दिल्ली हिंसा: पुलिस फायरिंग में मुस्तफाबाद के युवक के निजी अंगों में लगी चोट, परिवार ने कहा- मई में होनी थी शादी

दिल्ली हिंसा: पुलिस फायरिंग में मुस्तफाबाद के युवक के निजी अंगों में लगी चोट, परिवार ने कहा- मई में होनी थी शादी
अस्पताल में भर्ती इमरान

इमरान की 'मां बात नहीं कर पा रही हैं. वह पिछले दो दिनों से रो रही है. उसने खाना भी नहीं खाया है, वह सिर्फ अपने कमरे में बैठी है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 1:43 PM IST
  • Share this:
इस्मत आरा/फर्स्टपोस्ट

नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हिंसा के बीच कई लोग घायल हुए हैं. इसी बीच अल हिंद अस्पताल में इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि मंगलवार को दिल्ली के मुस्तफाबाद में पुलिस की गोलीबारी के दौरान एक 22 वर्षीय व्यक्ति के निजी अंगों में चोट लगी है. पीड़ित की पहचान मोहम्मद इमरान के तौर पर हुई है. पेश से वेल्डर इमरान की मई में शादी होने वाली थी. उनके भाई इब्राहिम ने कहा, 'इमरान की हालत स्थिर है और वह एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती है.'

इमरान ने कहा- 'हम न केवल सड़कों के बाहर असुरक्षित हैं, बल्कि हमारे घरों के अंदर भी सुरक्षित नहीं हैं. मैं लगभग 5 बजे घर से बाहर आया था यह देखने के लिए कि हालात क्या हैं. मैं बस यह देखने की कोशिश कर रहा था कि क्या हो रहा है और इसी दौरान मेरे निजी अंगों से खून बहना शुरू हो गया. मैंने घर लौटकर जब देखा तो गहराई से खून बह रहा था. बहुत गहरा घाव था और बुरी तरह दर्द कर रहा था. मानों मैं मर गया था.'



 पीठ पर लाठियों के निशान
इमरान के चार भाई और तीन बहनें हैं. अपने परिवार के कमाने वालों में से एक इमरान अब चोट के कारण आने वाले महीनों में काम नहीं कर पाएंगे. उनके भाई इब्राहिम ने कहा, काम तो बाद में होगा पहले जिंदगी बच जाए. निजी अंगों में चोट के अलावा, उनकी पीठ पर लाठियों के निशान थे.

इमरान के पिता शमशुद्दीन के मुताबिक, उनका बेटा मुस्तफाबाद की एक गली के अंदर खड़ा था. इसी दौरान पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस छोड़ी. यह कुछ सेकंड्स के भीतर हुआ. वह (इमरान) चिल्लाते हुए नीचे गिर गया. उसकी पतलून लाल हो गई थी. हम उसे घर ले गए और पता चला कि उसे बड़ा घाव हुआ है.

उन्होंने यह भी कहा कि जब वह एक अस्पताल गए, तो उन्होंने इमरान को एडमिट करने से इनकार कर दिया. शमशुद्दीन ने कहा, 'उन्होंने मुझे घर जाने के लिए कहा. मैंने उन्हें बताया कि इमरान को बहुत चोट आई है. लेकिन उन्होंने उसे एडमिट करने से इनकार कर दिया और मुझे तुरंत चले जाने को कहा. फिर हम उसे एलएनजेपी अस्पताल ले गए. इमरान अभी भी वहीं भर्ती हैं.'

अब कैसे होगी शादी!
इब्राहिम के अनुसार, उनकी मां बात नहीं कर पा रही हैं. इब्राहिम ने कहा, 'वह पिछले दो दिनों से रो रही है. उसने खाना नहीं खाया है, वह सिर्फ अपने कमरे में बैठी है, रो रही है और प्रार्थना कर रही है.' इब्राहिम ने कहा कि उनकी मां की स्थिति ऐसी इसलिए है क्योंकि मई में इमरान की शादी थी.

इमरान के परिजन ने कहा, 'हमने उनकी शादी के लिए मई के महीने का समय भी तय कर लिया था. लेकिन अब यह बहुत मुश्किल है. शादी भी नहीं हो सकती है. अगर वह ठीक नहीं हुआ तो क्या होगा?'  इमरान के पिता ने रोते हुए कहा, 'मैं अपने बेटे को बचाने के लिए हाथ जोड़कर डॉक्टरों से विनती कर रहा था. पहले वह पैसा कमाता था और हमारी देखभाल करता था, लेकिन अब. हमें उसके लिए संभलकर चलना होगा और उसकी देखभाल भी करनी होगी.'

यह भी पढ़ें: शिवसेना ने सामना में पूछा सवाल, दिल्ली में हिंसा के दौरान कहां थे गृह मंत्री?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading