अपना शहर चुनें

States

मटका किंग की पत्नी और उसकी बहन की हत्या की साजिश का पर्दाफाश, 5 गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक इस साजिश के पीछे व्यापारिक प्रतिस्पर्धा और भाई सुरेश भगत की हत्या का कथित बदला मुख्य वजह है. (सांकेतिक तस्वीर)
क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक इस साजिश के पीछे व्यापारिक प्रतिस्पर्धा और भाई सुरेश भगत की हत्या का कथित बदला मुख्य वजह है. (सांकेतिक तस्वीर)

सुरेश भगत (Suresh Bhagat) की मौत के बाद मटके का पूरा बिजनेस उसकी पत्नी की बहन आशा भट्ट (Aasha Bhatt) संभाल रही है, जबकिं पत्नी जया को सुरेश भगत की हत्या करने के मामले में उम्रकैद की सज़ा हुई है.

  • Last Updated: December 22, 2020, 8:34 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुम्बई पुलिस की क्राइम ब्रांच (Mumbai Police Crime Branch) ने एक हाई प्रोफाइल केस में हत्या के लिए दी गई सुपारी की साज़िश का पर्दाफाश किया है. इस मामले में दो महिलाओं की हत्या करने के लिए कुल 60 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी. सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि हत्या की खतरनाक साजिश मटका किंग सुरेश भगत (Suresh Bhagat) के परिवार से जुड़ी हुई है. क्राइम ब्रांच ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

मुम्बई क्राइम ब्रांच के मुताबिक हत्या की यह खतरनाक साज़िश मटका किंग सुरेश भगत की पत्नी जया भगत और आशा भट्ट को मारने के लिए रची गई थी. हत्या की सुपारी देने वाला कोई और नहीं, बल्कि सुरेश भगत का भाई विनोद भगत था, क्राइम ब्रांच के अनुसार विनोद भगत ने जया भगत और आशा भट्ट को मारने के लिए कुल 60 लाख रुपये की सुपारी दी थी. इसके लिए उसने ब्रिटेन में रहने वाले मामू नाम के एक शख्स को सुपारी दी थी.

हत्या की इस खतरनाक साज़िश का खुलासा उस वक़्त हुआ, जब मुम्बई क्राइम ब्रांच ने मोहम्मद जावेद अंसारी को 18 दिसंबर को खार इलाके से गिरफ्तार किया. जावेद के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और जया भगत और आशा भट्ट की फ़ोटो बरामद हुई थी. क्राइम ब्रांच ने उससे जब पूछताछ की तो हत्या की एक बड़ी साजिश का खुलासा हुआ. मुम्बई क्राइम ब्रांच के जॉइंट सीपी मिलिंद भारम्बे के मुताबिक विनोद भगत ने फरवरी 2020 में जया और आशा की हत्या करने के लिए ब्रिटेन में रहने वाले मामू नाम के शख्स को 60 लाख की सुपारी दी थी. मामू ने इसके लिए यूपी के बिजनौर के रहने वाले रामवीर शर्मा उर्फ पंडित को सुपारी दी.



पंडित ने इसके बाद अपने कुछ गुर्गों को मुम्बई जया और आशा की रेकी करने के लिए भेजा. रेकी पूरी हो चुकी थी, लेकिन वारदात को अंजाम देने से पहले ही जावेद क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ गया और पूरी साजिश को नाकाम कर दिया गया. क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक इस साजिश के पीछे व्यापारिक प्रतिस्पर्धा और भाई सुरेश भगत की हत्या का कथित बदला मुख्य वजह है.
सुरेश भगत की मौत के बाद मटके का पूरा बिजनेस उसकी पत्नी की बहन आशा भट्ट (Aasha Bhatt) संभाल रही है, जबकिं पत्नी जया को सुरेश भगत की हत्या करने के मामले में उम्रकैद की सज़ा हुई है और मौजूदा वक्त में वह जमानत पर बाहर है. मटका किंग सुरेश भगत की हत्या 2008 में उस वक़्त उसकी गाड़ी को ट्रक से कुचलकर कर दी गई थी, जब वह अपने दोस्तों के साथ अलीबाग घूमने जा रहा था. इस घटना में सुरेश भगत सहित कुल 6 लोगों की मौत हुई थी. सुरेश भगत की हत्या के मामले में उसकी पत्नी जया दोषी पाई गई थी और 2013 में उसे उम्रकैद की सज़ा कोर्ट ने सुनाई थी.

सुरेश भगत को मटका किंग इसलिए कहा जाता था, क्योंकि 500 करोड़ तक का मटका खेला जाता था. इस मामले में फिलहाल अब क्राइम ब्रांच को मामू की तलाश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज