अपना शहर चुनें

States

उद्धव ठाकरे के सपोर्ट में आया IMPPA, कहा- मुंबई फिल्म इंडस्ट्री का दिल है, कोई भी इसे कहीं नहीं ले जा सकता

यूपी में फिल्म सिटी (UP Film city) को लेकर अगले तीन महीने में तस्वीर साफ हो जाएगी. (PTI Photo)
यूपी में फिल्म सिटी (UP Film city) को लेकर अगले तीन महीने में तस्वीर साफ हो जाएगी. (PTI Photo)

Noida Film City Project: नोएडा में फिल्म सिटी की तैयारियों ने रफ्तार पकड़ ली है. अथॉरिटी ने फिल्म सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने लिए एजेंसी से 3 दिसंबर तक आवेदन मांगे गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2020, 8:20 PM IST
  • Share this:
मुंबई. फिल्म इंडस्ट्री में प्रोड्यूसर्स संस्थान इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर एसोसिएट (Indian Motion Picture Producers association) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav thackeray) के बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री (Film Industry) के मुंबई में ही रहने की बात कही थी. फ़िल्म इंडस्ट्री की पुरानी प्रोड्यूसर फेडरेशन भी उद्धव ठाकरे के समर्थन में उतरी है. फेडरेशन ने उद्धव ठाकरे को चिट्ठी भेजकर कहा है कि मुम्बई फ़िल्म इंडस्ट्री का दिल है और किसी भी कीमत पर फ़िल्म इंडस्ट्री के लोग मुम्बई का अपना बेस बदलकर यूपी नहीं जाएंगे.

यूपी फिल्म सिटी को लेकर जारी सियासी जंग के बीच योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को मुंबई पहुंचकर फिल्मी सितारों से मुलाकात की थी. इस दौरान अक्षय कुमार से लेकर सिंगर कैलाश खेर तक कई हस्तियां सीएम योगी से मिलने पहुंची थी. अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए योगी की इस तेजी को देखकर महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज हो गई है. योगी के मुंबई दौरे के बाद उद्धव ठाकरे ने बिना नाम लिए कहा था कि कोई यहां से जबरन बिजनेस लेकर नहीं जा सकता है.

नोएडा में फिल्म सिटी की तैयारियां तेज
नोएडा में फिल्म सिटी की तैयारियों ने रफ्तार पकड़ ली है. अथॉरिटी ने फिल्म सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने लिए एजेंसी से 3 दिसंबर तक आवेदन मांगे गए हैं. 7 दिसंबर को तकनीकी निविदा खोली जाएगी. 15 दिसंबर तक कंपनी का चयन कर लिया जाएगा.
योगी बोले- कोई पर्स नहीं है जिसे छीना जा सके


योगी आदित्यनाथ से फ़िल्म जगत से मिलने वाले लोगों में बोनी कपूर और सुभाष घई जैसे लोग शामिल थे तो वहीं शिवसेना के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि यह कोई पर्स नहीं है जिसे छीना जा सके. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ''कोई किसी को लेकर नहीं जाता है. यह कोई पर्स नहीं है जो कोई लेकर जा सकता है. यह खुली प्रतिस्पर्धा है. जो ज़्यादा सुरक्षा दे सके, अच्छा वातावरण दे सके, हर कोई काम कर सके, अच्छा माहौल दे सके.. मुंबई फ़िल्म सिटी मुंबई में काम करेगी, उत्तर प्रदेश में नई फ़िल्म सिटी काम करेगी.''



पहले IFSC को लेकर हुआ था विवाद
इससे पहले भी इंटरनेशनल फाइनेंस सर्विस सेंटर यानी IFSC को गुजरात के गांधीनगर में शुरू करने को लेकर भी विवाद हुआ था. तब एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा था कि ऐसे कदमों से मुंबई की छवि को नुकसान पहुंचेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज