Home /News /nation /

मैसुरु गैंगरेप केस: शराब की बोतल, बस टिकट... कुछ इस तरह से पुलिस ने 5 आरोपियों को दबोचा

मैसुरु गैंगरेप केस: शराब की बोतल, बस टिकट... कुछ इस तरह से पुलिस ने 5 आरोपियों को दबोचा

शराब की बोतलों पर तमिलनाडु आबकारी विभाग  की सुरक्षा मुहर लगी थी, जिससे चोरों को पकड़ने में मदद मिली. (फाइल फोटो)

शराब की बोतलों पर तमिलनाडु आबकारी विभाग की सुरक्षा मुहर लगी थी, जिससे चोरों को पकड़ने में मदद मिली. (फाइल फोटो)

Mysuru Gangrape Case: मामले की जांच जिन पुलिस टीमों को सौंपी गई थी, उनमें से सभी को एक खास रास्ता अपनाने का निर्देश दिया गया था, ताकि जल्द-से-जल्द आरोपियों तक पहुंचा जा सके.

    बेंगलुरु. मैसुरु के पास एक कॉलेज छात्रा से सामूहिक बलात्कार में कथित रूप से शामिल पांच मजदूर शनिवार को गिरफ्तार कर लिए गए. पुलिस ने खुलासा किया है कि उनके पास आरोपियों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी, लेकिन इसके बावजूद घटना स्थल की पूरी तरह से तलाशी के बाद उन्हें बस टिकट और शराब की बोतल जैसे काफी अहम सुराग मिले, जिसकी वजह से अंत में आरोपी पकड़ में आ सके.

    एक पुलिस अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि “घटना स्थल की गहन तलाशी और सबूतों को इकट्ठा करने से हमें दो टिकटों के बारे में जानकारी हासिल हुई, जिससे हमें मामले को सुलझाने में मदद मिली.” अधिकारियों को एक जांच के बाद यह विश्वास हो गया कि टिकट तमिलनाडु राज्य एक्सप्रेस परिवहन निगम द्वारा संचालित बस में खरीदे गए थे.

    अब उज्जैन में मुस्लिम शख्स से जबरन लगवाए ‘जय श्री राम’ के नारे, वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने दर्ज किया केस

    इसके बाद कर्नाटक के अधिकारियों ने शनिवार तड़के तमिलनाडु में अपने समकक्षों से मदद मांगी और इस तरह से वे छह में से पांच संदिग्धों का पता लगाने में सफल रहे. इस मामले में वैज्ञानिक सुबूतों को स्थापित करने के लिए दिन-रात काम करने वाले फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के पेशेवरों की भी पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) प्रवीण सूद ने सराहना की.

    काबुल में हमने सब गड़बड़ कर दिया- अपनी सेना पर सवाल उठाने वाला अमेरिकी सैनिक बर्खास्त

    मैसुरु पुलिस को घटना स्थल पर मिले भौतिक साक्ष्यों (Physical Evidence) पर निर्भर रहना पड़ा था. घटना से संबंधित ये वो सबूत होते हैं, जिन्हें छुआ और उठाया जा सकता है. पुलिस द्वारा जब्त किए गए अन्य सामानों में जमीन पर गिरी शराब की बोतलें और टायर के निशान शामिल हैं. मामले की जांच जिन पुलिस टीमों को सौंपी गई थी, उनमें से सभी को एक खास रास्ता अपनाने का निर्देश दिया गया था, ताकि जल्द-से-जल्द आरोपियों तक पहुंचा जा सके.

    सच तय करना सरकार के भरोसे नहीं छोड़ सकते: जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़

    इरोड जिले के तलावडी से चामराजनगर के टिकट दो संदिग्धों द्वारा खरीदे गए थे, और वे सामानों को लाने-ले जाने वाले एक वाहन से मैसूर तक गए थे. दोनों आरोपियों को पकड़ने के बाद कर्नाटक पुलिस ने मैसुरु में घटना स्थल के साथ-साथ चामराजनगर और तलावडी में कॉल रिकॉर्ड की जांच की. कॉल रिकॉर्ड मिलने के बाद पुलिस तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार करने में सफल रही.

    आजीविका के लिए, आरोपी एक ट्रांसपोर्ट वाहन के ड्राइवर के साथ मैसुरु गए और एपीएमसी यार्ड में सब्जियों और फलों को पहले तो गाड़ी से निकालकर बाहर रखा और फिर उसे गाड़ी में भर दिया. घर आने से पहले वे आम तौर पर मैसुरु के आसपास घूमते थे. सूद ने कहा, ‘केवल इस बार उन्होंने शहर छोड़ने से पहले एक भयानक अपराध किया.’ पुलिस सूत्रों के अनुसार, शराब की बोतलों पर तमिलनाडु आबकारी विभाग (Tamil Nadu Excise Department) की सुरक्षा मुहर लगी थी, जिससे चोरों को पकड़ने में मदद मिली. इस पूरी जांच में मैसुरु, चामराजनगर, कोडागु, हसन और मांड्या के पुलिसकर्मी शामिल थे.

    पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपियों ने 24 अगस्त को मैसुरु में चामुंडा पहाड़ी के समीप कॉलेज की छात्रा और उसके पुरुष मित्र को भी रोका तथा उनसे लूटपाट की कोशिश की. जब वे इसमें कामयाब नहीं हुए, तो उन्होंने कथित तौर पर लड़के की पिटाई की और लड़की से दुष्कर्म किया. इस बीच अदालत ने आरोपियों को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

    Tags: Karnataka, Mysuru, Mysuru gangrape case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर