TRP स्कैम: CNN-NEWS18 के साथ हुआ षड्यंत्र, BARC का पूर्व CEO जिम्मेदार

पार्थो दास गुप्ता की फाइल फोटो

पार्थो दास गुप्ता की फाइल फोटो

पूरे टीआरपी स्कैम में बार्क के पूर्व सीईओ संलिप्त थे. उन्होंने एक न्यूज चैनल को आगे बढ़ाने के लिए CNN-News18 के साथ भी षड्यंत्र रचा. उस चैनल की लोगों तक पहुंच बढ़ाने के लिए CNN-News18 के साथ धोखेबाजी की गई. बार्क खुद भी इस जांच का हिस्सा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 6:44 PM IST
  • Share this:
मुंबई. TRP स्कैम में अब एक बड़ा खुलासा हुआ है. ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) ने एक प्रेस स्टेटमेंट कर खुद इसकी जानकारी दी है. बताया गया है कि पूरे टीआरपी स्कैम में बार्क के पूर्व सीईओ जिम्मेदार थे. उन्होंने एक न्यूज चैनल को आगे बढ़ाने के लिए CNN-News18 के साथ भी षड्यंत्र रचा. उस चैनल की लोगों तक पहुंच बढ़ाने के लिए CNN-News18 के साथ धोखेबाजी की गई. बार्क खुद भी इस जांच का हिस्सा रहा है.

मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच ने बृहस्पतिवार को पार्थो को पुणे से गिरफ्तार किया

गौरतलब है कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने बृहस्पतिवार को पूर्व सीईओ को पुणे से गिरफ्तार किया है. टीवी चैनलों द्वारा टीआरपी से छेड़छाड़ करने के मामले में गिरफ्तार होने वाले आरोपी 15वें व्यक्ति हैं.

इससे पहले रामिल रामगढ़िया को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था
एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें पुणे जिले के राजगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र से अपराध खुफिया इकाई (सीआईयू) ने गिरफ्तार किया है. इससे पहले सीआईयू ने बार्क के पूर्व मुख्य संचालन अधिकारी (सीओओ) रामिल रामगढ़िया को इस मामले में गिरफ्तार किया था.

बार्क ने दर्ज कराई थी शिकायत

रेटिंग एजेंसी बार्क ने कुछ चैनलों द्वारा टीआरपी से छेड़छाड़ करने के संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने जांच शुरू कर दी. कुछ घरों में दर्शकों की संख्या का पता लगाकर टीआरपी मापी जाती है और दर्शकों की संख्या के आंकड़े से चैनल विज्ञापनदाताओं को आकर्षित करते हैं. ऐसे आरोप लगे थे कि इन घरों में से कुछ को रिश्वत दी जाती थी कि वे कुछ खास चैनलों पर जाएं ताकि उनकी टीआरपी बढ़ सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज