मुंबई का कोरोना रिकवरी रेट हुई 94 प्रतिशत, महाराष्ट्र में 21 हजार नए मामले

मुंबई अब कोरोना की दूसरी लहर से बाहर आ रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

मुंबई अब कोरोना की दूसरी लहर से बाहर आ रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीते 24 घंटे के भीतर करीब 21 हजार नए मामले सामने आए हैं और 34 हजार से ज्यादा लोग रिकवर हुए हैं. महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 425 है. वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai Covid) में अब हालात काफी बेहतर स्थिति में है. शहर में बृहस्पतिवार को 1,266 नए मामले आए और 855 लोग रिकवर हुए.

  • Share this:

मुंबई. कोरोना महामारी (Covid-19) से देश में सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब स्थितियां सुधरती दिख रही हैं. राज्य में बीते 24 घंटे के भीतर करीब 21 हजार नए मामले सामने आए हैं और 34 हजार से ज्यादा लोग रिकवर हुए हैं. महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या 425 है. वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई में अब हालात काफी बेहतर स्थिति में है. शहर में बृहस्पतिवार को 1,266 नए मामले आए और 855 लोग रिकवर हुए. कोरोना से 36 लोगों की मौत हुई. शहर का रिकवरी रेट अब 94 प्रतिशत हो गया है.

इससे पहले खबर आई कि राज्य में कुछ ढील के साथ लॉकडाउन जारी रखा जाएगा. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा- 'ये निर्णय किया गया है कि लॉकडाउन को पूरी तरह से नहीं हटाया जाएगा क्योंकि 21 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से ज्यादा है. उन जिलों में कुछ ढील दी जा सकती है जहां पर नए मामलों में कमी आ रही है. कुछ दिनों के भीतर गाइडलाइंस जारी कर दी जाएंगी.'

अनलॉकिंग को लेकर लगाई जा रही थीं अटकलें

कहा जा रहा था कि कोरोना संकट से उबर रहे महाराष्ट्र में जारी पाबंदियों में जल्द ढील दी जा सकती है. राज्य सरकार 1 जून से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करने पर विचार कर रही है. शुरुआत में समयसीमा के साथ दुकानों को खुलने की अनुमति दी जाएगी. वहीं, लोकल रेल सेवा अनलॉक के अंतिम चरण में शुरू हो सकती है.
कोरोना के खिलाफ प्रयासों के लिए बीएमसी की होती रही है तारीफ

बता दें कोरोना के खिलाफ प्रयासों को लेकर बीते दिनों के दौरान बृह्नमुंबई महानगर पालिका की तारीफ की जाती रही है. दूसरी लहर में बीएमसी कमिश्नर इकबाल चहल के निर्देशन में युद्ध स्तर पर काम करते हुए बीएमसी ने कई निर्णय तेजी के साथ लिए. इनमें बेड की व्यवस्था से लेकर वार्ड वॉर रूम बनाए जाने की योजना शामिल थी. अब मुंबई में नए मामलों की संख्या में काफी कमी आ गई है. अब शहर में बेड्स की व्यवस्था और ज्यादा दुरुस्त हो गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज