मुस्‍लिमों की पंचायत ने गोहत्‍या करने वालों के खिलाफ लिया ये फैसला

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: September 14, 2017, 5:35 PM IST
मुस्‍लिमों की पंचायत ने गोहत्‍या करने वालों के खिलाफ लिया ये फैसला
जुर्म साबित होने पर आरोपी का हुक्का-पानी बंद कर सभी रिश्ते खत्म कर लिए जाएंगे.
ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: September 14, 2017, 5:35 PM IST

मेवात में मुस्‍लिमों की पंचायत ने गोहत्या करने वालों या उनका सहयोग करने वालों पर 21 हजार रुपए जुर्माना लगाने का फैसला किया है.


यह पंचायत पुन्‍हाना क्षेत्र के गांव जखोकर में हुई. जिसमें पंच, सरपंच, उलेमा और प्रमुख लोग मौजूद रहे. पंचायत की अध्‍यक्षता मौलाना खालिद ने की. पंचायत ने यह फैसला भी किया कि जुआ, सट्टा खेलने वाले और शराब पीने वालों से 5100 रुपये का जुर्माना वसूल किया जाएगा.


इतना ही नहीं जुर्म साबित होने पर आरोपी का हुक्का-पानी बंद कर सभी रिश्ते खत्म कर लिए जाएंगे. मौलाना खालिद और सरपंच हुरमत ने कहा कि हरियाणा सरकार ने गोहत्या पर पाबंदी लगा रखी है. वहीं गाय एक समाज के लोगों की आस्था का प्रतीक है. इस वजह से पंचायत में गोहत्या पर कड़ा फैसला लिया गया है.


आजकल युवाओं में जुआ, सट्टा और शराब का चलन बढ़ गया है. नशे की लत ज्यादा बढ़ जाने की वजह से गांव में चोरी, झगडे़ आदि के मामले हो रहे हैं. अगर कोई व्‍यक्‍ति दोबारा दोषी पाया जाता है तो उसे गांव से निकाल दिया जाएगा. ऐसे लोगों से बातचीत करना छोड़ दिया जाएगा.



पंचायत के फैसले को लागू कराने के लिए 11 सदस्यीय कमेटी गठित की गई है. जिसमें गांव में मौजूदा सरपंच, पूर्व सरपंच, नंबरदार, पंचों के अलावा मस्जिदों के इमाम, मौलाना और प्रमुख लोगों को शामिल किया गया है.


इस मौके पर मौलाना अब्बास, अलिया, मज्जर, हाकम, अली मोहम्मद, रहीश रोजेखां, जाहिद, मौलाना खालिद, हाफिज निजामुद्दीन, सरपंच हुरमत, मौलाना हसन, मोहम्मद हारुन और मकसूद आदि मौजूद थे.


Muslim, panchayat, mewat, cow slaughter      मेवात के जखोकर में गोहत्या के खिलाफ पंचायत: फोटो-युनूस अलवी


भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेंद्र देशवाल, हरियाणा हज कमेठी के सदस्य हबीब हवन नगर और आलम उर्फ मुंडल ने इस पहल का स्‍वागत किया है. उनका कहना है कि सरकार और प्रशासन की ओर से पंचायत के लोगों की पूरी मदद की जाएगी.

First published: September 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर