भारत में आतंकी हमलों की साजिश रचते थे पुणे से गिरफ्तार हुए ISIK से जुड़े दो संदिग्ध

NIA पुणे में पकड़े गए दो संदिग्धों कोे दिल्ली ले आई है
NIA पुणे में पकड़े गए दो संदिग्धों कोे दिल्ली ले आई है

जहानज़ैब सामी और अब्दुल्ला बसीठ के साथ आरोपी नबील खतरी भारत (India) में आईएसआईएस (ISIS) की गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए लॉजिस्टिक समर्थन की व्यवस्था करके भारत में हिंसक आतंकवादी हमलों को अंजाम देने की योजना में भी सक्रिय रूप से शामिल था.

  • Share this:
पुणे. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रोविंस (Islamic State - Khorasan Province) मॉड्यूल की गतिविधियों से संबंधित एक मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे (Pune) से गिरफ्तार दो लोगों को दिल्ली ले आई है. एनआईए ने जिन्हें गिरफ्तार किया है उन आरोपियों की पहचान नबील सिद्दीक खतरी और सादिया अनवर शेख के रूप में की गई है. एनआईए ने सोमवार को इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए बताया कि सादिया शेख पहले गिरफ्तार हो चुके कश्मीरी पति-पत्नी जहानज़ैब सामी और हिना बशीर बेग के अलावा तिहाड़ जेल में बंद अब्दुल्ला बसीठ के लगातार संपर्क में थी. वह इनके साथ सुरक्षित संदेश अनुप्रयोग और आईएसआईएस की विचारधारा के प्रसार और भारत में इसकी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के बारे में विचार-विमर्श करती थी.

ये बात भी सामने आई है कि जहानज़ैब सामी और अब्दुल्ला बसीठ के साथ आरोपी नबील खतरी भारत में आईएसआईएस की गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए लॉजिस्टिक समर्थन की व्यवस्था करके भारत में हिंसक आतंकवादी हमलों को अंजाम देने की योजना में भी सक्रिय रूप से शामिल था. यह भी पता चला है कि सदिया शेख 2015 से सोशल मीडिया के माध्यम से आईएसआईएस भर्ती करने वालों के संपर्क में थी. वह जम्मू-कश्मीर में एक आतंकवादी हमले को अंजाम देने की योजना बना रही थी और उसे 2018 में जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा हिरासत में भी लिया गया था.

ये भी पढ़ें :- अनुच्छेद 370 हटाए जाने की पहली सालगिरह पर आतंकी हमलों की साजिश रच रहा पाक



सादिया के खिलाफ जारी की गई थी चेतावनी
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि सादिया शेख के विरुद्ध 2018 में चेतावनी जारी की गई थी जिसमें उसे आतंकवादी संगठन के फिदायीन के तौर पर पहचाना गया था. आतंकी संगठनों द्वारा फिदायीन उन्हें कहा जाता है जो अपनी कुर्बानी दे देते हैं. हालांकि बाद में शेख को छोड़ दिया गया था और उसे परिवार को सौंप दिया गया था.

अधिकारी ने कहा, “2015 में आतंकवाद निरोधी दस्ते की पुणे इकाई द्वारा शेख की कट्टरपंथी मानसिकता को दूर करने का प्रयास किया गया था.” एक अन्य अधिकारी ने बताया कि एनआईए को इन दोनों के बारे में दो अन्य व्यक्तियों से सूचना मिली थी जिन्हें हाल ही में दिल्ली पुलिस ने जामिया नगर में गिरफ्तार किया था.

17 साजिशकर्ताओं के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल
इसके अलावा एनआईए ने सोमवार को 17 प्रमुख षड्यंत्रकारियों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया है. इन साजिशकर्ताओं की भारत में, विशेषकर कर्नाटक और तमिलनाडु में आईएसआईएस गतिविधियों को आगे बढ़ाने में भूमिका का खुलासा हुआ है और इन्होंने बेंगलुरु के आईएसआईएस आतंकवादियों महबूब पाशा और कुड्डालोर के खाजा मोइदीन द्वारा शुरू किए गए एक आतंकवादी समूह की स्थापना की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज