मुंबई: सोसाइटी ने की तीसरी लहर की खास तैयारी, बनाया खुद का आधुनिक कोविड सेंटर

मुंबई में अब कोरोना मरीजों की संख्या काफी कम हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुंबई में अब कोरोना मरीजों की संख्या काफी कम हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Covid-19 Third Wave: नवी मुम्बई के ऐरोली में स्थित यश पैराडाइज सोसाइटी के रहवासियों ने बगैर किसी की आर्थिक मदद से सेवा का यह कदम उठाया है. लोगों ने अपनी तरफ से रुपये लगाकर सोसाइटी के अंदर मौजूद कम्युनिटी हॉल में ही सुविधाओं से लैस शानदार अस्पताल बनाया है.

  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना के प्रभाव को देखते हुए, राज्य सरकार ने जागरूकता के लिए मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी का नारा दिया था, लेकिन नवी मुम्बई (Navi Mumbai) की एक हाउसिंग सोसाइटी ने इस नारे को मेरी सोसाइटी मेरी जिम्मेदारी की पहल की है. नवी मुंबई की यश पैराडाइज सोसाइटी (Yash Paradise Society) के कम्युनिटी हॉल में सोसाइटी में रहने वाले लोगों ने मिलकर 26 बिस्तरों का कोविड अस्पताल तैयार किया है. इनमें 10 ICU बेड्स 16 वेंटिलेटर से जुड़े हुए बेड्स की सुविधा तैयार की है.

नवी मुम्बई के ऐरोली में स्थित यश पैराडाइज सोसाइटी के रहवासियों ने बगैर किसी की आर्थिक मदद से सेवा का यह कदम उठाया है. लोगों ने अपनी तरफ से रुपये लगाकर सोसाइटी के अंदर ही मौजूद कम्युनिटी हॉल में आधुनिक सुविधाओं से लैस शानदार अस्पताल बनाया है. सोसाइटी मेंबर्स का कहना है कि भले ही कोविड के मामले कम हुए हो लेकिन हमारी तैयारी तीसरी वेव को लेकर है, इसलिए सोसाइटी में अस्पताल बनान बहुत जरूरी है.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में खत्म होगा तालाबंदी का दौर! 1 जून से शुरू हो सकती है अनलॉक की प्रक्रिया

Youtube Video

आमतौर पर मरीज़ों के परिजनों को मरीज के पास रहना संभव नहीं है और ना ही घर का खाना नसीब हो पाता है तो ऐसे में मरीज अगर सोसाइटी के अंदर ही अस्पताल में इलाज करवाएगा तो मानसिक तौर पर काफी स्वस्थ भी रहेगा क्योंकि घर और परिजन सब पास होंगे. इस अस्पताल में 18 नर्सिंग स्टाफ़ और 7 डॉक्टर्स मौजूद हैं. डॉक्टरों को सोसाइटी के क्लब हाउस में रहने की सुविधा दी गयी है, ताकि आपातकालीन स्थिति के दौरान डॉक्टर मौजूद हो.


अस्पताल के डॉक्टर इंचार्ज ने बताया कि कोविड की स्थिति को देखते हुए वेंटिलेटर से लेकर HFNC मशीन हर एक लेटेस्ट है, कुछ मशीन तो ऐसी हैं जो कई बड़े अस्पतालों में भी कम ही उपलब्ध हैं, लेकिन सोसाइटी मेंबर्स ने मेन्टेन्स के जरिये इसकी भी सुविधा जुटाई है. कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए 2 हज़ार की जनसंख्या वाले यश पैराडाइस ने अस्पताल के साथ-साथ बहुत जल्द वैक्सीनेशन शुरू करने की भी तैयारी की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज