• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • मैसूर गैंगरेप के आरोपी पहले भी आपराधिक मामलों में रहे शामिल, रिपोर्ट ना होने से बचते रहे...

मैसूर गैंगरेप के आरोपी पहले भी आपराधिक मामलों में रहे शामिल, रिपोर्ट ना होने से बचते रहे...

एक अधिकारी ने कहा, 'हमें आशंका है कि संदिग्ध आरोपी महिलाओं के कपड़े फाड़ने के बाद उनके वीडियो रिकॉर्ड करते थे और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देते थे.' फाइल फोटो

एक अधिकारी ने कहा, 'हमें आशंका है कि संदिग्ध आरोपी महिलाओं के कपड़े फाड़ने के बाद उनके वीडियो रिकॉर्ड करते थे और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देते थे.' फाइल फोटो

Mysuru Gangrape case: मैसूर के बाहरी इलाके में चामुंडी पहाड़ियों के पास 24 अगस्त को एक एमबीए छात्रा के साथ कथित रूप से छेड़छाड़ और यौन हमले का मामला सामने आया था, इसके साथ ही छात्रा के दोस्त को आरोपियों ने पीटा भी था.

  • Share this:

    बेंगलुरु. मैसूर गैंगरेप (Mysuru Gangrape case) केस में गिरफ्तार आरोपियों के पहले भी इस तरह के यौन अपराध केस (Sexual Crimes) में शामिल होने की आशंका गहरा रही है. इस केस के पांच आरोपियों में एक नाबालिग भी हैं और जांच में पता चला है कि इस गैंग ने पहले भी बहुत सारे अपराधों को अंजाम दिया है. लेकिन, कोई भी मामला रिपोर्ट नहीं हुआ है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, ‘आरोपियों ने माना है कि उन्होंने पहले भी इस तरह के केस अंजाम दिए हैं और उन्हें पूरा यकीन था कि वे पकड़े नहीं जाएंगे, क्योंकि ज्यादातर पीड़ित बदनामी के डर से मामले को रिपोर्ट नहीं करते थे.’ अधिकारी ने कहा कि आरोपियों को अपने अपराधों की सजा भुगतनी होगी.

    बता दें कि मैसूर के बाहरी इलाके में चामुंडी पहाड़ियों के पास 24 अगस्त को एक एमबीए छात्रा के साथ कथित रूप से छेड़छाड़ और यौन हमले का मामला सामने आया था, इसके साथ ही छात्रा के दोस्त को आरोपियों ने पीटा भी था. मामला उजागर होने के पांच दिनों के भीतर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. एक पुलिस अधिकारी ने इससे पहले बताया था कि मामले में गिरफ्तार एक आरोपी पहले चंदन की लकड़ी की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हो चुका है. इस केस में पुलिस ने 5.5 लाख की कीमत वाली चंदन की 46 किलोग्राम लकड़ी बरामद की थी. बाद में आरोपी को जमानत मिल गई.

    एक अन्य पुलिस अधिकारी ने न्यूज18 को बताया कि आरोपियों के गैंग ने इस बात को स्वीकार किया है कि वे चामुंडी हिल्स जाने वाले कपल्स को टारगेट करते थे, क्योंकि ज्यादातर मामलों में कपल्स के चामुंडी हिल्स जाने के बारे में उनके परिजनों को पता नहीं होता था और वे शोषण के आसान शिकार बनते थे.

    एक अधिकारी ने कहा, ‘हमें आशंका है कि संदिग्ध आरोपी महिलाओं के कपड़े फाड़ने के बाद उनके वीडियो रिकॉर्ड करते थे और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देते थे. फोरेंसिक साइंस लैबोरेट्री टीम उनके मोबाइल फोन की जांच कर रही है और यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या आरोपियों ने पीड़िता का कोई वीडियो भी बनाया है.’

    उन्होंने कहा कि हम पीड़िता को बयान देने के लिए राजी करने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि वह काफी सदमे में है और हम सबसे बेहतर साइकोलॉजिस्ट की मदद ले रहे हैं. हम इन दुर्दांत अपराधियों को बचने को कोई मौका नहीं देंगे.’

    मैसूर सिटी पुलिस कमिश्नर डॉ. चंद्रगुप्ता ने कहा, ‘आरोपियों से पूछताछ चल रही है और अगर पहले भी मैसूर या चामुंडी हिल्स के आसपास रेप, गैंगरेप, छेड़छाड़ या लूट के मामले हुए हैं तो हम पीड़ित लोगों से गुजारिश करते हैं कि वे सामने आएं और पुलिस में मामला दर्ज कराएं.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज