लाइव टीवी

भारत लाया जाएगा नाभा जेलब्रेक का मुख्य साजिशकर्ता रोमी, हांगकांग कोर्ट से मिली इजाजत

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 10:35 AM IST
भारत लाया जाएगा नाभा जेलब्रेक का मुख्य साजिशकर्ता रोमी, हांगकांग कोर्ट से मिली इजाजत
भारत लाया जाएगा नाभा जेलब्रेक का मुख्य साजिशकर्ता रोमी.

नाभा जेलब्रेक (Nabha Jailbreak) के प्रमुख साजिशकर्ता रमनजीत सिंह उर्फ रोमी के प्रत्यर्पण (Extradition) का प्रयास काफी समय से भारत (India) की ओर से किया जा रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 10:35 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार की विदेश नीति (Foreign Policy) और पंजाब पुलिस (Punjab Police) के प्रयासों के चलते हांगकांग (Hong Kong) की अदालत ने नाभा जेलब्रेक (Nabha Jailbreak) के प्रमुख साजिशकर्ता को भारत India सौंपने का फैसला किया है. नाभा जेलब्रेक के प्रमुख साजिशकर्ता रमनजीत सिंह उर्फ रोमी के प्रत्यर्पण का प्रयास काफी समय से भारत की ओर से किया जा रहा था.

बता दें कि आरोपी रमनजीत को जून 2016 में पंजाब पुलिस ने हथियारों और फर्जी क्रेडिट कार्ड के साथ गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी के बाद उसे नाभा जेल में रखा गया था, जहां उसकी दोस्ती कई और अपराधियों और आतंकवादियों के साथ हो गई. बाद में उसे अगस्त 2016 में जमानत मिल गई और वह हांगकांग भाग गया. जमानत पर रिहा होने के बाद बठिंडा के तलवंडी साबो में स्थित गांव बंगी रुल्दू के रहने वाले रोमी ने दो आतंकियों सहित छह कुख्यात आतंकियों को छुड़वाने की साजिश रच डाली.

इसे भी पढ़ें :- नाभा जेल ब्रेक कांड का मास्टरमाइंड तीन साथियों के साथ गिरफ्तार

 

Punjab, India, Nabha Jail, Hong Kong, Adalat, Punjab Police, Foreign Policy

बताया जाता है कि 27 नवंबर 2016 को कुछ बदमाशों ने जेल पर हमला कर दिया और अंधाधुंध गोलियां बरसाना शुरू कर दिया. इसके बाद हरजिंदर सिंह उर्फ विक्की गौंडर, नीटा देओल, गुरप्रीत सेखों, अमन धोतियां के अलावा दो आतंकी मिंटू और कश्मीर सिंह को छुड़ा लिया गया. बाद में पुलिस ने रोमी को हांगकांग से गिरफ्तार कर लिया गया. साल 2018 में भारत ने रोमी के प्रत्यर्पण की कोशिशें तेज कीं. भारत के जांच अधिकारियों की ओर से मजबूत केस तैयार किया गया और कई बार हांगकांग के न्याय विभाग का दौरा किया. उन्होंने रोमी की ओर से पंजाब पुलिस पर लगाए गए अत्याचार और यातनाओं के अरोपों का खंडन किया और इसके खिलाफ सबूत इकट्ठे कर कोर्ट के सामने पेश किए.

इसे भी पढ़ें :- नाभा जेल ब्रेक कांडः 52 दिन बाद इंदौर से पकड़ा गया गैंगस्टर नीटा देओल
Loading...

पंजाब पुलिस ने भारत सरकार और हांगकांग की सरकार के बीच 28 जून 1997 को हुई द्विपक्षीय प्रत्यर्पण संधि के आर्टिकल 10 के तहत रोमी की अस्थायी गिरफ्तारी के लिए आग्रह किया था. रोमी पर हत्या, डकैती, नशीले पदार्थों की तस्करी, हथियारों की सप्लाई का आरोप है.

इसे भी पढ़ें :- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...