पढ़ें मुस्लिमों की सियासत करने वाली पार्टियों ने यूपी में कितने मुसलमानों को दिया है टिकट

यूपी में किस पार्टी ने कितने अल्पसंख्यकों को लोकसभा चुनाव 2019 की टिकट दी है. साथ ही कौन ऐसा भी है जिसने मुस्लिम उम्मीदवारों पर भरोसा ही नहीं जताया है.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 17, 2019, 4:37 PM IST
पढ़ें मुस्लिमों की सियासत करने वाली पार्टियों ने यूपी में कितने मुसलमानों को दिया है टिकट
प्रतीकात्मक फाइल फोटो.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: April 17, 2019, 4:37 PM IST
पहले चरण की वोटिंग हो चुकी है. दूसरे चरण की वोटिंग 18 अप्रैल को होनी है. लेकिन इससे पहले ही मुसलमान, अली और बजरंगवली को लेकर सियासत शुरु हो गई है. व्यक्तिगत टिप्पणीयों को लेकर भी यूपी की सियासत गर्मा रही है. अब तक अकेले यूपी में ही बसपा सुप्रीमो मायावती, सीएम योगी, सपा नेता आज़म खां और मेनका गांधी पर तो चुनाव आयोग कार्रवाई भी कर चुका है. दो से तीन दिन तक प्रचार करने पर पाबंदी लगा दी गई.

तो आइए इस सब के बीच जानते हैं कि यूपी में किस पार्टी ने कितने अल्पसंख्यकों को लोकसभा चुनाव 2019 की टिकट दी है. साथ ही कौन ऐसा भी है जिसने मुस्लिम उम्मीदवारों पर भरोसा ही नहीं जताया है. अगर सबसे पहले बात गठबंधन की करें तो यूपी में सपा-बसपा और रालोद मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. तीनों ही पार्टी ने अपने-अपने हिस्से में आईं सीट के हिसाब से टिकट का बंटवारा किया है.

समाजवादी पार्टी (सपा) ने यूपी में 30 लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. लेकिन कुल सीट पर एक प्रतिशत से कुछ थोड़ा सा ज्यादा यानि 4 मुस्लिम उम्मीदवारों पर दांव लगाया है. कैराना से तबस्सुम हसन, मुरादाबाद एसटी हसन, रामपुर से आज़म खान और संभल से शफीकुर्रहमान पर भरोसा जताया है. जबकि 2014 के लोकसभा चुनावों में सपा ने 13 मुस्लिमों को टिकट दिया था.

फाइल फोटो.


यूपी में ही बात गठबंधन के दूसरे दल बसपा की करें तो 2014 में बसपा ने 19 मुसलमानों को टिकट देकर उम्मीदवार बनाया था. इस चुनाव में बसपा ने 37 सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. जबकि 37 में से सिर्फ 5 मुस्लिम उम्मीदवारों पर ही उम्मीद जताई है. डुमरियागंज से आफताब आलम, धौरहरा अरशद अहमद सिद्दीकी, मेरठ हाजी मोहम्मद याकूब, अमरोहा से कुंवर दानिश अली और सहारनपुर से हाजी फजर्लुरहमान को बसपा का टिकट दिया गया है. रालोद के हिस्से में सिर्फ तीन सीट ही आई हैं तो यहां मुस्लिमों की दाल नहीं गली है.

गठबंधन में शामिल होते-होते रह गई कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस ने यूपी में अभी तक 61 सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. जबकि कुछ सीट ऐसी हैं जहां सपा के उम्मीदवार जैसे मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, डिम्पल यादव, प्रो. रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव आदि के सामने कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं.

फाइल फोटो.

Loading...

ये भी पढ़ें- चुनावों के लिए इस तरह फिल्मी अंदाज में हो रही है शराब की तस्करी

कांग्रेस ने 61 में से 9 मुसलमानों को टिकट दिया है. जिसमे सहारनपुर से इमरान मसूद, बिजनौर नसीमुद्दीन सिद्धिकी, मुरादाबाद इमरान प्रतापगढ़ी, बदायूं सलीम इकबाल शेरवानी,  खीरी ज़फर अली नकवी,  सीतापुर केसर जहां, फ़र्रूख़ाबाद सलमान खुर्शीद, संत कबीर नगर परवेज़ खान और देवरिया से नियाज़ अहमद हैं. शिवपाल यादव की पार्टी ने चार मुस्लिम उम्मीदवार अपने पहले चुनाव में उतारे हैं. बीजेपी की ओर से किसी भी मुस्लिम को टिकट नहीं दी गई है.

ये भी पढ़ें-

महिलाओं की एंट्री पर विवाद, इस मस्जिद में महिलाएं पढ़ती हैं नमाज़

कुमार विश्वास ने किसकी तस्वीर ट्वीट कर कहा, ‘ये भोले पशु कुल से हैं, मित्रहंता, थूकचट्टा वंश से नहीं’

इस मोबाइल नम्बर पर कांग्रेस बता रही है कैसे मिलेंगे 72 हजार रुपये

कोई और डाल गया है आपका वोट, फिर भी आप ऐसे कर सकते हैं मतदान
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

काम अभी पूरा नहीं हुआ इस साल योग्य उम्मीदवार के लिए वोट करें

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

Disclaimer:

Issued in public interest by HDFC Life. HDFC Life Insurance Company Limited (Formerly HDFC Standard Life Insurance Company Limited) (“HDFC Life”). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI Reg. No. 101 . The name/letters "HDFC" in the name/logo of the company belongs to Housing Development Finance Corporation Limited ("HDFC Limited") and is used by HDFC Life under an agreement entered into with HDFC Limited. ARN EU/04/19/13618
T&C Apply. ARN EU/04/19/13626