ब्रह्माण्ड रहेगा तब तक लोगों की जिंदग‌ियों के बारे में भारतीय ज्योतिष शास्‍त्र भविष्वाणियां करता रहेगा. ऐसे में अपने कामों के आधार पर पहचाने जाने वाली मुंबई की ज्योतिषी अमिता लोहिया ने कुछ चौंकाने वाली कहानियां सुनाई हैं.

अमिता एक ज्योतिषी, परी कार्ड रीडर, काउंसलर, साइकी रीडर, आध्यात्मिक उपचारकर्ता हैं और स्वतंत्र लेखन भी करती हैं. आमतौर पर लड़कियों के सिक्‍स्थ सेंस की बात की जाती है. लेकिन कहा जाता है कि अमिता ने अपनी कड़ी मेहनत के दम पर वाकई अपनी छठीं इंद्रीय को काफी सक्रिय कर लिया है. इसी के चलते उनकी कई भविष्यवाणियां सही साबित होती हैं. उनके बारे में ऐसा माना जाता है कि उन्होंने अपने अध्यात्म‌िक शक्ति के दम पर कई लोगों को परे‌शानियों से उबारने में मदद की है. वो लोगों में सकारात्मकता भरने की कोशिश करती हैं. वो वास्तु और शरीर के सातों चक्रजों को लेकर भी समझदारी रखती हैं. उन्होंने बताया, "हमें सहस्रार, अजना, विशुद्धि, अनाहत, मणिपुर, स्वधिष्ठान और मूलाधार नामक 7 अलग-अलग शरीर चक्र मिले हैं. सभी एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं. ये चक्रज हमारी दैनंदीन जीवन को प्रभावित करते हैं. इसलिए इन्हें संतुल‌‌ित रखना बेहद आवश्यक होता है."

अमिता ने अपने कामों को लेकर हाल ही में हुए एक वाकये के बारे में बताया. मुंबई के लोनावाला के रहने वाले मगनलाल चिक्कीवाला अपने एक कोर्ट केस में काफी समय से परेशान थे. लेकिन हाल में उन्होंने इस केस से घर में आने वाली सभी नकारात्मकता को खत्म कर लेने की ठानी. उन्होंने अपने घर और अपनी फैक्ट्री दोनों जगहों से नकारात्मकता से उबरने के लिए कुछ तरीके अपनाए. इसमें ज्योतिषी अमिता ने उनकी मदद की. इसी तरह राजस्‍थान के भीलवाड़ा में रहने वाले एक शख्स की मदद करनी हो या एक मासूम बच्चे की जिंदगी में उत्साह भरना हो, अमिता ने अपने मेहनत और अपने लगन से बीते 10 सालों से लोगों को प्रभावित करती आ रही हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 2:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading